26 Mar, 2019

डेविड वॉर्नर आईपीएल में सर्वाधिक 37 अर्धशतक

आईपीएल-12 में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ 53 गेंदों पर 85 रन बनाने वाले सनराइज़र्स हैदराबाद के ओपनर डेविड वॉर्नर आईपीएल में सर्वाधिक 37 अर्धशतक लगाने वाले बल्लेबाज़ बन गए

The Hindu

21 मार्च को पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय नस्लीय भेदभाव उन्मूलन दिवस मनाया

21 मार्च को पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय नस्लीय भेदभाव उन्मूलन दिवस मनाया गया। इस वर्ष इसकी थीम Mitigating and countering rising nationalist populism and extreme supremacist ideologies निर्धारित की गई है

The Hindu

नरेश गोयल और पत्नी अनीता गोयल ने कैश-स्ट्रैप एयरलाइन बोर्ड से इस्तीफा दिया

जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल और पत्नी अनीता गोयल ने कैश-स्ट्रैप एयरलाइन बोर्ड से इस्तीफा दिया। इसके साथ ही नरेश गोयल अध्यक्ष पद से स्थगित  हुए। एक और निदेशक केविन नाइट ने भी इस्तीफा दे दिया है। बोर्ड ने उनके इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है।

बोर्ड ने बकाया ऋण के आर 1 के रूपांतरण पर ऋणदाताओं को 11.4 करोड़ इक्विटी शेयर जारी करने की भी मंजूरी दी। ऋणदाता ऋण लिखत के माध्यम से 1,500 करोड़ रुपये तक का निवेश करेंगे।

The Hindu

केंद्र सरकार ने वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को अगला नौसेना प्रमुख नियुक्त किया

केंद्र सरकार ने वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को अगला नौसेना प्रमुख नियुक्त किया है. वे वर्तमान नौसेना प्रमुख सुनील लांबा की जगह लेंगे. नौसेना प्रमुख सुनील लांबा 31 मई 2019 को सेवानिवृत्त हो रहे हैं

रक्षा मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार पूर्वी नौसेना कमान के प्रभारी वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को अगला नौसेना प्रमुख नियुक्त गया है

करमबीर सिंह के बारे में:
•   करमबीर सिंह, भारतीय नौसेना के पूर्वी नौसेना कमान के वर्तमान फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ हैं, जिसका इन्होंने 31 अक्टूबर 2017 को पदभार ग्रहण किया था. हरीश बिष्ट के सेवानिवृत्त होने के बाद उन्होंने यह पद ग्रहण किया था
•   करमबीर सिंह को जुलाई 1980 में भारतीय नौसेना में नियुक्त किया गया था और साल 1982 में हेलिकॉप्टर पायलट बने
•   उन्हें एचएएल चेतक और कामोव का -25 हेलीकॉप्टरों को उड़ाने का व्यापक अनुभव है
•   उन्होंने आईएनएस विजयदुर्ग, आईएनएस राणा और आईएनएस दिल्ली सहित कई जहाजों की कमान संभाली है
•   उन्होंने पश्चिमी बेड़े के बेड़े संचालन अधिकारी के रूप में भी काम किया है
•   इसके अलावा वे चीफ ऑफ स्टाफ, पूर्वी नौसेना कमान, स्टाफ के प्रमुख, अंडमान और निकोबार कमान, फ्लैग ऑफिसर महाराष्ट्र और गुजरात क्षेत्र, नौसेना मुख्यालय में संयुक्त निदेशक नौसेना वायु कर्मचारी, नेवल एयर स्टेशन, मुंबई के कैप्टन एयर और ऑफिसर-चार्ज रहे हैं
•   उन्हें 37 वर्षों से अधिक के अपने करियर के दौरान उनकी सेवा के लिए अति विशिष्ट सेवा पदक और परम विशिष्ट सेवा पदक (2018) से सम्मानित किया गया है

The Hindu

प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार हाकू शाह का निधन

प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार हाकू शाह का 21 मार्च 2019 को अहमदाबाद (गुजरात) में दिल का दौरा पड़ने की वजह से निधन हो गया. वे 85 वर्ष के थे. हाकू शाह जनजातीय व लोक कला के विषयों पर आधारित अपनी चित्रकारी के लिए जाने जाते थे.
वे लंबे समय से बीमार थे और एक सप्ताह से अस्पताल में भर्ती थे. हाकू शाह को कला में योगदान के लिये साल 1989 में पद्म श्री पुरस्कार मिले थे. वे जवाहर लाल नेहरू फेलोशिप पुरस्कार और कला रत्न पुरस्कार से भी सम्मानित हो चुके थे.

