february 2019
Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


दिल्ली सरकार ने कुल 60,000 करोड़ रुपये का बजट पेश किया

दिल्ली सरकार ने 26 फरवरी 2019 को वित्त वर्ष 2019-20 के लिए कुल 60,000 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है. यह बजट वर्ष 2014-15 में पेश किए गए पहले बजट का दोगुना है. केजरीवाल सरकार ने एक बार फिर बजट का विशेष हिस्सा शिक्षा को दिया है.

वर्ष 2019-20 के लिए शिक्षा को कुल बजट का 26 प्रतिशत आवंटित किया गया है. बजट पेश करते हुए दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि यह बजट पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को समर्पित किया गया है. सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा में बजट पेश करते हुए कहा, 2019-20 के लिए हमारी सरकार का कुल बजट 60,000 करोड़ रुपये का है जबकि वर्ष 2018-19 के लिए दिल्ली सरकार ने कुल 53,000 करोड़ रुपये का बजट पेश किया था.

दिल्ली बजट 2019-20 
•    मनीष सिसोदिया ने बजट पेश करते हुए कहा कि 10वीं कक्षा में 80 प्रतिशत अंक लाने वाले छात्रों को कंप्यूजटर टेबलेट दिया जाएगा. 
•    इसके साथ ही 40 हजार बच्चों को अंग्रेजी में बात करने की ट्रेनिंग दी जाएगी. इस बार शिक्षा का बजट 26 प्रतिशत रहेगा.
•    लगभग 3429 करोड़ रुपये समाज कल्याण के लिए आवंटित किये गये हैं.
•    अनाधिकृत कॉलोनियों के लिए 1600 करोड़ रुपये राशि रखी गई है जबकि 52 हजार नई आवासीय इकाईयां बनाई जायेंगी. 
•    अब प्रति निर्वाचन क्षेत्र के लिए सालाना 4 की जगह 10 करोड़ दिए जायेंगे.
•    दिल्ली में तीन हज़ार नई बसें चलाई जायेंगी जबकि बस टर्मिनलों पर 150 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे.
•    चौथे चरण की मेट्रो के लिए 500 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई है.
•    सरकार ने एडवोकेट वेलफेयर फंड में 50 करोड़ रुपये दिए हैं. इसके तहत कानूनी पेश से जुड़े जरूरतमंद लोगों और परिवार के सदस्यों को सामाजिक सुरक्षा का लाभ मिलेगा.
•    किसानों को स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के अनुसार उनके फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) का डेढ़ गुना दाम देने के लिए बजट में 100 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई है.

शिक्षा क्षेत्र हेतु घोषणाएं
•    उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने बजट भाषण में घोषणा की कि दिल्ली के इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में 13000 सीटें बढ़ाई जाएंगी. इसके लिए इस वर्ष 527 करोड़ रुपए आवंटित किए गये हैं.
•    एंटरप्रेन्योर करिकुलम के तहत 11वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों को 1,000 रुपये तथा तकनीकी शिक्षा के छात्रों को 5,000 रुपये दिए जायेंगे ताकि वे अपने बिज़नेस प्लान में इसे लगा सकें.
•    मौलाना आज़ाद मेडिकल डेंटल कॉलेज में सुविधाएं बढ़ाई जायेंगी.
•    सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को अंग्रेजी में बोलने का प्रशिक्षण दिया जायेगा. जबकि 10वीं में 80% से ज्यादा अंक लाने वाले छात्रों को टेबलेट दी जाएगी.
•    मौजूदा बजट में दिल्ली के पॉलिटेक्निक और इंजीनियरिंग कॉलेज में 13,000 सीटों को जोड़ा जाएगा, इसके लिए सरकार 527 करोड़ रुपये का आवंटन करेगी.

जलापूर्ति के लिए घोषणाएं
•    दिल्ली में भूजल में सुधार के लिए 100 करोड़ रुपये दिए गये हैं. साथ ही कहा गया है कि 100 वर्ग या इससे बड़े प्लाट पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग अनिवार्य होगा.
•    द्वारका में 50 एमजीडी का नया संयंत्र बनाया जायेगा जबकि 345 अनाधिकृत कॉलोनियों में सीवर सुविधा दी जाएगी.
•    यमुना जीर्णोद्धार के लिए 75 करोड़ का प्रावधान किया गया है. इसके अतिरिक्त 2370 करोड़ रुपये का बजट जल बोर्ड की योजनाओं के लिए रखा गया है.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


दिल्ली सरकार ने 11वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों को 1,000 रुपये दिए जायेंगे

दिल्ली सरकार के बजट भाषण 2019-20 में एंटरप्रेन्योर करिकुलम के तहत 11वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों को 1,000 रुपये तथा तकनीकी शिक्षा के छात्रों को 5,000 रुपये दिए जायेंगे ताकि वे अपने बिज़नेस प्लान में इसे लगा सकें.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने 1 लाख 32 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का बजट पेश किया

हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने 25 फरवरी 2019 को मनोहर लाल खट्टर सरकार का आखिरी बजट पेश किया. इस बार 1 लाख 32 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का बजट पेश किया गया है. खट्टर सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि की तर्ज पर किसान पेंशन योजना का ऐलान किया है. इसके लिए बजट में 1500 करोड़ रुपये आवंटित किया गया है.

