23 Apr, 2019

22 अप्रैल को 'पृथ्वी दिवस यानि' मनाया

पृथ्वी पर रहने वाले तमाम जीव-जंतुओं और पेड़-पौधों को बचाने तथा दुनिया भर में पर्यावरण के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लक्ष्य के साथ 22 अप्रैल के दिन 'पृथ्वी दिवस यानि' अर्थ डे मनाने की शुरूआत की गई थी। 1970 में शुरू की गई इस परंपरा को 192 देशों ने खुली बांहों से अपनाया और आज लगभग पूरी दुनिया में प्रति वर्ष पृथ्वी दिवस के मौके पर धरा की धानी चुनर को बनाए रखने और हर तरह के जीव-जंतुओं को पृथ्वी पर उनके हिस्से का स्थान और अधिकार देने का संकल्प लिया जाता है।

पूरी दुनिया 22 अप्रैल को पृथ्वी दिवस मनाती है, लेकिन अमेरिका में इसे वृक्ष दिवस के रूप में मनाया जाता है। पहले पूरी दुनिया में साल में दो दिन (21 मार्च और 22 अप्रैल) पृथ्वी दिवस मनाया जाता था। लेकिन 1970 से 22 अप्रैल को मनाया जाना तय किया गया। 21 मार्च को मनाए जाने वाले 'इंटरनेशनल अर्थ डे' को संयुक्त राष्ट्र का समर्थन है, पर इसका महत्व वैज्ञानिक तथा पर्यावरणीय ज्यादा है। इसे उत्तरी गोलार्ध के वसंत तथा दक्षिणी गोलार्ध के पतझ़ड़ के प्रतीक स्वरूप मनाया जाता है। 22 अप्रैल को ही विश्व पृथ्वी दिवस मनाए जाने के पीछे अमेरिकी सीनेटर गेलार्ड नेल्सन रहे हैं। वे पर्यावरण को लेकर चिंतित रहते थे और लोगों में जागरूकता जगाने के लिए कोई राह बनाने के प्रयास करते रहते थे।

The Hindu

21 अप्रैल को संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ ने रचनात्‍मकता एवं नवाचार को समर्पित किया

हर साल 21 अप्रैल को संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ की और से रचनात्‍मकता एवं नवाचार को समर्पित किया गया है। इस दिवस का उद्देश्‍य विश्‍व भर में रचनात्‍मकता की संस्कृति को बनाए रखना है। विश्‍व समुदाय का मानना है कि रचनात्‍मकता ही विश्‍व की सबसे अनमोल निधि है। जिसके सहारे हम अपनी सतत विकास की रफ्तार को बनाए रख सकते हैं। हिंसा और वैमनस्‍य के दौर में रचनात्‍मकता ही है जो विश्‍व को आगे बढ़ने की प्रेरणा दे सकती है। इस रचनात्‍मकता की शुरूआत घर से ही होती है। होनी भी चाहिए। मिट्टी, रंग, कपड़ा, कागज, पेड़ …. वह कुछ भी जिसे हम आप देख सकते हैं, छू सकते हैं रचनात्‍मकता के सांचे में ढल कर और सुंदर हो जाता है। सबसे ज्‍यादा जरूरी है कि बच्‍चों में यह रचनात्‍मकता बनी रहे।

The Hindu

वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को वीर चक्र प्रदान करने की सिफारिश की

पाकिस्तान के साथ हवाई जंग में उसके एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराने की वीरतापूर्ण कार्रवाई के लिए वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को वीर चक्र प्रदान करने की सिफारिश की है। युद्ध के समय योगदान के लिए दिए जाने वाले सम्मानों में यह तीसरा सर्वश्रेष्ठ सम्मान है। बालाकोट एयरस्ट्राइक के एक दिन बाद जब पाक के लड़ाकू विमान भारतीय सीमा में घुस आये थे तो भारत की जवाबी कार्रवाई में अभिनंदन ने पाक के एफ -16 विमान को मार गिराया था। हालांकि उनका प्लेन मिग-21 भी हमले का शिकार हुआ था और वह पाकिस्तान की सीमा पर जा गिरा था। पाक सेना ने उन्हें पकड़ लिया था। परन्तु कुछ दिन बाद उन्हें भारत को सकुशल सौंपा गया था।

