25 Jan, 2019

हिंदी लेखिका कृष्णा सोबती का दिल्ली में निधन

प्रख्यात हिंदी लेखिका और निबंधकार कृष्णा सोबती का दिल्ली में निधन हो गया है। वह 93वर्ष की थी। वह साहित्य अकादमी, ज्ञानपीठ जैसे कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों की प्राप्तकर्ता थीं और उन्हें पद्म भूषण भी दिया गया था, जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया था।

उनकी कुछ प्रसिद्ध कृतियों में दार से बिछुड़ी, मित्रो मरजानी, जिंदगीनामा, दिल-ओ-दानिश, बादलों के घेरे , ऐ लड़की और गुजरात पाकिस्तान से गुजरात हिंदुस्तान शामिल हैं। उनकी कई रचनाओं का अन्य भारतीय भाषाओं में और स्वीडिश, रूसी और अंग्रेजी में भी अनुवाद किया गया है।

The Hindu

हिमाचल प्रदेश ने 25 जनवरी को राज्य दिवस मनाया

केंद्र सरकार ने 25 जनवरी 1971 को हिमाचल प्रदेश केंद्र शासित प्रदेश से पूर्ण राज्य का दर्जा दिया था और इस तरह यह देश का 18वां राज्य बना था।

The Hindu

वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने अमेरिका के साथ सभी राजनीतिक संबंध समाप्त किये

वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो द्वारा हाल ही में अमेरिका के साथ सभी राजनीतिक संबंध समाप्त किये जाने की घोषणा की गई। इस घोषणा के बाद वेनेज़ुएला का राजनीतिक संकट एक बार फिर चर्चा में आ गया है।
वेनेज़ुएला में जनता द्वारा राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के खिलाफ देशव्यापी प्रदर्शन किये जा रहे हैं। इसमें बहुत से लोगों के मारे जाने और आगजनी की सैंकड़ों घटनाएं सामने आ चुकी हैं। वेनेज़ुएला लंबे समय से आर्थिक संकट झेल रहा था लेकिन अब वह राजनीतिक संकट में भी फंस गया है। वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन से उपजे राजनीतिक संकट में अमेरिका और रूस के अलावा और भी कई देश कूद पड़े हैं जिससे यह एक वैश्विक रूप लेता नज़र आ रहा है।


वेनेजुएला लंबे समय से आर्थिक संकट की समस्या से जूझ रहा है। वेनेज़ुएला के मौजूदा राष्ट्रपति निकोलस मादुरो महंगाई रोकने में नाकाम रहे हैं जिसके चलते देश में उनके खिलाफ वृहद स्तर पर रोष प्रदर्शन हो रहे हैं। महंगाई और दवाईयों की कमी के चलते बड़ी संख्या में देश से नागरिकों का पलायन भी हुआ है।
निकोलस मादुरो ने जनवरी 2019 के आरंभ में चुनाव जीतकर लगातार दूसरी बार राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी। इस शपथ ग्रहण समारोह के बाद से ही उनपर चुनाव में गड़बड़ी का आरोप लगाया गया। विपक्ष के नेता जुआन गोइदो की अपील के बाद लाखों लोगों ने सड़क पर उतरकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किए हैं। इन प्रदर्शनों में लगभग 30 लोगों की मौत भी हो चुकी है।
ताज़ा घटनाक्रम में विपक्ष के नेता जुआन गोइदो ने स्वयं को देश का नया राष्ट्रपति घोषित कर दिया   जिसके बाद प्रदर्शनों ने हिंसक रूप ले लिया है। अमेरिका ने मादुरो सरकार को अवैध घोषित करते हुए गोइदो का समर्थन किया जबकि रूस और सहयोगी देशों ने मादुरो को समर्थन दिया है।
वेनेज़ुएला में राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के खिलाफ हो रहे देशव्यापी प्रदर्शनों के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा दखल देते हुए कहा गया कि मादुरो को देश का मिजाज़ देखते हुए राष्ट्रपति पद छोड़ देना चाहिए।

जबकि, मादुरो ने घोषणा की है कि वे 2025 तक राष्ट्रपति पद पर बने रहेंगे और पद नहीं छोड़ेंगे. 
निकोलस मादुरो ने अमेरिका के साथ वेनेज़ुएला के राजनैतिक संबंध समाप्त करने की भी घोषणा की।

अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा इस घोषणा की आलोचना की गई तथा डोनाल्ड ट्रम्प ने मादुरो सरकार को अवैध घोषित कर दिया तथा विपक्षी दल के नेता को समर्थन देते हुए उसे राष्ट्रपति के तौर पर मान्यता प्रदान कर दी।

अमेरिकी सरकार ने कहा है कि वह ‘‘अंतरिम राष्ट्रपति गोइदो’’ के साथ राजनयिक संबंध बनाए रखेगा और देश में आवश्यकता पड़ने पर सैन्य हस्तक्षेप के विकल्प पर सार्वजनिक तौर पर विचार करेगा।