कैप्टन अभिमन्यु ने कौटिल्य के अर्थशास्त्र के उदाहरण से अपना बजट अभिभाषण शुरू किया. उन्होंने कहा, 'प्रजा सुखे सुखं राजः प्रजानां च हिते हितम्. नात्मप्रियं प्रियं राजः प्रजानां तु प्रियं प्रियम्. अर्थात प्रजा के सुख में सरकार का सुख है, प्रजा के हित में सरकार का हित है, प्रजा को जो प्रिय है, वही सरकार को प्रिय है.'

हरियाणा बजट की प्रमुख घोषणाएं
•    वित्त मंत्री ने 1,32,165.99 करोड़ रुपये का बजट पेश किया. इसमें कृषि विभाग के लिए 3834.33 करोड़ रुपये का प्रस्ताव किया गया है.

•    कृषि क्षेत्र के लिए 2210.51 करोड़ रुपये, पशुपालन के लिए 1026.68 करोड़ रुपये, बागवानी के लिए 523.88 करोड़ रुपये और मत्स्य पालन के लिए 73.26 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया.

•    सहकारिता के लिए 1396.21 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया. वर्ष 2020-21 तक 750 करोड़ की कुल लागत से शाहबाद चीनी मिल में 60 केएलपीडी का एथनोल प्लांट लगाने का प्रावधान है.

•    बजट में पीएम किसान सम्मान निधि की तरह किसान पेंशन और अन्य योजनाओं के लिए 1500 करोड़ रुपये का प्रस्ताव किया गया है. इससे 15 हजार मासिक से कम आय वाले और पांच एकड़ तक की भूमि के किसान परिवारों को लाभ होगा.

•    हरियाणा बजट में राजस्व घाटा 12 हजार 22 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है, जिसे सरकार अगले पांच साल में शून्य पर लाने का लक्ष्य लेकर चल रही है.

•    सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग के बजट में 64% बढ़ोतरी करते हुए इसके लिए 211 करोड़ 30 लाख रुपये का बजट आवंटित हुआ है. पिछले साल इस विभाग को 128 करोड़ 81 लाख रुपये का बजट मिला था.

खेल एवं शिक्षा हेतु घोषणाएं
•    खेल और युवा मामले में 401.17 करोड़ रुपये की राशि आवंटित करने का प्रस्ताव रखा गया है. 

•    शिक्षा में मौलिक और माध्यमिक शिक्षा के लिए 12,307.46 करोड़ रुपये के प्रावधान का प्रस्ताव किया गया. 

•    उच्च शिक्षा के लिए 2,076.68 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. 

•    तकनीकी शिक्षा के लिए 512.72 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है.

स्वास्थ्य एवं रोज़गार हेतु घोषणाएं
•    स्वास्थ्य विभाग के लिए 5,040.65 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के लिए 3,126.54 करोड़ रुपये, चिकित्सा शिक्षा व अनुसंधान के लिए 1,358.75 करोड़ रुपये, आयुष के लिए 337.2 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया.

•    भिवानी, महेंद्रगढ़ और जींद में मेडिकल कॉलेज के निर्माण के लिए बजट मंजूर किया गया.

•    गुरुग्राम नगर निगम और श्रीमाता शीतला देवी पूजा स्थल बोर्ड मिलकर चौथा मेडिकल कॉलेज बनाएंगे.

•    करनाल के कुटैल में दीनदयाल उपाध्यक्ष मेडिकल यूनिवर्सिटी, 500 बेड के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल व 50 बेड के ट्रामा सेंटर के लिए भी बजट में घोषणा की गई.

•    रोज़गार के लिए 365.20 करोड़ रुपये का प्रस्ताव है. श्रम के लिए 58.57 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया.

•    बिजली विभाग के लिए 12,988.61 करोड़ रुपये का आवंटन, नव और नवीकरणीय ऊर्जा विभाग के लिए 475.91 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


हरियाणा सरकार ने सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग के बजट में 64% बढ़ोतरी

हरियाणा सरकार के 2019-20 के बजट भाषण में सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग के बजट में 64% बढ़ोतरी करते हुए इसके लिए 211 करोड़ 30 लाख रुपये का बजट आवंटित हुआ है. पिछले साल इस विभाग को 128 करोड़ 81 लाख रुपये का बजट मिला था.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


श्री राम नाथ कोविन्‍द ने 2015, 2016, 2017 और 2018 के लिए गांधी शांति पुरस्‍कार प्रदान किये

