22 Apr, 2019

गोआ के कोंकण तट पर भारत और फ्रांस के बीच सबसे बड़ा नौसेना अभ्यास

भारत और फ्रांस के बीच अब तक का सबसे बड़ा नौसेना अभ्यास अगले महीने से गोआ के कोंकण तट पर शुरू होने जा रहा है। 59 हजार करोड़ रुपये के राफेल सौदे को लेकर देश की राजनीति में बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने हैं। मोदी सरकार और कांग्रेस के बीच चल रही इस राजनीतिक घमासान से अलग भारत और फ्रांस रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के लिए यह संयुक्त अभ्यास कर रहे हैं। इस सैन्य अभ्यास में एयरक्राफ्ट कैरियर, विनाशक, पनडुब्बी आदि भी बेड़े में शामिल होंगे।

भारतीय रक्षा सूत्रों का कहना है कि दोनों देश अपने एयरक्राफ्ट कैरियर का इस्तेमाल करेंगे। वरुण अभ्यास के तहत गोवा और करवर में 1 मई से संयुक्त सैन्य अभ्यास शुरू होगा। भारत की तरफ से आईएनएस विक्रमादित्य और मिग-29k फाइटर के साथ एफएनएश चार्ल डि गुएल के साथ राफेल-एम नौसेना जेट और दूसरे युद्धक उपकरणों का प्रयोग अभ्यास के दौरान किया जाएगा।

The Hindu

UAE में भारत के पंजाबी कविता ‘खूनी वैसाखी’ का अंग्रेजी अनुवाद उपलब्ध

संयुक्त अरब अमीरात ( UAE ) में भारत के राजदूत नवदीप सिंह सूरी ने उस पुस्तक के लोर्कापण की प्रशंसा की जिसमें पंजाबी कविता ‘खूनी वैसाखी’ का अंग्रेजी अनुवाद उपलब्ध है। जिसमें 100 साल पुराने जलियांवाला बाग नरसंहार की त्रासदी के बारे में अब वैश्विक पाठक जानेंगे। कविता का अनुवाद सूरी ने किया है।

उनके दादा नानक सिंह एक क्रांतिकारी कवि और उपन्यासकार थे, जो जलियांवाला बाग की घटना में बच गये थे और उन्होंने उस घटना को अपनी कविता में ढाला था।

भारतीय आम लोग ब्रिटिश राज के रॉलेट एक्ट के खिलाफ शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों की भीड़ पर 13 अप्रैल, 1919 को गोलीबारी की थी और इस नरसंहार में एक हज़ार से अधिक लोगों की जान चली गई थी। जलियांवाला बाग कांड के 100 साल पूरे होने पर 13 अप्रैल को नयी दिल्ली में भी पुस्तक का विमोचन किया गया था।

The Hindu

NASA की पहली महिला एस्ट्रोनॉट कैंडिडेट जेरी कॉब का निधन

अमेरिका अंतरिक्ष स्पेस एजेंसी NASA की पहली महिला एस्ट्रोनॉट कैंडिडेट जेरी कॉब का निधन हो गया। वह 88 वर्ष की थीं।
कॉब 1961 में अंतरिक्ष यात्री की परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाली पहली महिला बनी थीं, लेकिन उन्हें कभी अंतरिक्ष यात्रा का अवसर नहीं मिल पाया। कॉब पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रही थी जिनका 18 मार्च को निधन हो गया।

1961 में कॉब समेत 13 महिलाएं कठिन शारीरिक परीक्षा में पास हुईं थीं और उन्हें ‘मरकरी 13’ के रूप में जाना जाता है। कॉब ने अंतरिक्ष यात्रियों के चयन पर सदन की एक विशेष उपसमिति के समक्ष कहा था, ‘हम केवल भेदभाव के बिना देश के अंतरिक्ष भविष्य में जगह चाहती हैं।

The Hindu

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने चेन्नई सुपरकिंग्स को एक रन से हराया

इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन का 39वें मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने चेन्नई सुपरकिंग्स को एक रन से हरा दिया।
एम चिन्नास्वामी स्टेडियम पर खेले गए इस मैच में चेन्नई ने टॉस जीता और गेंदबाजी का फैसला किया। बेंगलुरु ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 7 विकेट पर 161 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई 20 ओवर में 8 विकेट पर 160 रन ही बना पाई।
चेन्नई की ओर से कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 84 रन बनाकर नाबाद रहे। उन्होंने 35 गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया। यह उनका इस सीजन का तीसरा और ओवरऑल 23वां अर्धशतक है।
धोनी ने अंतिम ओवर में 111 मीटर का सबसे लम्बा छक्का लगाया है।

The Hindu

एक्जिम बैंक ने रवांडा में परियोजनाओं के लिए 266.60 मिलियन डॉलर का ऋण दिया

एक्जिम बैंक अर्थात भारतीय आयात-निर्यात बैंक जिसे विदेशों के मध्य बैंकिंग के लिए जाना जाता हैं। इसके द्वारा समय-समय पर दूसरे देशों को ऋण दिया जाता हैं। 
एक्जिम बैंक द्वारा रवांडा में परियोजनाओं के लिए 266.60 मिलियन डॉलर का ऋण दिया गया। 
भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) के अनुसार एक्ज़िम बैंक ने विभिन्न परियोजनाओं के लिए रवांडा को 266.6 $ मिलियन के सॉफ्ट लोन दिए हैं।

परियोजनाओं के लिए धन 3 अलग-अलग हिस्सों में दिया गया है।
परियोजनाओं के नाम इस प्रकार हैं:-
कृषि परियोजनाओं के समर्थन के लिए
विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) के विकास के लिए
रवांडा में सड़क परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए

The Hindu

स्कॉटलैंड क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर कोन डी लैंग का निधन

स्कॉटलैंड क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर कोन डी लैंग का शुक्रवार को निधन हो गया। वह 38 साल के थे और लंबे समय से ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित थे।
साउथ अफ्रीका में जन्में लैंग ने स्कॉटलैंड के लिए कुल 21 इंटरनैशनल मैच खेले। 2015 में उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ टी-20 मुकाबले के साथ अपने देश के लिए डेब्यू किया था।

The Hindu

ICLEI द्वारा 4 रेसिलिएंट सिटीज एशिया-पैसिफिक 2019 कांग्रेस का आयोजन किया

भारत के उपराष्ट्रपति ने 4 के रेजिलिएंट सिटीज एशिया-पैसिफिक (आरसीएपी) कांग्रेस 2019 को संबोधित करते हुए सोलर एनर्जी की कटाई, सौर आवरण की कटाई और जल संरक्षण को बढ़ाने के लिए स्थायी समाधान करने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला।

RCAP 2019 रेसिलिएंट सिटीज एशिया पैसिफिक कांग्रेस की श्रृंखला में 4 वां स्थान है। फरवरी 2015 में बैंकाक, थाईलैंड में आयोजित होने वाले पहले तीन; मार्च 2016 में मलेशिया में और दिसंबर 2017 में वियतनाम में।
इंटरनेशनल काउंसिल फॉर लोकल एनवायरनमेंटल इनिशिएटिव्स (ICLEI) द्वारा 4 रेसिलिएंट सिटीज एशिया-पैसिफिक 2019 कांग्रेस का आयोजन किया जा रहा है - स्थानीय सरकारों के लिए स्थिरता और दक्षिण दिल्ली नगर निगम द्वारा 15 से 17 अप्रैल 2019 को नई दिल्ली में आयोजित किया गया है।

The Hindu

सऊदी अरब में नवम्बर, 2020 में राजधानी रियाद में G-20 शिखर सम्मेलन किया जायेगा

सऊदी अरब ने हाल ही में घोषणा की, कि नवम्बर, 2020 में राजधानी रियाद में G-20 शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जायेगा। गौरतलब है कि यह अरब जगत में आयोजित किया जाने वाला पहला G-20 शिखर सम्मेलन होगा। पिछले वर्ष G-20 शिखर सम्मेलन का आयोजन अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में किया गया था।

जी-20:-
जी-20 सरकारों व केन्द्रीय बैंकों का एक अंतर्राष्ट्रीय फोरम है, इसमें विश्व की सभी बड़ी अर्थव्यवस्थाएं शामिल हैं। जी-20 का गठन 26 सितम्बर, 1999 को किया गया था। इसका उद्देश्य सदस्य देशों को वैश्विक अर्थव्यवस्था के मुख्य बिन्दुओं व समस्याओं पर चर्चा करने के लिए एकत्रित करना है। जी-20 समूह के सदस्य इस प्रकार हैं : अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राज़ील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मेक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम, अमेरिका और यूरोपियन संघ।