राष्ट्रपति निकोलस मादुरो को विपक्षी दल के नेता जुआन गोइदो द्वारा सीधी चुनौती दिए जाने के बीच देश की शक्तिशाली सेना ने मादुरो को अपना समर्थन दिया है और पूरे घटनाक्रम से संकट ग्रस्त देश का भविष्य अधर में लटक गया है।
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा मादुरो की सरकार गैरकानूनी है जिस वजह से वेनेजुएला के लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। मैं आधिकारिक तौर पर नेशनल असेंबली के अध्यक्ष जुआन गोइदो को देश के अंतरिम राष्ट्रपति के तौर पर मान्यता देता हूं।”
निकोलस मादुरो के दोबारा राष्ट्रपति बनने के बाद विपक्ष के नेता जुआन गोइदो ने स्वयं को राष्ट्रपति घोषित किया जिसे अमेरिका और ब्राजील, अर्जेंटीना और कोलंबिया सहित 12 क्षेत्रीय ताकतों ने समर्थन दिया है।
दूसरी ओर, रूस और चीन मादुरो के साथ है. मादुरो को मेक्सिको, क्यूबा और बोलीविया का समर्थन भी प्राप्त है।
देश के अंदर नागरिकों के मादुरो के खिलाफ प्रदर्शन करने के बावजूद देश की सेना ने मादुरो का समर्थन किया है, जिसका अर्थ है कि नागरिकों के प्रदर्शन को दबाया भी जा सकता है। इसी के चलते अमेरिका ने वेनेज़ुएला में सैन्य हस्तक्षेप का विकल्प भी खुला रखा है जिसका रूस और चीन विरोध कर रहे हैं।
रूस ने कहा है कि विपक्षी नेता गोइदो की घोषणा "अराजकता और रक्तपात का सीधा रास्ता" है। रूस की ओर से एक बयान जारी करके कहा गया है, "हम ऐसे जोख़िमों के ख़िलाफ़ चेतावनी देते हैं जो विनाशकारी परिणामों की तरफ जाते हैं।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ख्वा चुनयिंग ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर कहा, "चीन वेनेज़ुएला के अपनी राष्ट्रीय संप्रभुता, स्वतंत्रता और स्थायित्व बचाए रखने के प्रयासों का समर्थन करता है। चीन ने हमेशा अन्य देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करने के सिद्धांत को आगे बढ़ाया है और वेनेज़ुएला में बाहरी मध्यस्था का विरोध किया है।

The Hindu

रवनीत सिंह गिल को यस बैंक का नया मैनेजिंग डायरेक्टर चुना

यस बैंक ने 24 जनवरी 2019 को रवनीत सिंह गिल को बैंक का नया मैनेजिंग डायरेक्टर (एमडी) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) चुन लिया है। वे 01 मार्च 2019 या उससे पहले पदभार संभाल सकते हैं।
नियामकीय फाइलिंग में बैंक ने बताया कि उसे रवनीत सिंह गिल के नाम पर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) की ओर से मंजूरी मिल गई है। वे यस बैंक में राणा कपूर का स्थान लेंगे, जिनका कार्यकाल 31 जनवरी को समाप्त हो रहा है।
भारतीय रिजर्व बैंक ने सितंबर 2018 में राणा कपूर को जनवरी 2019 अंत तक पद छोड़ने का निर्देश दिया था। राणा कपूर अपनी निकट संबंधी बिंदू कपूर के साथ देश में निजी क्षेत्र के पांचवें बड़े बैंक के प्रवर्तकों में शामिल हैं।

The Hindu

तेलंगाना सरकार ने 'राज्य बाघ संरक्षण बल' के गठन का निर्णय लिया

तेलंगाना सरकार ने राज्य में बाघों की आबादी को बचाने के लिए एक 'राज्य बाघ संरक्षण बल' के गठन का निर्णय लिया है। मुख्य सचिव एस के जोशी की अध्यक्षता वाली राज्य वन संरक्षण समिति ने STPF के गठन का निर्णय लिया है। 112 सदस्यीय सशस्त्र STPF का नेतृत्व सहायक वन संरक्षक द्वारा किया जाएगा ताकि अमाराबाद और कवाल टाइगर रिजर्व में बाघों की आबादी की रक्षा की जा सके।
राज्य और केंद्र सरकार बल की लागत 40:60 के आधार पर साझा करेंगे। 2.25 करोड़ की निधि राशि को भी बाघों की रक्षा और वन अग्नि दुर्घटनाओं को रोकने के लिए स्वीकृत दी गई है। समिति ने जंगल के पेड़ों की कटाई और अन्य संबंधित अपराधों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का फैसला किया है।