राष्‍ट्रपति श्री राम नाथ कोविन्‍द ने आज राष्‍ट्रपति भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में वर्ष 2015, 2016, 2017 और 2018 के लिए गांधी शांति पुरस्‍कार प्रदान किये। इस अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी और अन्‍य गणमान्‍य व्‍यक्ति उपस्थित थे। पुरस्कार में एक करोड़ रुपये का नकद पुरस्कार, एक पुस्तक में एक प्रशस्ति पत्र, एक पट्टिका और एक पारंपरिक हस्तकला वस्तु शामिल हैं

इस अवसर पर पुरस्कार के प्राप्तकर्ता:
1. 2015 के लिए: विवेकानंद केंद्र, कन्याकुमारी को ग्रामीण विकास, शिक्षा और प्राकृतिक संसाधनों के विकास में अपने योगदान के लिए पुरस्कार दिया गया.

2. For 2016: 2016 के लिए: अक्षय पात्र फाउंडेशन पूरे भारत के लाखों बच्चों को मध्याह्न भोजन प्रदान करने में अपने योगदान के लिए और सुलभ इंटरनेशनल भारत में स्वच्छता की स्थिति में सुधार और मैनुअल मैला ढोने वालों से मुक्ति के लिए अपने योगदान के लिए संयुक्त रूप से पुरस्कार दिया गया

3. 2017 के लिए: सुदूर क्षेत्रों में ग्रामीण और जनजातीय बच्चों के लिए शिक्षा प्रदान करने में अपने योगदान के लिए एकल अभियान ट्रस्ट भारत, ग्रामीण सशक्तिकरण, लिंग और सामाजिक समानता।

4. 2018 के लिए: भारत और दुनिया भर में कुष्ठ रोग उन्मूलन में उनके योगदान के लिए जापान की योहेई सासाकावा.

1995 में महात्मा गांधी की 125 वीं जयंती के अवसर पर स्थापित ,यह वार्षिक पुरस्कार व्यक्तियों और संस्थानों को अहिंसा और अन्य गांधीवादी तरीकों के माध्यम से सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक परिवर्तन के लिए उनके योगदान के लिए दिया जाता है.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


कल्याण मंत्री जे.पी. नड्डा ने चौथे वैश्विक डिजिटल स्वास्थ्य सोझेदारी सम्मेलन का उद्घाटन किया

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री जे.पी. नड्डा ने 25 फरवरी 2019 को नई दिल्ली में चौथे वैश्विक डिजिटल स्वास्थ्य सोझेदारी सम्मेलन का उद्घाटन किया.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


केन्द्रीय आवास व शहरी मामले मंत्रालय ने 5,60,695 घरों के निर्माण को मंज़ूरी दी

केन्द्रीय आवास व शहरी मामले मंत्रालय ने प्रधानमंत्री  आवास योजना (शहरी) के तहत शहरी निर्धन लोगों के लिए 5,60,695 घरों के निर्माण को मंज़ूरी दी. इसके साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत मंज़ूर किये गये आवासों की कुल संख्या 79,04,674 पहुँच गयी है.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


केन्द्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने भोपाल और असम के जोरहाट में राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान का उद्घाटन किया

केन्द्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने 22 फरवरी 2019 को नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मध्य प्रदेश के भोपाल और असम के जोरहाट में राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान (एनआईडी) का उद्घाटन किया. दोनों संस्थान वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के उद्योग संवर्धन एवं आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) के अंतर्गत स्वा यत्तर संस्थान हैं.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने ‘तितानवाला म्यूजियम‘ का उद्घाटन किया

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने 26 फरवरी 2019 को बगरू में हैंडब्लॉक प्रिंटिंग के ‘तितानवाला म्यूजियम‘ का उद्घाटन किया. उद्घाटन करने के बाद उन्होंने म्यूजियम की विभिन्न गैलरियों का भी अवलोकन किया. 

तितानवाला म्यूजियम में बड़ी संख्या में पारम्परिक वुडन ब्लॉक, कपड़ों की रंगाई व छपाई के काम आने वाले बर्तन व सहायक उपकरण तथा छीपा समुदाय के इतिहास को दर्शाने वाले पुराने फोटोग्राफ प्रदर्शित किए गये हैं.

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ‘तितानवाला म्यूजियम’ ने यह साबित कर दिया है कि कला व संस्कृति को आगे बढ़ाने अथवा संरक्षित करने के लिए सरकार पर निर्भर होने की आवश्यकता नहीं है. उन्होंने कहा कि यह म्यूजियम बगरू को पूरे विश्व में पहचान दिलाएगा. उन्होंने कहा कि ब्लॉक प्रिंटिंग की विरासत सूरज नारायण तितानवाला जैसे संग्रहकों की पहल के कारण ही संरक्षित है, जो स्वयं छीपा समुदाय से हैं.