परमवीर चक्र और महावीर चक्र के बाद वीर चक्र का स्थान आता है। अभिनंदन को वीर चक्र देने की सिफारिश के अलावा एयरफोर्स ने पाक के बालाकोट में एयरस्ट्राइक करने वाले मिराज 2000 लड़ाकू विमानों के 12 पायलटों को भी वायुसेना मेडल देने की बात कही है।

The Hindu

देश भर के 20 राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश आपातकालीन हेल्पलाइन नंबर ‘112’ से जुड़े

भारत में सभी आपातकालीन जरूरतों के लिए एकीकृत नंबर की व्‍यवस्‍था शुरू हो गई है। अब आप पुलिस, फायर ब्रिगेड जैसी किसी भी आपातकालीन जरूरत के लिए 112 नंबर से मदद मांग सकते हैं। अमेरिका में आपात सेवा का इसी तरह का एक नंबर ‘911’ है। गृह मंत्रालय के मुताबिक देश भर के 20 राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश अब तक आपातकालीन हेल्पलाइन नंबर ‘112’ से जुड़ चुके हैं। इस नंबर पर संकट की घड़ी में कोई भी तत्काल सहायता मांग सकता है।

अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। ‘112’ हेल्पलाइन पुलिस (100), दमकल (101) और महिला हेल्पलाइन(1090) नंबरों का समांतर नंबर है और यह योजना केन्द्र सरकार के ‘निर्भया फंड’ के तहत लागू की जा रही है।

इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम के लिए कुल 321.69 करोड़ रूपया निर्धारित किया गया है जिसमें से निर्भया फंड से पहले ही 278.66 करोड़ रूपया राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को जारी कर दिया गया है। 2012 के कुख्यात दिल्ली सामूहिक बलात्कार मामले के बाद निर्भया फंड गठित किया गया है। केंद्र सरकार ने विशेष रूप से महिलाओं की सुरक्षा और सुरक्षा में सुधार के लिए बनाई गई परियोजनाओं के लिए निर्भया फंड बनाया था।

गृह मंत्रालय की रेपोर्ट के मुताबिक़ जो 20 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश इससे जुड़े हैं उनमें हिमाचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, केरल, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, गुजरात, पुडुचेरी, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, दादर और नगर हवेली, दमन और दीव, जम्मू और कश्मीर और नागालैंड शामिल हैं

The Hindu

EIU ने कैंसर की तैयारी का सूचकांक बनाया

द इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (EIU) ने कैंसर की तैयारी का सूचकांक (ICP) बनाया है।
यह 28 देशों के कैंसर नीति और नियंत्रण से संबंधित डेटा की एक विस्तृत श्रृंखला पर आधारित है। आईसीपी का उद्देश्य राष्ट्रीय प्रयासों की बेंचमार्किंग की अनुमति देना और कैंसर की चुनौती से निपटने के लिए सर्वोत्तम अभ्यास की पहचान करना है।

भारत का ओवरऑल रैंक 64.9 के स्कोर के साथ 19 वां है। भारत कैंसर नीति और नियोजन में 17 वें स्थान पर है, लेकिन इसका अपेक्षाकृत उच्च स्कोर 80.8 है।
भारत का स्कोर काफी हद तक अपने मजबूत कैंसर अनुसंधान और तंबाकू नियंत्रण उपायों से उपजा है। यह अनुसंधान के लिए पहले और ICP में तंबाकू नियंत्रण के लिए तीसरे स्थान पर है।

भारत अपने राष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण योजना के लिए 23 वें स्थान पर है। 40.3 के स्कोर के साथ, भारत की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली केवल सऊदी अरब, केन्या, मिस्र से ऊपर, सूचकांक में 25 वें स्थान पर है। भारत का स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचा सूचकांक देशों में दूसरा सबसे खराब है। कैंसर देखभाल के अपने वितरण में, भारत 61.3 के स्कोर के साथ 20 वें स्थान पर है।
भारत में नैदानिक दिशानिर्देशों का एक उच्च स्तर है, एक श्रेणी जिसमें इसे पहले स्थान पर रखा गया है। भारत टीकाकरण, स्क्रीनिंग और शुरुआती पहचान पर कम पड़ता है।

The Hindu

कतर की राजधानी दोहा में एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 23वें संस्करण का शुभारंभ किया