पद्म श्री
पद्म श्री या पद्मश्री, भारत सरकार द्वारा आम तौर पर सिर्फ भारतीय नागरिकों को दिया जाने वाला   सम्मान है. यह सम्मान कला, शिक्षा, उद्योग, साहित्य, विज्ञान, खेल, चिकित्सा, समाज सेवा और सार्वजनिक जीवन आदि में उनके   विशिष्ट योगदान को मान्यता प्रदान करने के लिए दिया जाता है
भारत के नागरिक   पुरस्कारों के पदानुक्रम में यह चौथा पुरस्कार है इससे पहले क्रमश: भारत रत्न, पद्म विभूषण और पद्म भूषण का स्थान है. इसके अग्रभाग पर, "पद्म" और "श्री" शब्द देवनागरी लिपि में   अंकित रहते हैं.

शिल्प ग्राम की स्थापना:
वे आदिवासी और लोक कला के लिए प्रसिद्ध थे. उनमें भक्ति आंदोलन की भी कला थी, साथ ही एक सांस्कृतिक मानवविज्ञानी भी थे. उन्होंने साल 1980 में राजस्थान के उदयपुर में शिल्प ग्राम की स्थापना की.

हाकू शाह के बारे में:
•   हाकू शाह का जन्म साल 1934 में सूरत जिले के वालोड में हुआ था.
•   उनका पूरा नाम हाकूभाई वजुभाई शाह है.
•   उन्होंने साल 1955 में वड़ोदरा में महाराजा सयाजीराव गायकवाड़ विश्वविद्यालय के ललित कला संकाय से स्नातक और बाद में स्नातकोत्तर किया. इसके बाद प्रसिद्ध कलाकार केजी सुब्रमण्यन के तहत अपनी मास्टर डिग्री की.
•   उन्होंने साल 1965 में जॉन डी. रॉकफेलर फेलोशिप प्राप्त की. उन्हें साल 1971 में नेहरू फैलोशिप भी मिली. इन वर्षों में, उन्होंने ग्रामीण जीवन और आदिवासी कला, संस्कृति और लोक मान्यताओं के साथ-साथ अनुसंधान पर बहुत अधिक शोध किया

The Hindu

भारत और पकिस्तान संयुक्त आतंकवाद-रोधी अभ्यास में हिस्सा लेंगे

शंघाई सहयोग संगठन के देशों का आतंकवाद विरोधी संयुक्त अभ्यास सैरी-अर्का एंटी टेरर इस वर्ष कज़ाखस्तान में होने जा रहा है. भारत और पकिस्तान भी इस संयुक्त आतंकवाद-रोधी अभ्यास में हिस्सा लेंगे. इस अभ्यास की घोषणा क्षेत्रीय आतंकवाद-निरोधी ढाँचे की उज्बेकिस्तान के ताशकंद में आयोजित हुई 34वीं बैठक में की गई

The Hindu

आलिया भट्ट ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार जीता

बॉलीवुड फिल्मों के लिए दिए जाने वाले सबसे प्रसिद्ध पुरस्कार फिल्मफेयर अवार्ड्स 2019 हाल ही में मुंबई में प्रदान किये गये. यह पुरस्कार 20 से अधिक श्रेणियों में दिए गये हैं. इस वर्ष फिल्म ‘राज़ी’ के लिए आलिया भट्ट ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार जीता, वहीं रणबीर कपूर ने ‘संजू’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार प्राप्त किया.