बगरू की ब्लॉक प्रिंटिंग कैसे होती है?
•    बगरू नामक स्थान की ब्लॉक प्रिंटिंग प्राकृतिक रंग के साथ ब्लॉक प्रिटिंग पारंपरिक तकनीकों में से एक है, जिसका श्रेय राजस्थान के छीपा समुदाय को जाता है.
•    बगरू की हाथ से की जाने वाली इस ब्लॉक प्रिंटिंग का इतिहास 1,000 वर्षों से भी पुराना है.
•    इस तकनीक में पहले कपड़े को मुल्तानी मिट्टी में धोया जाता है फिर इसे हल्दी मिले पानी में डुबोया जाता है ताकि यह पीली आभा हासिल कर सके.
•    इसके बाद डाई किये गये इन कपड़ों पर विभिन्न प्रकार के ब्लॉक्स से छपाई की जाती है. यह सारा काम हाथ से किया जाता है.
•    सागौन-लकड़ी से बनाये गये लकड़ी के ब्लॉक का उपयोग डिजाइन को प्रिंट करने के लिए किया जाता है. 
•    इन ब्लॉक्स को उपयोग से पहले रात भर तेल में भिगोया जाता है और फिर उपयोग में लाने से पहले धोया जाता है.
•    जिस कपड़े पर प्रिंटिंग की जाती है उसे चिकनी मिट्टी में भिगोकर तथा कुछ अन्य केमिकल लगाकर नरम किया जाता है.
•    कपड़े पर बेहद ध्यान से साफ़-सुथरे तरीके से ब्लॉक प्रिटिंग की जाती है. प्रिटिंग हो जाने के बाद कपड़े को धूप में सूखने के लिए रख दिया जाता है.

छीपा समाज के बारे में जानकारी
छीपा समाज के लोग भारत के पुरातन बुनकर समाज के लोग हैं. छीपा शब्द नेपाली भाषा के दो शब्दों “छी’ अर्थात् डाई करना एवं “पा” अर्थात् धूप में सुखाना से मिलकर बना है. इस समुदाय के लोग राजस्थान में काफी लंबे समय से ब्लॉक प्रिंटिंग करते हैं. इनके ब्लॉक्स पर मिलने वाली बारीक कारीगरी के कारण यह छपाई काफी प्रसिद्ध है.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व की सबसे बड़ी भगवद गीता का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 26 फरवरी 2019 को दिल्ली के ईस्ट ऑफ़ कैलाश स्थित इस्कॉन मंदिर में विश्व की सबसे बड़ी भगवद गीता का उद्घाटन किया. यहां उन्होंने विश्व की सबसे बड़ी श्रीमद्भागवत गीता का विमोचन किया. 

इस अवसर पर उन्होंने 800 किलो की 670 पृष्ठों वाली विशाल गीता का विमोचन किया तथा लोगों को संबोधित भी किया. सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि मानवता के दुश्मनों से धरती को बचाने के लिए प्रभू की शक्ति हमेशा हमारे साथ रहती है. यही संदेश हम पूरी प्रमाणिकता के साथ दुष्ट आत्माओं, असुरों को देने का प्रयास कर रहे हैं.

सबसे बड़ी भगवद गीता की विशेषताएं
•    इस्कॉन संस्था द्वारा तैयार की गई विश्व की सबसे बड़ी गीता इटली के मिलान शहर में बनाई गई है. 
•    इस महाग्रंथ का वजन 800 किलोग्राम है और इसे बनाने में डेढ़ करोड़ रुपये की लागत आई है.
•    करीब ढाई साल में इसकी छपाई हुई है, इसका कुल वजन 800 किलोग्राम है तथा इसमें 670 पृष्ठ हैं.
•    इस्कॉन के संस्थापक स्वामी प्रभुपाद की ओर से गीता प्रचार के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में यह प्रकाशित कराई गई है. संस्था से जुड़े वेदांत बुक ट्रस्ट ने इसकी छपाई की है.
•    इस गीता में 670 पृष्ठ हैं, जिनका साइज़ 2.84 गुणा 2.0 मीटर है. प्रत्येक पृष्ठ को पलटने के लिए तीन से चार व्यक्तियों की जरूरत पड़ती है.
•    यह सिंथेटिक के मजबूत कागज से तैयार की गई हैं. माना जा रहा है कि इन पर कई प्रकार की धातु लगाई गई हैं, जिनमें प्लेटिनम, सोना और चांदी मुख्य हैं. 
•    इसके कवर पृष्ठ को स्वर्णिम धातु से तैयार किया गया है.

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोकमान्य तिलक ने जेल में रहकर भी गीता लिखी थी. तिलक ने लिखा था कि इसके संदेश का प्रभाव सिर्फ दार्शनिक या विद्वान लोगों के लिए ही नहीं बल्कि आम लोगों के लिए भी है. प्रधानमंत्री ने कहा कि गीता की एक प्रति मैंने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को भी दी थी.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


हुरुन ग्लोबल रिच लिस्ट में मुकेश अम्बानी को शामिल किया

हुरुन ग्लोबल रिच लिस्ट में हाल ही में मुकेश अम्बानी को शामिल किया गया है. मुकेश अंबानी हुरून की सूची में शामिल होने वाले पहले भारतीय हैं.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


भारत ने ज़मीन से हवा में मार करने वाली क्विक रिएक्शन मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया

भारत ने 26 फरवरी 2019 को ज़मीन से हवा में मार करने वाली क्विक रिएक्शन मिसाइल (QRSAM) का ओडिशा के तट से सफलतापूर्वक परीक्षण किया है. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने सेना के लिए विकसित की जा रही इन दो मिसाइलों का परीक्षण किया है.

