27 Apr, 2019

हरियाणा में ट्रांसजेनिक बैगन की अवैध खेती

भारत के हरियाणा राज्य के एक ज़िले में ट्रांसजेनिक बैगन की किस्म (Transgenic Brinjal Variety) की खेती किये जाने की जानकारी प्राप्त हुई है। हालाँकि भारत में अभी तक इसकी खेती की अनुमति नही दी गई है।
बीटी बैंगन जो कि एक आनुवंशिक रूप से संशोधित फसल है, इसमें बैसिलस थुरियनजीनिसस (Bacillus thuringiensis) नामक जीवाणु का प्रवेश कराकर इसकी गुणवत्ता में संशोधन किया गया है। बैसिलस थुरियनजीनिसस जीवाणु को मृदा से प्राप्त किया जाता है। बीटी बैंगन और बीटी कपास (Bt Cotton) दोनों के उत्पादन में इस विधि का प्रयोग किया जाता है।

The Hindu

उत्तराखंड के पर्यटन स्थल रानीखेत के जंगलों में दुर्लभ किस्म की उडऩ गिलहरी दिखाई दी

हाल में उत्तराखंड राज्य के पर्यटन स्थल रानीखेत के जंगलों में दुर्लभ किस्म की उडऩ गिलहरी (Flying Squirrel) दिखाई दी। पर्यावरण विशेषज्ञ इसे जैवविविधता के लिये बेहद महत्त्वपूर्ण बता रहे हैं तथा वन विभाग इस विलक्षण प्रजाति के वासस्थल को चिह्नित कर इसके संरक्षण की योजना बनाने की तैयारी कर रहा है। ज्ञातव्य है कि वर्ष 2016 में टिहरी ज़िले की देवलसारी रेंज में पहली बार उडऩ गिलहरी दिखी थी। इस गिलहरी के शरीर में दाएँ-बाएँ बाजुओं से पिछले दोनों पैरों तक पर्देदार लचीली त्वचा होती है। ऊँचे स्थान से छलांग लगाने पर यह त्वचा छतरी की तरह फैल जाती है और पैराग्लाइडर की तरह यह दुर्लभ गिलहरी काफी दूरी तक उड़ान भरती है। एक अनुमान के अनुसार पूरे भारत में उड़ने वाली गिलहरियों की 12 प्रजातियाँ हैं।

The Hindu

विश्व टीकाकरण सप्ताह अप्रैल माह के आखिरी सप्ताह में मनाया

विश्व टीकाकरण सप्ताह अप्रैल माह के आखिरी सप्ताह में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य सामूहिक कार्रवाई की आवश्यकता को उजागर करना है, ताकि हर व्यक्ति को टीका-निवारणीय रोगों से बचाया जाना सुनिश्चित किया जा सके। टीकाकरण लाखों लोगों के जीवन को सुरक्षित करता है तथा व्यापक पैमाने पर विश्व के सबसे सफल और कम लागत वाले प्रभावी स्वास्थ्य हस्तक्षेपों में से एक के रूप में जाना जाता है। सतत विकास लक्ष्य प्राप्त करने के लिए टीकाकरण तक पहुंच विस्तार करना महत्वपूर्ण है।
WIW 2019 24-30 अप्रैल तक मनाया जाएगा इस वर्ष का विषय ‘टीकाकरण से सबको सुरक्षित करें’( “Protected Together: Vaccines Work” ) है। यह पहली बार 2012 में मनाया गया था। यह सबके कल्याण के लिए दानदाताओं से लेकर जन सामान्य तक हर स्तर पर लोगों को टीकाकरण कवरेज बढ़ोत्तरी में उनके प्रयासो को और आगे बढ़ाने और जीवनभर संपूर्ण टीकाकरण के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने को प्रोत्साहित करता है

The Hindu

26 अप्रैल को बौद्धिक संपदा दिवस मनाया

बौद्धिक संपदा दिवस-2019 विश्व भर में 26 अप्रैल 2019 को मनाया गया। जिसका मुख्य उद्देश्य विश्व बौद्धिक संपदा दिवस नवाचार और रचनात्मका को बढ़ावा देने में बौद्धिक संपदा अधिकारों (पेटेंट, ट्रेडमार्क, औद्योगिक डिजाइन, कॉपीराइट) की भूमिका के बारे में जागरुकता फैलाने के लिए मनाया जाता है। विश्व बौद्धिक संपदा संगठन द्वारा बौद्धिक संपदा दिवस मनाया जाता है।
WIPD-2019 का विषय “Reach Gold-Intellectual Property ( IP ) And Sports“ है।

The Hindu

भारत के अगले उच्चायुक्त पूर्व सैन्य प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग होंगे