The Hindu

कवि रंजनी मुरली को "वूमन्स वॉयस अवार्ड" से सम्मानित किया

यूएस बेस्ड इंडियन कवि रंजनी मुरली को एपीजे कोलकाता लिटरेरी फेस्टिवल (AKKF) में "वूमन्स वॉयस अवार्ड" से सम्मानित किया गया। पुरस्कार का उद्देश्य भारत में महिलाओं द्वारा रचनात्मक लेखन को मान्यता देना और प्रोत्साहित करना है। पुरस्कार में एक प्रशस्ति पत्र के साथ 1 लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया गया।
रंजनी मुरली की दूसरी पुस्तक “क्लियरली यू आर ESL” ने ग्रेट इंडियन पोएट्री कलेक्शंस (GIPCs) का एडिटर्स चॉइस पुरस्कार जीता। उनकी पहली पुस्तक "ब्लाइंड स्क्रीन" जुलाई 2017 में प्रकाशित हुई थी।

The Hindu

भारत 2019-20 में दुनिया की सबसे तेज़ी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बना

संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की वैश्विक आर्थिक स्थिति एवं संभावनाएं (डब्ल्यूईएसपी) 2019 रिपोर्ट के अनुसार, भारत 2019 और 2020 में दुनिया की सबसे तेज़ी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बना रहेगा।
रिपोर्ट में कहा गया है कि वृद्धि को मजबूत निजी उपभोग और अधिक विस्तार वाले वित्तीय रुख तथा पिछले सुधारों के लाभ से सहारा मिल रहा है। इसमें कहा गया है कि मध्यम अवधि की वृद्धि दर के लिए निजी निवेश में सतत सुधार महत्वपूर्ण है।
भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर:-
रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 2018-19 में 7.4 प्रतिशत तथा अगले वित्त वर्ष 2019-20 में 7.6 प्रतिशत रहेगी। वर्ष 2020-21 में भारत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत रहेगी।
निजी निवेश में लगातार सुधार:-
रिपोर्ट में कहा गया है कि मध्यम अवधि की वृद्धि दर के लिए निजी निवेश में लगातार सुधार जरूरी है। वैश्विक अर्थव्यवस्था का जिक्र करते हुए रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2019 और 2020 में इसकी वृद्धि दर तीन प्रतिशत के करीब रहेगी।

चीन की रफ्तार कम होगी:-
यूएन की रिपोर्ट में चीन का जिक्र करते हुए कहा गया है कि यहां वर्ष 2018 में विकास दर 6.6 फीसदी और वर्ष 2019 में और अधिक गिरावट के साथ 6.3 फीसदी रहने का अनुमान है। इसके लिए ट्रेड वॉर को भी जिम्मेदार बताया गया है।
संयुक्त राष्ट्र के बारे में:-
संयुक्त राष्ट्र (यूएन) एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है। इसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय कानून को सुविधाजनक बनाने के सहयोग, अन्तर्राष्ट्रीय सुरक्षा, आर्थिक विकास, सामाजिक प्रगति, मानव अधिकार और विश्व शांति के लिए कार्यरत है।संयुक्त राष्ट्र की स्थापना 24 अक्टूबर 1945 को संयुक्त राष्ट्र अधिकारपत्र पर 50 देशों के हस्ताक्षर होने के साथ हुई।
वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र में 193 देश है, विश्व के लगभग सारे अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त देश हैं। इस संस्था की संरचन में आम सभा, सुरक्षा परिषद, आर्थिक व सामाजिक परिषद, सचिवालय और अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय सम्मिलित है।

The Hindu

वसीम जाफर रणजी ट्रॉफी के एक सीज़न में 1000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज़ बने

वसीम जाफर दो बार रणजी ट्रॉफी के एक सीज़न में 1000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज़ बन गए हैं।

The Hindu

भारत 2030 तक ई-वाहन बाजार में निवेश करने का आह्वान किया

भारत वर्ष 2030 तक अपनी परिवहन प्रणाली को ई-वाहनों पर निर्भर बनाने के लक्ष्य को लेकर चल रहा है और इसके लिए उसने चीन की कंपनियों से देश के ई-वाहन बाजार में निवेश करने का आह्वान किया है।

The Hindu

25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के रूप में मनाया

हर वर्ष 25 जनवरी को मतदान की आवश्यकता के बारे में जागरूकता फैलाने और युवा पीढ़ी को मतदान के अधिकारों के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रीय मतदाता दिवस के रूप में मनाया जाता है। राष्ट्रीय मतदाता दिवस विषय  2019 “No Voter to be left behind” है। राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने का यह नौवां वर्ष है।

25 जनवरी भारत निर्वाचन आयोग (ECI) का स्थापना दिवस है, जो 1950 में अस्तित्व में आया था। इस दिन को युवा मतदाताओं को चुनावी प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु पहली बार 2011 में मनाया गया था, पहले मतदाता की पात्रता आयु 21 वर्ष थी लेकिन 1988 में इसे घटाकर 18 वर्ष कर दिया गया।

The Hindu