इस मिसाइल का निर्माण डीआरडीओ ने भारत इलेक्ट्रो्निक लिमिटेड और भारत डायनामिक लिमिटेड के साथ मिलकर भारतीय सेना के लिए किया है. इस मिसाइल को भारतीय रक्षा पंक्ति में बेहद अहम और ख़ास माना जा रहा है.

क्विक रिएक्शन मिसाइल की विशेषताएं
•    हर मौसम में काम करने वाली इस स्वदेशी मिसाइल की रेंज 25 से 30 किलोमीटर है, जो तुरंत टारगेट को ध्वस्त  कर सकती है. 
•    परीक्षण को पूरी तरह से सफल बताते हुए डीआरडीओ के एक अधिकारी ने कहा कि परीक्षण के दौरान मिशन के उद्देश्यों को पूरा किया गया. 
•    अलग-अलग ऊंचाइयों और स्थितियों से दो मिसाइलों का परीक्षण किया गया.
•    दो मिसाइलों का परीक्षण भिन्न परिस्थितियों में किया गया औऱ दोनों कामयाब रहे. इस दौरान मिसाइल की ऐरोडायनामिक्स, प्रोपल्सन, ढांचागत प्रदर्शन और उच्च मैनुवर क्षमता को परखा गया.
•    परीक्षण के दौरान मिसाइल के रेडार, इलेक्ट्रोआप्टिकल सिस्टम्स, टेलीमीट्री, आदि के परीक्षण पैमाने सटीक आंके गये.
•    इस मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद भारतीय सेना जमीन से ही किसी भी संदिग्ध एयरक्राफ्ट, हेलीकॉप्टर, एंटी-शिप मिसाइल, यूएवी, बैलेस्टिक मिसाइल, क्रूज मिसाइल और कॉम्बैट जेट को हवा में ही नेस्तानाबूत कर सकती है.
•    इससे पहले डीआरडीओ ने लंबी दूरी की जमीन से हवा में मार करने वाली बराक-8 मिसाइल का सफल परीक्षण किया था. 
•    बराक-8 मिसाइल को नेवल शिप से लॉन्च किया जा सकता है. यह परीक्षण भी ओडिशा के तटवर्ती इलाकों में किया गया था.

 QRSAM क्या है?
QRSAM अथवा क्विक रिएक्शन मिसाइल डीआरडीओ तथा भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड एवं भारत डायनामिक्स द्वारा भारतीय सेना के लिए बनाई गई है. इस मिसाइल का पहला परीक्षण 4 जून 2017 को किया गया था और दूसरा सफल परीक्षण 3 जुलाई 2017 को किया गया था. जमीन से हवा में मार कर सकने के कारण यह भारतीय थल सेना के लिए एक अहम रक्षा उपकरण है.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


अफगानिस्तान ने ईरान के चाबहार बंदरगाह से भारत को सामान निर्यात करना शुरू किया

अफगानिस्तान ने ईरान के चाबहार बंदरगाह से भारत को सामान निर्यात करना शुरू कर दिया है. काबुल से मेवा, टैक्सटाइल्स, कार्पेट और खनिज मिनरल प्रॉडक्ट्स 23 ट्रकों में भरकर चाबहार पोर्ट के लिए रवाना किया. यह खेप वहां से जहाज के जरिये मुंबई पहुंचेगी.

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने निर्यात के लिए नये मार्ग की शुरुआत करते हुए कहा कि व्यापार घाटे को कम करने के लिए धीरे-धीरे निर्यात में सुधार किया जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘चाबहार पोर्ट भारत, ईरान और अफगानिस्तान के बीच स्वस्थ सहयोग का परिणाम है और यह आर्थिक वृद्धि सुनिश्चत करेगा.’

अफगानिस्तान का चाबाहार से निर्यात
•    इस खेप में 570 टन ड्राई फ्रूट्स, टैक्सटाइल्स, कार्पेट और मिनरल उत्पाद शामिल हैं जो जहाज के ज़रिये मुंबई पहुँचेगी. 

•    अफगानिस्तान द्वारा चाबहार से किया गया निर्यात इसलिये भी महत्त्वपूर्ण है क्योंकि इससे भारत, ईरान तथा अफगानिस्तान के बीच अंतर्राष्ट्रीय परिवहन एवं पारगमन समझौता पूरी तरह से क्रियान्वित हो गया है.

•    मई 2016 में इस समझौते पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने तेहरान में हस्ताक्षर किये थे.