64वें फिल्मफेयर पुरस्कारों की सूची:-
1.    बेस्ट एक्टर (पुरुष) - रणबीर कपूर (संजू)
2.    बेस्ट एक्टर (महिला) - आलिया भट्ट (राज़ी)
3.    क्रिटिक्स कैटेगरी बेस्ट एक्टर (पुरुष) - रणवीर सिंह(पद्मावत), आयुष्मान खुराना (अँधाधुन)
4.    बेस्ट डायरेक्टर - मेघना गुलज़ार (राज़ी) 
5.    क्रिटिक्स कैटेगरी बेस्ट एक्टर (महिला) - नीना गुप्ता (बधाई हो )
6.    पॉपुलर च्वायस कैटेगरी बेस्ट फिल्म - राज़ी
7.    बेस्ट स्टोरी - अनुभव सिन्हा (मुल्क) 
8.    बेस्ट स्क्रीनप्ले - अंधाधुन
9.     बेस्ट डायलॉग - बधाई हो
10.    क्रिटिक्स कैटेगरी में बेस्ट फिल्म - अँधाधुन
11.    बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर (महिला) - सुरेखा सिकरी (बधाई हो)
12.    बेस्ट एक्टर इन सपोर्टिंग रोल - विक्की कौशल (संजू) गजराज राव (बधाई हो)
13.    बेस्ट डेब्यू (पुरुष) - ईशान खट्टर (बियाण्ड द क्लाउड्स)
14.    बेस्ट डेब्यू (महिला) - सारा अली खान (केदारनाथ)
15.    बेस्ट डेब्यू डायरेक्टर - अमर कौशिक (स्त्री )
16.    बेस्ट प्लेबैक (पुरुष) - अरिजीत सिंह (राज़ी)
17.    सर्वश्रेष्ठ गीतकार – गुलज़ार (राज़ी)
18.    बेस्ट प्लेबैक (महिला) - श्रेया घोषाल
19.    बेस्ट बैकग्राउड स्कोर - डेनियल जॉर्ज (अँधाधुन)
20.    बेस्ट सिनेमेटोग्राफी - पंकज कुमार (तुम्बाड)
21.    बेस्ट वीएफएक्स - रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट (ज़ीरो) 
22.    बेस्ट कोरियोग्राफी - कृति महेश मिद्या और ज्योति तोमर (पद्मावत)
23.    बेस्ट कॉस्टयूम - शीतल शर्मा (मंटो)
24.    बेस्ट प्रोडक्शन डिज़ाइन - नितिन जिहानी चौधरी और राजेश यादव (तुम्बाड)


फिल्मफेयर अवार्ड्स पृष्ठभूमि:-
फिल्मफेयर पुरस्कार समारोह भारतीय सिनेमा के इतिहास की सबसे पुरानी और प्रमुख घटनाओं में से एक रही है. इसकी शुरुआत सबसे पहले 1954 में हुई जब राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार की भी स्थापना हुई थी. पुरस्कार जनता के मत एवं ज्यूरी के सदस्यों के मत दोनों के आधार पर हर साल दिया जाता है.

21 मार्च 1954 को होने वाले पहले पुरस्कार समारोह में सिर्फ पाँच पुरस्कार रखे गये थे जिसमें दो बीघा ज़मीन को सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म, सर्वश्रेष्ठ निर्देशन के लिए बिमल राय (दो बीघा ज़मीन), सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए दिलीप कुमार (दाग), सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए मीना कुमारी (बैजू बावरा), एवं इसी फिल्म में सर्वश्रेष्ठ संगीत के लिए नौशाद को सम्मानित किया गया था

The Hindu

रणबीर कपूर को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार जीता

बॉलीवुड फिल्मों के लिए दिए जाने वाले सबसे प्रसिद्ध पुरस्कार फिल्मफेयर अवार्ड्स 2019 हाल ही में मुंबई में प्रदान किये गये. यह पुरस्कार 20 से अधिक श्रेणियों में दिए गये हैं. रणबीर कपूर ने ‘संजू’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार प्राप्त किया

The Hindu

देश की सबसे गहरी शाफ्ट गुफा ‘क्रेम उम लाडॉ’ की खोज की

मेघालय के पूर्वी खासी हिल्स ज़िले के मासिनराम क्षेत्र में देश की सबसे गहरी शाफ्ट गुफा ‘क्रेम उम लाडॉ’ की खोज की गई है. यह खोज विश्व की सबसे गहरी बलुआ पत्थर गुफा क्रेम पुरी (Krem Puri) की खोज के लगभग एक वर्ष बाद की गई है. 

मेघालय एडवेंचर एसोसिएशन (एमएए) के खोजकर्ताओं का एक दल ‘Caving in the Abode of the Clouds Expedition’ नामक अभियान के 28वें संस्करण में इस स्थान पर पहुंचा था. इस दौरान उन्हें क्रेम उम लाडॉ (Krem Um Ladaw) नामक देश की इस सबसे गहरी शाफ्ट गुफा का पता चला है. 