भारत:-
भारत 2022 में वार्षिक जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा।2022 में भारत अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ भी मनाएगा। वर्ष 2022 में जी 20 सम्मेलन की मेजबानी इटली को करनी थी।परन्तु मोदी ने भारत को इसकी मेजबानी मिलने के बाद इसके लिए इटली का शुक्रिया अदा किया। साथ ही, उन्होंने जी-20 समूह के नेताओं को 2022 में भारत आने का न्योता दिया।
विश्व की सबसे तेजी से उभरती सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था भारत में आइए। भारत के समृद्ध इतिहास और विविधता को जानिए और भारत के गर्मजोशी भरे आतिथ्य का अनुभव लीजिए।

The Hindu

प्रख्यात वैज्ञानिक एवं कारोबारी यूसुफ हामिद ब्रिटेन के प्रतिष्ठित ‘रॉयल सोसायटी’ से सम्मानित

प्रख्यात वैज्ञानिक एवं कारोबारी यूसुफ हामिद इस साल के ब्रिटेन के प्रतिष्ठित ‘रॉयल सोसायटी’ से सम्मानित हस्तियों में शुमार हैं। ‘रॉयल सोसायटी 2019’ की सूची में शामिल भारतीय मूल के विशेषज्ञों में यूसुफ हामिद का नाम भी शामिल है। दवा कंपनी सिप्ला के 82 वर्षीय चेयरमैन को इस प्रतिष्ठित संस्था का ‘सम्मानित सदस्य’ बनाया गया है। इस संस्था में दुनिया के प्रख्यात वैज्ञानिक के नाम शुमार हैं। ‘रॉयल सोसाइटी’ ब्रिटेन और राष्ट्रमंडल देशों का एक स्वतंत्र वैज्ञानिक अकादमी है, जो विज्ञान के क्षेत्र में उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के लिये समर्पित है।

नोबेल पुरस्कार से सम्मानित और रॉयल सोसाइटी के भारतीय मूल के अध्यक्ष प्रोफेसर वेंकी रामकृष्णन ने कहा, ‘‘रॉयल सोसाइटी का इतिहास विशाल है और यह हमारी सदस्यता ही है जिसने हमें निरंतर जोड़े रखा। साथ ही इसकी विषयवस्तु : ‘विज्ञान का इस्तेमाल मानवता के लाभ के लिये’, से हमारा उद्देश्य साकार बना।’’

रॉयल सोसाइटी यूके और कॉमनवेल्थ की एक स्वतंत्र वैज्ञानिक अकादमी है, जो विज्ञान में उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के लिए कार्य करती है।

The Hindu

CSIR द्वारा जीनोम का अनुक्रमण करने की योजना पर तैयार की गई

वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (Council of Scientific and Industrial Research- CSIR) द्वारा एक परियोजना के अंतर्गत छात्रों के जीनोम का अनुक्रमण किया जाएगा। इस परियोजना का उद्देश्य जीनोमिक्स की ‘उपयोगिता’ (‘Usefulness’ of Genomics) के बारे में छात्रों की अगली पीढ़ी को शिक्षित करना है।

इस परियोजना के तहत देश के लगभग 1,000 ग्रामीण युवाओं का जीनोम सैम्पल एकत्र करके इंडीजिनस जेनेटिक मैपिंग (Indigenous Genetic Mapping) द्वारा इनके जीनोम का अनुक्रमण किया जाएगा। सरकार के नेतृत्व में एक परियोजना चलाई जा रही है जिसमें कम-से-कम 10,000 भारतीय जीनोम को अनुक्रमित किया जाना है, यह परियोजना इसमें सहायक होगी।
वैश्विक स्तर पर कई देशों ने रोगों की पहचान एवं उपचार के लिये अद्वितीय आनुवंशिक लक्षणों तथा संवेदनशीलता आदि का निर्धारण करने हेतु अपने देश के नागरिकों के सैम्पल का जीनोम अनुक्रमण किया है। भारत में पहली बार इतने बड़े स्तर पर विस्तृत अध्ययन के लिये जीनोम सैम्पल एकत्र किया है।

The Hindu