•    इससे पूर्व भारत ने भी चाबहार पोर्ट के ज़रिये अफगानिस्तान को 1.1 मिलियन टन गेहूँ और 2000 टन मसूर की दाल निर्यात किया था.

•    दक्षिण एशिया में चीन और पाकिस्तान के रिश्तों के साथ-साथ भारत के लिए अफगानिस्तान और ईरान के साथ बनाये गये संबंध बेहद महत्वपूर्ण हैं.

•    इस रास्ते के जरिए अफगानिस्तान और भारत के बीच से पाकिस्तान की बाधा दूर हुई है.

•    ईरान का चाबहार बंदरगाह अफगानिस्तान को आसानी से समुद्र तक पहुंच देता है और भारत ने इस रूट को विकसित करने में मदद की है, जो कि दोनों देशों को पाकिस्तान को बाइपास करते हुए व्यापार की सुविधा देता है.

भारत के लिए चाबहार का महत्त्व
•   भारत और ईरान दोनों ही देशों के लिए चाबहार परियोजना का बहुत महत्व है. यह ओमान सागर में अवस्थित यह बंदरगाह प्रांत की राजधानी जाहेदान से 645 किलोमीटर दूर है और मध्य एशिया व अफगानिस्तान को सिस्तान-बलूचिस्तान से जोड़ने वाला एक मात्र बंदरगाह है.

•   चाबहार भारत के लिये अफगानिस्तान और मध्य एशिया के द्वार खोल सकता है. यह बंदरगाह एशिया, अफ्रीका और यूरोप को जोड़ने के लिहाज से सर्वश्रेष्ठ जगह है. भारत वर्ष 2003 से इस बंदरगाह के विकास में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाने के प्रति अपनी रुचि दिखा रहा है.

•   चाबहार गहरे पानी में स्थित बंदरगाह है और यह ज़मीन के साथ मुख्य भू-भाग से भी जुड़ा हुआ है, जहाँ सामान उतारने-चढ़ाने का कोई शुल्क नहीं लगता. चाबहार बंदरगाह के जरिये अफगानिस्तान को भारत से व्यापार करने के लिये एक और रास्ता मिल जाएगा. विदित हो कि अभी तक पाकिस्तान के रास्ते भारत-अफगानिस्तान के बीच व्यापार होता है.

चाबहार के बारे में

चाबहार ईरान में सिस्तान और बलूचिस्तान प्रांत का एक शहर है. यह एक मुक्त बन्दरगाह है और ओमान की खाड़ी के किनारे स्थित है. यह ईरान का सबसे दक्षिणी शहर है. इस नगर के अधिकांश लोग बलूच हैं और बलूची भाषा बोलते हैं. यहाँ मौसम सामान्य रहता है और हिंद महासागर से गुजरने वाले समुद्री रास्तों तक भी यहाँ से पहुँच बहुत आसान है

भारत ने मई 2015 में चाबहार बंदरगाह के विकास के लिए द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. यह बंदरगाह ईरान के लिए रणनीति की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है. इसके माध्यम से भारत के लिए समुद्री सड़क मार्ग से अफगानिस्तान पहुँचने का मार्ग प्रशस्त हो जायेगा और इस स्थान तक पहुँचने के लिए पाकिस्तान के रास्ते की आवश्यकता नहीं होगी.
मौसम का पूर्वानुमान बताने वाली देश की एकमात्र निजी एजेंसी स्काईमेट ने 2019 में किस देश में सामान्य मानसून रहने का अनुमान जताया है?
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


अफगानिस्तान ने पाकिस्तानी सेना के अतिक्रमण को लेकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में शिकायत की

अफगानिस्तान ने अपनी धरती पर पाकिस्तानी सेना के अतिक्रमण को लेकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में शिकायत की है. अफगानिस्तान के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना उसके क्षेत्र में गोलीबारी करने के साथ-साथ उसके हवाई क्षेत्र का भी उल्लंघन कर रही है.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


उद्योगपति गौतम अदाणी के अदाणी समूह ने गुवाहाटी एयरपोर्ट ऑपरेट करने की बोली जीती

उद्योगपति गौतम अदाणी के अदाणी समूह ने निजीकरण के लिए रखे गए सभी 6 हवाईअड्डों के अगले 50 वर्षों तक परिचालन को लेकर बोलियां जीत ली हैं. अदाणी समूह ने 26 फरवरी 2019 को गुवाहाटी एयरपोर्ट को संचालित करने के लिए बोली जीती जबकि 25 फरवरी 2019 को उसने अहमदाबाद, जयपुर, लखनऊ, तिरुवनंतपुरम और मंगलुरु एयरपोर्ट को संचालित करने के लिए बोली जीती थी.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


भारतीय रिजर्व बैंक ने इलाहाबाद बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक और धनलक्ष्मी बैंक को प्रॉम्प्ट करेक्टिव एक्शन से हटाया

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इलाहाबाद बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक और धनलक्ष्मी बैंक को प्रॉम्प्ट करेक्टिव एक्शन (PCA) ढांचे से हटा दिया है, जिससे उन्हें अपनी सामान्य उधार गतिविधियों को फिर से शुरू करने की अनुमति मिल गई है.