21 अप्रैल 2019 को कतर की राजधानी दोहा में एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 23वें संस्करण का शुभारंभ किया जा रहा है। चार दिन तक चलने वाले इस आयोजन में 63 देशों के खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। इस टूर्नामेंट में भारतीय खिलाड़ियों ने पहले दिन 2 रजद पदक जीते जबकि पहले दिन कुल पांच पदक हासिल किये। एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2019 में 7 पदकों के साथ बहरीन पहले स्थान पर है जबकि ईरान दूसरे स्थान पर तथा तीसरे स्थान पर फिलीपींस है जिसने एक पदक जीता है।

इस टूर्नामेंट में भारत के लिए पहला पदक अन्नु रानी ने जीता जिन्होंने  60.22 मीटर के जेवलिन थ्रो के साथ पदक हासिल किया।

The Hindu

केरल कृषि विश्वविद्यालय IPR सेल ने नेशनल आईपी अवार्ड 2019 जीता

केरल कृषि विश्वविद्यालय (KAU) के बौद्धिक संपदा अधिकार सेल (IPR सेल) को राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा पुरस्कार 2019 के लिए चुना गया है।
उन्हें पुरस्कार, जिसमें, 1 लाख की पुरस्कार राशि, प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह शामिल हैं, को 26 अप्रैल को विश्व आईपी दिवस पर नई दिल्ली में आयोजित होने वाले एक समारोह में प्रस्तुत किया जाएगा।

केंद्रीय उद्योग और वाणिज्य मंत्रालय के तहत भारतीय बौद्धिक संपदा कार्यालय द्वारा गठित पुरस्कार को पेटेंट, ट्रेडमार्क और भौगोलिक संकेत के क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्तियों और संगठनों से सम्मानित किया जाता है।

The Hindu

यूक्रेन में एक हास्य अभिनेता वोलोदिमीर जेलेंस्की ने राष्ट्रपति का चुनाव जीता

यूक्रेन में एक हास्य अभिनेता वोलोदिमीर जेलेंस्की भारी भरकम वोटों के साथ राष्ट्रपति का चुनाव जीत लिया है। खास बात यह है कि इस हास्य अभिनेता के पास कोई राजनीतिक अनुभव भी नहीं है। जीत के बाद उन्हें अंतरराष्ट्रीय समुदाय से बधाई मिल रही है। सोमवार को जारी तकरीबन पूर्ण आधिकारिक परिणाम के अनुसार हास्य अभिनेता जेलेंस्की (41) ने 73.2 फीसद वोट हासिल कर वर्तमान राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको को हराया है।

The Hindu

वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में हीलियम हाइड्राइड आयन को खोजा

हाल ही में वैज्ञानिकों द्वारा अंतरिक्ष में हीलियम हाइड्राइड आयन को खोज निकाला है, इसके बारे में माना जाता है कि ब्रह्मांड ( Universal ) के विकास क्रम में सबसे पहला अणु यही बना था। इसी ने आगे चलकर आणविक हाइड्रोजन के निर्माण का रास्ता खोला और ब्रह्मांड वर्तमान स्वरूप में आया। वैज्ञानिकों का कहना है कि बिग बैंग के बाद जिस रासायनिक क्रिया को ब्रह्मांड के वर्तमान स्वरूप की नींव माना जाता है, यह उसका पहला प्रमाण है। फ्लाइंग ऑब्जर्वेटरी 'सोफिया' पर स्थापित फार इन्फ्रारेड स्पेक्ट्रोमीटर 'ग्रेट' की मदद से वैज्ञानिकों को एक ग्रह के निकट गैसीय बादल (Nebula) NCG 7027 में इस आयन का प्रमाण मिला है।

The Hindu

अंडमान तथा निकोबार द्वीपसमूह पूर्वी एशियाई पक्षियों की प्रजातियों के प्रथम ठहराव का प्रमुख स्थल बना

Zoological Survey of India  (ZSI) के शोधकर्त्ताओं के अनुसार, 2004 के इंडोनेशियाई सूनामी के बाद से अंडमान तथा निकोबार द्वीपसमूह पूर्वी एशियाई पक्षियों की प्रजातियों के प्रथम ठहराव का प्रमुख स्थल बन गया है।

शोधकर्त्ताओं के अनुसार पीठ पर हरे और भूरे रंग तथा आकार में छोटे हॉर्सफील्ड की कांस्य कोयल (Bronze Cuckoo) (Chalcites basalis) जो ऑस्ट्रेलिया और न्यू गिनी में मूल रूप से पाया जाने वाला पक्षी है, अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में देखा गया है।

The Hindu