क्रेम उम लाडॉ (Krem Um Ladaw) की खोज
•    क्रेम उम लाडॉ के प्रवेश मार्ग पर 105 मीटर गहरा शाफ्ट पाया गया है.
•    इस गुफा को खोजने वाले दल में 30 खोजकर्ता शामिल थे जिसमें इंग्लैंड, आयरलैंड, ऑस्ट्रिया, नीदरलैंड, स्विट्ज़रलैंड, सर्बिया और मेघालय एडवेंचर एसोसिएशन (एमएए) के सदस्य शामिल थे.
•    इस दौरान 8 नई गुफाओं की खोज की गई. इसमें क्रेम शेरिएह को पहले 2000 मीटर तक खोजा गया था लेकिन बाद में इसे 9844 मीटर तक खोजा गया है.
•    इसके अलावा रेतदुंग खुर (3724 मीटर) तथा तुई खुर लुत (2185 मीटर) को भी खोजा गया है.

क्रेम पुरी की गुफा के बारे में जानकारी
•    यह गुफा 24,583 मीटर लंबी है. इसे विश्व में सबसे लंबी बलुआ पत्थर की गुफा के रूप में जाना जाता है. 
•    यह भूमिगत गुफा, ईदो जूलिया, वेनेजुएला की विश्व रिकॉर्ड धारक ‘क्यूवा डेल समन’ नामक गुफा से 6,000 मीटर से अधिक लंबी है.
•    गुफा में डायनासोर के जीवाश्म भी पाए गये हैं, जो 66-76 मिलियन वर्ष पहले के माने जाते हैं.
•     इस गुफा की खोज पहली बार वर्ष 2018 में की गई थी.
•    इस गुफा की खोज करने वाली संस्था मेघालय एडवेंचर एसोशिएसन ने इस गुफा का नाम क्रेम पुरी दिया है.

पृष्ठभूमि
मेघालय में भारत की सबसे बड़ी गुफाएँ मानी जाती हैं. यह अनुमान लगाया गया है कि मेघालय में 1580 से भी अधिक भूमिगत गुफाओं का नेटवर्क है, जिसमें से 980 का ही पता चल पाया है. यह गुफाएँ जयंतिया, खासी और गारो हिल्स में 427 किमी. इलाके में फैली हैं. भारत की 10 सबसे लंबी और गहरी गुफाओं में से नौ मेघालय में ही हैं. मेघालय में जिन गुफाओं की खोज और मैपिंग की गई उनमें से अधिकांश प्रभावशाली नदी गुफाएं हैं जो बड़े पैमाने पर समृद्ध रूप से एकत्रित अवशेषों के साथ मिश्रित हैं

The Hindu

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी देश के बीस प्रतिशत परिवारों को 72 हज़ार रुपये प्रतिवर्ष दिए जाने का वादा किया

हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा सरकार बनने पर न्यूनतम आय गारंटी योजना के तहत देश के बीस प्रतिशत परिवारों को 72 हज़ार रुपये प्रतिवर्ष दिए जाने का वादा किया गया. राहुल गांधी ने कहा है कि यदि कांग्रेस सरकार आई तो 25 करोड़ लोगों को इस योजना के तहत का लाभ दिया जाएगा. राहुल गांधी द्वारा यह भी कहा गया कि कांग्रेस की इस योजना के तहत न्यूानतम आय की सीमा 12 हजार रुपये रखी गई है. 12 हजार से कम आय वाले ही इस योजना का लाभ उठा पाएंगे. 
इससे पहले वर्ष 2016-17 के आर्थिक सर्वेक्षण में यूनिवर्सल बेसिक इनकम की अवधारणा पेश की गई थी. इस सर्वेक्षण में कहा गया कि अब तक की सामाजिक कल्याणकारी योजनाओं के लाभों के हस्तांतरण के मामले में निराशाजनक प्रदर्शन के मद्देनजर जरूरतमंदों तक सार्वभौमिक रूप से वित्तीय सहायता की सीधी पहुँच सुनिश्चित किये जाने की आवश्यकता है. यदि ऐसा होता है, तो इससे गरीबी-उन्मूलन की प्रक्रिया तेज होगी और गरीबों के लिए बेहतर जिंदगी सुनिश्चित की जा सकेगी. इसके लिए लाभार्थियों का जनधन, आधार और मोबाइल से जुड़ा होना जरूरी होगा.