वित्तीय पर्यवेक्षण बोर्ड (BFS) ने पीसीए के तहत बैंकों के प्रदर्शन की समीक्षा करने के लिए बैठक की और नोट किया कि सरकार ने वर्तमान में पीसीए ढांचे के तहत कुछ बैंकों सहित विभिन्न बैंकों में नई पूंजी का उल्लंघन किया है.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


स्काईमेट ने 2019 में भारत में सामान्य मानसून रहने का अनुमान जताया

मौसम का पूर्वानुमान बताने वाली देश की एकमात्र निजी एजेंसी स्काईमेट ने 2019 में भारत में सामान्य मानसून रहने का अनुमान जताया है. स्काईमेट के सीईओ जतिन सिंह ने कहा कि सामान्य से अधिक बारिश की संभावना बहुत कम है. गौरतलब है कि भारत में साल की 70% बरसात मानसून के दौरान ही होती है.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट, चकोठी और मुजफ्फराबाद में एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया

भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी 2019 को पाकिस्तान के बालाकोट, चकोठी और मुजफ्फराबाद में एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया जिसमें 200 से 300 आतंकवादियों के मारे जाने की खबर है.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


श्रीलंका के पूर्व कप्तान सनथ जयसूर्या पर 2 साल का प्रतिबंध

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने श्रीलंका के पूर्व कप्तान सनथ जयसूर्या पर 2 साल का प्रतिबंध लगा दिया है. सनथ जयसूर्या पर मैच फिक्सिंग से जुड़ी जांच में आईसीसी की एंटी करप्शन यूनिट (एसीयू) को सहयोग ना करने का आरोप है. प्रतिबंध लगने के बाद अब जयसूर्या दो साल तक क्रिकेट से जुड़ी किसी भी गतिविधि का हिस्सा नहीं बन पाएंगे.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 3 months ago.


भारत ने जम्‍मू एवं कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद बड़ी कार्रवाई

भारत ने जम्‍मू एवं कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद बड़ी कार्रवाई की है. भारतीय वायुसेना (IAF) ने नियंत्रण रेखा (LoC) के पार जाकर दूसरा सर्जिकल स्‍ट्राइक करते हुए आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के ठिकाने ध्‍वस्‍त कर दिए हैं, जिसने पुलवामा हमले की जिम्‍मेदारी ली है.

जम्‍मू एवं कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकियों ने 14 फरवरी 2019 को हमला कर दिया था, जिसमें 44 जवान शहीद हो गए थे. भारत ने साफ कर दिया था कि वह चुप नहीं बैठेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि इस बार 'हिसाब बराबर' होगा.

मुख्य बिंदु:
•   IAF सूत्रों के अनुसार, भारत ने एलओसी के पार आतंकियों के ठिकानों पर करीब 1000 किलोग्राम बम बरसाए, जिसमें आतंकी मसूद अजहर की अगुवाई वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के कई ठिकाने ध्‍वस्‍त हो गए.

•   बताया जाता है कि एक साथ 12 मिराज-2000 इंडियन फाइटर जेट के जरिये एलओसी पार आतंकियों के ठिकानों पर निशाना बनाया गया.

•   मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भारत ने बालाकोट, मुजफ्फराबाद और चकोटी के रास्‍ते ये हमले किए.

•   रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक की सूचना के मुताबिक दो से तीन सौ आतंकियों के मारे जाने की सूचना है.

•   पाकिस्‍तानी सेना के प्रवक्‍ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्विट किया है कि 'भारतीय वायु सेना के विमानों ने नियंत्रण रेखा का उल्लंघन करते हुए मुजफ्फराबाद सेक्‍टर में घुस आए.

•   समाचार एजेंसी एएनआई ने भारतीय वायु सेना के सूत्रों के अनुसार खबर दी है कि भारत ने 26 फरवरी को सुबह साढ़े तीन बजे हमला किया.

•   पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना पर एयर स्पेस के उल्लंघन का आरोप लगाया है.

•   हमले के बाद विमान भारतीय सीमा में सुरक्षित लौट आए. बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने अपने सुरक्षाबलों को कार्रवाई के लिए खुली छूट दे दी थी.

विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉंन्फ्रेंस की:

भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान पर बहुत बड़ी कार्रवाई की है. भारतीय वायुसेना के 12 मिराज विमानों ने जैश के ठिकानों को तबाह किया है. इस कार्रवाई को लेकर विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉंन्फ्रेंस की जिसमें विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि 14 फरवरी को पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद ने हमला किया जिसमें हमारे 44 जवान शहीद हो गये. 20 साल से पाकिस्तान में जैश सक्रिय है. जैश के कैंप पर भारत ने कार्रवाई की. विश्वसनीय सूचना मिली थी कि जैश-ए-मोहम्मद देश के दूसरे हिस्सों में आत्मघाती हमले की तैयारी कर रहा था और इसके लिए फ़िदायीन जिहादियों को प्रशिक्षण दिए जा रहे थे.