पूर्व सैन्य प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग सेशेल्स में भारत के अगले उच्चायुक्त होंगे। सेशेल्स हिंद महासागर में भारत के लिए सामरिक रूप से महत्वपूर्ण देश है। विदेश मंत्रालय ने यह घोषणा करते हुए कहा कि, ‘‘जल्द ही वह (सुहाग) अपना कार्यभार संभाल लेंगे।’’
जनरल (सेवानिवृत्त) सुहाग 31 जुलाई, 2014 से 31 दिसंबर, 2016 तक सेना प्रमुख रहे।
भारत सामरिक रूप से महत्वपूर्ण सेशेल्स में अपनी जड़ें मजबूत करने के लिए देश के ‘‘अजम्पशन आईलैंड’’ को नौसेना अड्डे के तौर पर विकसित कर रहा है, जहां चीन अपनी सैन्य मौजूदगी बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। द्वीप को विकसित करने से संबंधित समझौते पर 2015 में भारत और सेशेल्स के बीच हस्ताक्षर हुए थे।

The Hindu

मलेरिया से भारत में हर साल करीब 3 लाख से ज्यादा लोगों की मौत

भारत में हर साल करीब 3 लाख से ज्यादा लोगों की मौत मलेरिया से हो जाती है। मलेरिया से बचने के लिए भारत ने इसे पूरी तरह से खत्म करने का लक्ष्य रखा है। भारत ने 2027 तक मलेरिया मुक्त और 2030 तक मलेरिया को जड़ से खत्म करने का लक्ष्य रखा है।
यह लक्ष्य विश्व मलेरिया दिवस (World Malaria Day) यानी 25 अप्रैल को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने 'राष्ट्रीय मलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम के तहत लिया है।
मलेरिया के खतरों को बताते हुए ICMR ने कहा कि मलेरिया से निपटने के लिए समय समय पर टेक्निकल, फाइनेंसशियल, ऑपरेशन और प्रशासनिक समस्याओं में उतार चढ़ाव देखे गए हैं।

The Hindu

SBI ने भारत का पहला 'ग्रीन कार लोन ’ लॉन्च किया

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने ग्राहकों को भारत में इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने को प्रोत्साहित करने के लिए भारत का पहला 'ग्रीन कार लोन ’(इलेक्ट्रिक वाहन) लॉन्च किया है। इस नई योजना में ‘ग्रीन कार लोन’ मौजूदा कार ऋण योजनाओं पर ब्याज दर की तुलना में 20 आधार अंक कम पर ऋण प्रदान करेगी।
SBI ने पहले ही 2030 तक EVS (इलेक्ट्रिक वाहन) को 100% प्रवासन की सूचना दे दी है, ताकि कार्बन फुटप्रिंट्स में कमी आए, इस प्रकार यह 2030 तक सड़क पर 30% ईवी सुनिश्चित करने की सरकार की प्रतिज्ञा के अनुरूप है।

The Hindu

भारत की पर्वतारोही महिला रमा सेनगुप्ता पॉल का निधन

हाल में भारत की पर्वतारोही महिला रमा सेनगुप्ता पॉल का 66 वर्ष की आयु में हृदयाघात के कारण निधन हो गया है। इन्होंने गढ़वाल हिमालय में केदारनाथ डोम के लिए पहले सफल ऑल-वीमेन एक्सपीडिशन का नेतृत्व किया, जिसे 1975 में अंतर्राष्ट्रीय महिला वर्ष के उपलक्ष्य में हिमालयन एसोसिएशन द्वारा आयोजित किया गया था।

The Hindu

भारतीय नौसेना के विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य में आग लगी

भारतीय नौसेना के विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य (INS Vikramaditya) में आग लगने की सूचना है। यह घटना उस वक्त हुई जब पोत कर्नाटक के कारवार में हार्बर में दाखिल हो रहा था। इस घटना में नौसेना के एक अधिकारी की मौत हो गई है। लेफ्टिनेंट कमांडर डीएस चौहान आग बुझाने के काम का नेतृत्‍व कर रहे थे। 
2.3 अरब डॉलर की लागत का यह विमानवाहक पोत जनवरी 2014 में रूस से भारत पहुंचा था। इसे नवंबर 2013 में रूस के सेवमैश शिपयार्ड में भारतीय नौसेना में शामिल किया गया था। इसका बेस कर्नाटक का कारवार बंदरगाह है।

The Hindu

जस्टिस इंदु मल्होत्रा को पैनल में तीसरी सदस्य के रूप में शामिल किया

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए बनी कमेटी से जस्टिस रमना ने खुद को अलग कर लिया। जिसके बाद जस्टिस इंदु मल्होत्रा (Justice Indu Malhotra) को पैनल में तीसरी सदस्य के रूप में शामिल किया गया है। ध्यात्वय है की अब CJI के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट इन हाउस जांच पैनल में दो महिला जज शामिल हो गईं हैं। इससे पहले सीजेआई रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) के खिलाफ लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों (Sexual Harassment Allegations) की आंतरिक जांच के लिए मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम न्यायाधीश न्यायमूर्ति एसए बोबडे (Justice SA Bobde) की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई थी।

जस्टिस बोबडे के साथ इस कमेटी में शीर्ष न्यायालय के दो न्यायाधीशों न्यायमूर्ति एनवी रमना और न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी शामिल थीं। चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप की जांच के लिए बने पैनल से जस्टिस रमना पीड़ित महिला के एतराज़ के बाद अलग हो गए।

The Hindu