न्यूनतम आय गारंटी योजना क्या है?
•    न्यूनतम आय गारंटी योजना में यह प्रावधान होता है कि सरकार गरीबी रेखा के तय मानक के अनुसार उस श्रेणी के लोगों को एक निश्चित रकम देती है. 
•    यह रकम गरीबी रेखा के मानक से तय की जा सकती है. इसके तहत सरकार एक निश्चित रकम तय करती है और फिर एक मानक स्थापित कर इसका वितरण करती है.
•    यह एक न्यूनतम आधारभूत आय की गारंटी है जो केवल गरीब नागरिकों को बिना शर्त सरकार द्वारा दी जाती है. 
•    इसके लिये व्यक्ति की आय तय मानक के अनुसार होनी चाहिए और उसे उस देश का नागरिक होना ज़रूरी होता है, जहाँ इसे लागू किया जाना है.

यूनिवर्सल बेसिक इनकम (UBI)
यूनिवर्सल बेसिक इनकम की अवधारणा अपने मूल रूप में सभी नागरिकों के लिए वित्तीय सहायता के रूप में प्रति माह उस न्यूनतम राशि के बिना शर्त अंतरण पर बल देती है जिससे वो अपनी बुनियादी जरूरतों को पूरा कर सकें और जिससे उनके लिए गरिमामय जीवन संभव हो सके.

2016-17 के आर्थिक   सर्वेक्षण में यूनिवर्सल बेसिक इनकम 
वर्ष 2016-17 के आर्थिक   सर्वेक्षण में यूनिवर्सल बेसिक इनकम के बारे में विस्तृत विवरण दिया गया था. इसमें   कहा गया था कि भारत में केंद्र सरकार की तरफ से प्रायोजित कुल 950 योजनाएँ हैं   और जीडीपी बजट आवंटन में इनकी हिस्सेदारी लगभग 5% है. ऐसी ज़्यादातर   योजनाएँ आवंटन के मामले में छोटी हैं और प्रमुख 11 योजनाओं की कुल बजट आवंटन में   हिस्सेदारी 50% है. इसे ध्यान में रखते हुए सर्वे में यूनिवर्सल बेसिक इनकम को मौजूदा   स्कीमों के लाभार्थियों के लिये विकल्प के तौर पर पेश करने का प्रस्ताव दिया गया   है.
उद्देश्य: आर्थिक समीक्षा में सामजिक न्याय को   सुनिश्चित करना, नागरिकों को   गरिमामय जीवन उपलब्ध कराना, गरीबी में कमी,   रोजगार-सृजन एवं श्रम-बाजार में लोचशीलता के   जरिये लोगों को कार्य-विकल्प उपलब्ध कराना, व्यापक प्रशासनिक दक्षता और वित्तीय समावेशन को इस स्कीम   का लक्ष्य बताया गया है और संकेतों में कहा गया है कि वर्तमान में चलायी जा रही   लोक-कल्याणकारी योजनाओं की तुलना में यह योजना इन लक्ष्यों की प्राप्ति में कहीं   अधिक सहायक है.
सैद्धांतिक आधार: 1. सार्वभौमिकता, ताकि सभी नागरिकों को इसके दायरे में लाया जा सके;
2. बिना शर्त अर्थात् न   तो आय की शर्त और न ही रोजगार की शर्त; तथा
3. बुनियादी आय, ताकि बिना किसी अतिरिक्त आय गरिमापूर्ण जीवन जीना संभव हो सके.

न्यूनतम आय गारंटी और यूनिवर्सल बेसिक इनकम में अंतर
•    न्यूनतम आय गारंटी गरीबी ग्रामीण क्षेत्रों अथवा विशेष श्रेणी के लोगों को दी जाने वाली न्यूनतम आय है जबकि यूनिवर्सल बेसिक इनकम योजना वर्षों तक दी जाने वाली न्यूनतम आय की गारंटी है.
•    न्यूनतम आय गारंटी की योजना नागरिकों का अधिकार नहीं है जबकि जबकि कुछ यूरोपियन देशों में बेसिक इनकम को लोगों के अधिकार के रूप में सुनिश्चित किया गया है.
•    न्यूनतम आय गारंटी लोगों को आर्थिक आधार पर दिया जाने वाली सुविधा है जबकि यूबीआई उन्हें सुनिश्चित तौर पर मिलना तय है

The Hindu