इस अभियान में जैश के चरमपंथियों, प्रशिक्षकों, वरिष्ठ कमांडरों और वहाँ प्रशिक्षण ले रहे जिहादियों को ख़त्म कर दिया गया. बालाकोट के इस कैंप का मुखिया मौलाना यूसुफ़ अज़हर उर्फ़ उस्ताद ग़ौरी था जो कि जैश प्रमुख मसूद अज़हर का संबंधी है. इस संगठन ने कई हमलों को अंजाम दिया है, जिसमें भारतीय संसद, पठानकोट का हमला शामिल है.

मिराज जेट के अलावा सुखोई से भी हुआ हमला:
सूत्रों ने बताया कि मिराज जेट के अलावा भारतीय वायु सेना के सुखोई जेट का भी हवाई हमले में इस्तेमाल किया गया था.

पाकिस्तान ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग:
पाकिस्तान विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी इस्लामाबाद में इमरजेंसी मीटिंग बुलाई. यह मीटिंग सुरक्षा को लेकर होगी.

पीएम मोदी ने भी बुलाई इमरजेंसी मीटिंग:
पीएम मोदी ने सुरक्षा मामलों की समिति (CCS) की इमरजेंसी मीटिंग की. इस मीटिंग में वित्त मंत्री अरुण जेटली, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शामिल थे.

मिराज 2000 विमान की खासियत:
मिराज विमान एक   फ्रांसिसी लड़ाकू विमान हैं. इसे दसॉ नामक विमान कंपनी ने बनाया है. इसी कंपनी   ने राफेल ‍विमान भी बनाएं हैं. डसॉल्ट मिराज 2000 हवा से सतह पर मिसाइल और हथियार से   हमला करने के साथ-साथ लेजर गाइडेड बम (LGB) दागने में भी   सक्षम है.

डसॉल्ट मिराज 2000 लड़ाकू विमान 29 जून 1985 में भारतीय वायुसेना की नंबर- 7 स्क्वाड्रन में औपचारिक रूप से शामिल किया गया था. मिराज 2000 लड़ाकू विमान 1999 के कारगिल   युद्ध में भी दुश्मनों के दांत खट्टे कर चुका है.

मिराज द्वारा दागे गए   लेजर गाइडेड बम ने दुश्मन के अहम बंकरों को ध्वस्त कर दिया था. मिराज 2000 में हथियारों को ले जाने के लिए नौ हार्डपॉइंट दिए गए हैं.   जिसमें पांच प्लेन के नीचे और दो दोनों तरफ के पंखों पर दिया गया है. सिंगल-सीट   संस्करण भी दो आंतरिक हैवी फायरिंग करने वाली 30 मिमी बंदूखों   से लैस है. कारगिल युद्ध के बाद मिराज विमानों का अपग्रेडेशन भी किया गया.

पाकिस्तान के हमले को लेकर हाई अलर्ट जारी:
भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान वायु सेना द्वारा किसी भी संभावित कार्रवाई का जवाब देने के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा और एलओसी के साथ-साथ सभी वायु रक्षा प्रणालियों को हाई अलर्ट किया है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक दिल्ली के समीप हिंडन एयरबेस को भी अलर्ट कर दिया गया है.

भारत और पाकिस्‍तान के बीच तनाव:
पुलवामा आतंकी हमले के बाद से भारत और पाकिस्‍तान के बीच तनाव बढ़ गया है. पुलवामा का बदला लेने के लिए भारतीय वायु सेना ने एयर स्‍ट्राइक को अंजाम दिया है. बताया जा रहा है कि भारतीय वायु सेना ने पाकिस्‍तान में आतंकियों पर सबसे बड़ा आतंकी हमला किया है. वायुसेना ने चार से पांच जैश के लॉन्‍चिंग पैड तबाह कर दिए हैं.

उरी के बाद दूसरा सर्जिकल स्ट्राइक:
बता दें कि 18 सितंबर 2016 को उरी में सेना कैंप पर हमले के 11 दिनों बाद भारतीय सेना ने पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक किया था. भारतीय सेना की इस कार्रवाई में आतंकियों के करीब सात लॉन्च पैड्स तबाह किए गए.

1971 की जंग के बाद पहली बार भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तानी वायुसीमा में किया प्रवेश:

26 फरवरी 2019 को एलओसी के पार की गई एयर स्ट्राइक में 1971 की भारत-पाकिस्तान जंग के बाद पहला मौका रहा जब भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान की वायुसीमा में प्रवेश किया हो. वर्ष 1999 के करगिल संघर्ष के दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने वायुसेना के इस्तेमाल को एलओसी के भारतीय हिस्से तक सीमित रखने का फैसला किया था.
All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments