30 May, 2019

स्कॉट मौरिसन ने ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली

स्कॉट मौरिसन ने बुधवार को ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। उनके साथ अन्य मंत्रियों ने भी शपथ ली है। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने रविवार को घोषणा की कि 22 सदस्यीय उनके नये मंत्रिमंडल में रिकॉर्ड सात महिलाएं होंगी। महारानी एलिजाबेथ के अधिकारिक प्रतिनिधि गवर्नर जनरल सर पीटर कॉस्ग्रोव ने मॉरिसन को शपथ दिलाई।प्रधानमंत्री मॉरिसन के नेतृत्व वाले सत्तारूढ़ कंजरवेटिव गठबंधन ने एक्जिट पोल के नतीजों को नकारते हुए विपक्षी लेबर पार्टी को करारी शिकस्त दी, जिसके कारण इसके नेता बिल शॉर्टन को इस्तीफा देना पड़ा।

The Hindu

केन्या के नैरोबी में प्रथम यू.एन. हैबिटैट सत्र का आयोजन किया

संयुक्त राष्ट्र मानव बस्ती कार्यक्रम (यू.एन. हैबिटैट) के पहले सत्र का आरम्भ 27 मई, 2019 को केन्या के नैरोबी में यू.एन. हैबिटैट के मुख्यालय में हुआ। इसमें भारत को कार्यकारी बोर्ड के लिए चुना गया है। 2019 की सभा के लिए थीम “शहरों व समुदायों में बेहतर जीवन के लिए नवोन्मेष” रखी गयी है। इस प्रथम सभा का आयोजन पांच दिन तक किया जायेगा। इस सभा में चार राष्ट्राध्यक्ष, 40 से अधिक मंत्री, 116 देशों से उच्च स्तरीय प्रतिनिधि तथा 3000 डेलिगेट हिस्सा ले रहे हैं। यह मानव बस्तियों तथा सतत शहरी विकास के लिए संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी है, इसकी स्थापना 1978 में की गयी थी। इसका मुख्यालय केन्या के नैरोबी में स्थित है। इसका उद्देश्य सामाजिक व पर्यावरणीय रूप से सतत शहरों व कस्बों को बढ़ावा देना है तथा सभी के लिए आश्रय सुनिश्चित करना है। यू.एन. हैबिटैट “हैबिटैट एजेंडा” के अनुकूल अपना कार्य करता है। यू.एन. हैबिटैट अपनी रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र महासभा को सौंपता है। यह संयुक्त राष्ट्र विकास समूह (UNDG) का सदस्य भी है।

The Hindu

रूस ने परमाणु आइसब्रेकर “उराल” लांच किया

रूस ने हाल ही में प्रोजेक्ट 22220 LK-60Ya श्रेणी का परमाणु आइसब्रेकर “उराल” लांच किया गया, इस आइसब्रेकर को सैंट पीटर्सबर्ग में बाल्टिक शिपयार्ड में लांच किया गया।  ये आइसब्रेकर उत्तरी समुद्री मार्ग में रूस के लिए कमर्शियल ऑपरट्यूनिटी खोलेगा। 'यूराल' तीन जहाजों में से एक है जो पूरा होने पर दुनिया में सबसे बड़ा आइसब्रेकर होगा। यह आर्टिक में बर्फ की मोटी चादर तोड़ने में सक्षम है। यह बर्फ की तीन मीटर मोटी चादर तोड़ सकता है। 173 मीटर लंबे यूराल का बोर्ड दो अत्यधिक कुशल और कॉम्पैक्ट RITM-200 परमाणु रिएक्टर से लैस है। उराल को 2022 में रूस के सरकारी परमाणु उर्जा कारपोरेशन रोस्तोम को सौंपा जायेगा। उराल के अतिरिक्त दो अन्य आइस ब्रेकर आर्कतिका और सिबिर का निर्माण भी किया जा रहा है।

The Hindu

भगवान राम का धाम ओरछा अब यूनेस्को की विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया

मध्यप्रदेश स्थित ओरछा की ऐतिहासिक धरोहरों को यूनेस्को की धरोहरों की अस्थायी सूची में शामिल किया गया है। इसके लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा 15 अप्रैल 2019 को एक प्रस्ताव यूनेस्को को भेजा गया था। नियमों के अनुसार यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल के लिए पहले किसी धरोहर अथवा इतिहास ईमारत को संभावित सूची में होना चाहिए। ओरछा मप्र के टीकमगढ़ जिले से 80 किमी और उप्र के झांसी से 15 किमी दूर बेतवा नदी के तट पर स्थित है। कहा जाता है कि ओरछा की स्थापना 16वीं सदी के बुंदेला राजा रूद्र प्रताप सिंह ने की थी। ओरछा अपने राजा महल या रामराजा मंदिर, शीश महल, जहांगीर महल, राम मंदिर, उद्यान और मंडप आदि के लिए प्रसिद्ध है। खुले गलियारे, पत्थरों वाली जाली का काम, जानवरों की मूर्तियां, बेलबूटे जैसी तमाम बुंदेला वास्तुशिल्प की विशेषताएं यहां साफ देखी जा सकती हैं। ओरछा में दो ऊंची मीनारें (वायु यंत्र) लोगों के आकर्षण का केन्द्र हैं, जिन्हें सावन, भादो कहा जाता है।

The Hindu

केंद्र ने लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम पर प्रतिबंध लगाने के लिए एक न्यायाधिकरण का गठन किया

केंद्र ने लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) पर प्रतिबंध जारी रखने या हटाने के बारे में निर्णय करने के लिए सोमवार को न्यायाधिकरण का गठन किया। ताकि यह तय किया जा सके कि लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (LTTE) को गैरकानूनी एसोसिएशन घोषित करने के पर्याप्त कारण हैं या नहीं। लिट्टे या तमिल टाइगर्स का गठन 1976 में वी. प्रभाकरण ने किया था। इसका गठन श्रीलंका में स्वतंत्र तमिल राज्य की स्थापना के मकसद के लिए किया गया था। केंद्र सरकार ने 14 मई को लिबरेशन ऑफ टाइगर्स तमिल ईलम (एलटीटीई) पर प्रतिबंध को अगले पांच साल के लिए बढ़ा दिया था। इस समूह को 1991 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद प्रतिबंधित कर दिया गया था।

The Hindu

वीर सावरकर जयंती : 28 मई

वीर सावरकर एक हिंदुत्ववादी नेता, राजनैतिक चिंतक और स्वतंत्रता सेनानी थे। उनका पूरा नाम विनायक दामोदर सावरकर था। उनका जन्म- मई 28,1883 ; मृत्यु- फरवरी 26,1966 को उन्होंने मुम्बई में अपना पार्थिव शरीर त्याग दिया सावरकर ने कहा था कि ईश्वर सर्वोपरि है। उसके बाद मनुष्य का स्थान है और फिर पशु हैं। गाय के बारे में लिखा गया है कि गाय एक ऐसा पशु है जिसके पास मूर्ख से मूर्ख मनुष्य के बराबर भी बुद्धि नहीं होती। गाय को दैवीय कहते हुए मनुष्य से इसे ऊपर मानना अपमान है। विनायक दामोदर सावरकर ने “जोसफ मैजिनी – जीवन कथा व राजनीती” नामक पुस्तक लिखी। उन्होंने 1857 की क्रान्ति पर “द इंडियन वॉर ऑफ़ इंडिपेंडेंस” नामक पुस्तक का प्रकाशन किया था। इसके अलावा उन्होंने रत्नागिरी में कैद के दौरान “हिंदुत्व – हु इस हिन्दू” नामक पुस्तक भी लिखी। हालांकि वे हिन्दू महासभा के संस्थापक नही थे, परन्तु वे 1937 से 1943 के बीच हिन्दू महासभा के अध्यक्ष रहे।

The Hindu

अमेरिका के गुआम में “पैसिफिक वैनगार्ड” नामक नौसैनिक अभ्यास का आरम्भ

हाल ही में अमेरिका के गुआम में “पैसिफिक वैनगार्ड” नामक नौसैनिक अभ्यास का आरम्भ हुआ। इस नौसैनिक अभ्यास में अमेरिका, जापान, दक्षिण कोरिया तथा ऑस्ट्रेलिया हिस्सा ले रहे हैं। इस नौसैनिक अभ्यास में इन चार देशों से 3000 से अधिक सैनिक हिस्सा ले रहे हैं। इस नौसैनिक अभ्यास में यह सैनिक अपने कौशल में वृद्धि करेंगे, इससे समुद्र में व्यवहारिक सहयोग में वृद्धि होगी।

The Hindu

RBI ने बढ़ाया RTGS का समय

भारतीय रिजर्व बैंक ने ग्राहकों के हित में बड़ा फैसला लिया है और कहा है कि ग्राहक अब बैंक से लेनदेन शाम 6 बजे तक कर सकेंगे। यह व्यवस्था एक जून से प्रभावी होगी। फिलहाल आरटीजीएस के जरिए शाम साढे चार बजे तक ही धन अंतरण की सुविधा है। रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) व्यवस्था के तहत , पूंजी हस्तांतरण का काम तुरंत - तुरंत होता है। बड़ी राशि के हस्तांतरण के लिए होता है। आरबीआई ने अधिसूचना में कहा, 'उसने आरटीजीएस में ग्राहक लेनदेन के लिए समय को शाम साढे चार बजे से बढ़ाकर 6 बजे करने का फैसला किया है।'

आरटीजीएस क्या है?
आरटीजीएस के तहत व्यक्तिगत खाताधाकों या समूह में ग्राहकों को पैसा भेजने की सुविधा मिलती है। आरटीजीएस सिस्टम के तहत मनी ट्रांसफर का काम तुरंत होता है। आरटीजीएस का उपयोग मुख्यत: बड़ी राशि के हस्तांतरण के लिए होता है। गौरतलब है, आरटीजीएस के ज़रिए न्यूनतम 02 लाख रुपये भेजे जा सकते हैं जबकि अधिकतम राशि भेजने की कोई सीमा नहीं है. आरटीजीएस सबसे तेज मनी ट्रांसफर सेवा है। आरटीजीएस का उपयोग बैंक से या नेटबैंकिंग के माध्यम से भी किया जा सकता है।

The Hindu

पाक-ब्रिटेन सरकार के बीच सहमति पत्र पर हस्ताक्षर

पनामा पेपर्स स्कैंडल से संबंधित रिश्वत के एक मामले में फरार घोषित पाकिस्तान के पूर्व वित्त मंत्री इशाक डार के प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू करने के लिए इस्लामाबाद ने ब्रिटेन के साथ एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किया है । यह सहमति पत्र प्रत्यर्पण संधि नहीं होने की स्थिति में इसके लिए कानूनी आधार उपलब्ध कराएगा। यह सहमति पत्र प्रत्यर्पण संधि नहीं होने की स्थिति में इसके लिए कानूनी आधार उपलब्ध कराएगा। डार पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज के नेता हैं। उनके खिलाफ एक अदालत में रिश्वत के एक मामले की कार्यवाही शुरू होने के तुरंत बाद उन्होंने पाकिस्तान छोड़ दिया था। पाक सुप्रीम कोर्ट ने पनामा पेपर्स मामले में जुलाई 2017 में फैसला सुनाया था। इस पर ब्रिटेन के गृह मंत्री की तरफ से ग्रेमी बिगर और पाकिस्तान की तरफ से अकबर ने हस्ताक्षर किया है।

The Hindu

भारतीय वायु सेना की तीन महिलाओं ने रचा इतिहास

फ्लाइट लेफ्टिनेंट पारुल भारद्वाज ऐसी पहली महिला पायलट हैं, जिन्होंने Mi-17 V5 चौपर उड़ाया है। इसके अलावा फ्लाइंग ऑफिसर अमान निधि भारतीय वायुसेना की पहली महिला पायलट हैं, जो झारखंड से आती हैं। फ्लाइट लेफ्टिनेंट हिना जायसवाल चंडीगढ़ की हैं और वह एयर फोर्स की पहली महिला फ्लाइट इंजिनियर हैं। भारतीय वायुसेना की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि तीनों महिला अधिकारियों ने दक्षिण पश्चिमी वायु कमान से आगे स्थित एयरबेस पर एक प्रतिबंधित क्षेत्र से युद्धक प्रशिक्षण मिशन के लिए हेलीकॉप्टर से उड़ान भरी। फ्लाइट लेफ्टिनेंट पारुल भारद्वाज (कैप्टन), फ्लाइंग ऑफिसर अमन निधि (को-पायलट) और फ्लाइट लेफ्टिनेंट हिना जायसवाल ने एयरक्राफ्ट को उड़ाया। इसके साथ ही तीनों देश की पहली 'ऑल वीमन क्रू' का हिस्सा बन गईं, जिन्होंने मीडियम लिफ्ट हेलिकॉप्टर को उड़ाया। 'ऑल वीमन क्रू' ने युद्धक अभ्यास के तहत एयरक्राफ्ट से उड़ान भरी. तीनों ने दक्षिण पश्चिम एयर कमांड से उड़ान भरी और लैंडिंग की। पारुल भारद्वाज पंजाब के मुकेरियां की रहने वाली हैं।

The Hindu