20 Feb, 2019

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मौरेसियो मैक्री के बीच 10 समझौतों पर हस्ताक्षर किए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मौरेसियो मैक्री के बीच नई दिल्ली में बातचीत के बाद 10 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए. दोनों देशों के बीच परमाणु, अंतरिक्ष, आर्थिक, वाणिज्यिक, कृषि, विज्ञान, प्रौद्योगिकी, संस्कृति और पर्यटन क्षेत्र में व्यापक संबंध हैं.

अर्जेंटीना के राष्ट्रपति की भारत यात्रा के दौरान हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापनों / समझौतों की सूची
1:- रक्षा सहयोग पर भारत गणराज्य के रक्षा मंत्रालय और अर्जेंटीना गणराज्य के रक्षा मंत्रालय के बीच समझौता ज्ञापन
2:- पर्यटन के क्षेत्र में सहयोग के लिए भारत गणराज्य और अर्जेंटीना गणराज्य के बीच समझौता ज्ञापन
3:- प्रसार भारती, भारत और संघीय प्रणाली और मीडिया और सार्वजनिक सामग्री, अर्जेंटीना के बीच सहयोग और सहकार्यता पर समझौता ज्ञापन.
4:- सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDSCO), जीओआई और ड्रग्स, फूड एंड मेडिकल टेक्नोलॉजी, अर्जेंटीना के राष्ट्रीय प्रशासन के बीच फार्मास्यूटिकल्स में समझौता ज्ञापन
5:- भारतीय विदेश मंत्रालय और अर्जेंटीना गणराज्य के सेवन और भारतीय गणराज्य के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के बीच अंटार्कटिक सहयोग पर समझौता ज्ञापन.
6:- 2010 में हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापन के भीतर भारत गणराज्य के कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय और अर्जेंटीना गणराज्य के उत्पादन और श्रम मंत्रालय के बीच सहयोग पर कार्य योजना
7:- भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद और भारतीय कृषि उत्पादन मंत्रालय के कृषि उद्योग के राज्य सचिव और अर्जेंटीना गणराज्य के श्रम के बीच 2006 में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर की गयी वर्ष 2019-21 की कार्य योजना.
8:- भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और अर्जेंटीना गणराज्य के आधुनिकीकरण के सरकार सचिव के बीच सूचना और संचार प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में सहयोग पर इरादे की संयुक्त घोषणा
9:- परमाणु ऊर्जा साझेदारी के लिए वैश्विक केंद्र (GCNEP), भारत और CNEA, ऊर्जा सचिवालय, अर्जेंटीना के बीच समझौता ज्ञापन
10:- सूचना और प्रौद्योगिकी के लिए भारत-अर्जेंटीना सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना के लिए समझौता

अर्जेंटीना कैपिटल: ब्यूनस आयर्स, मुद्रा: अर्जेंटीना पेसो.

The Hindu

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी में डीज़ल लोकोमोटिव वर्क्स में डीजल से बिजली में परिवर्तित पहले इंजन को झंडी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 19 फरवरी 2019 को वाराणसी का दौरा किया. उन्होंने यहां कई विकास परियोजनाओं का अनावरण किया. प्रधानमंत्री ने वाराणसी में डीज़ल लोकोमोटिव वर्क्स में डीजल से बिजली में परिवर्तित पहले इंजन को झंडी दिखाकर रवाना किया. उन्होंने लोकोमोटिव का अवलोकन किया और प्रदर्शनी का दौरा भी किया.

प्रधानमंत्री द्वारा वाराणसी में आरंभ परियोजनाएं:-
•    प्रधानमंत्री मोदी ने सड़क, पर्यटन, स्वास्थ्य, पेयजल और आवास की 39 परियोजनाओं का लोकार्पण किया. 

•    प्रधानमंत्री ने श्रीगोर्वधनपुर में श्री गुरु रविदास जन्म स्थान मंदिर में गुरु रविदास जन्म स्थान विकास परियोजना का शिलान्यास किया. 

•    प्रधानमंत्री ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के नवनिर्मित मदन मोहन मालवीय कैंसर केन्द्र का उद्घाटन किया. 

•    यह अस्पताल उत्तर प्रदेश, झारखंड, बिहार, उत्तराखंड सहित नेपाल जैसे पड़ोसी देशों के मरीजों को सस्ता कैंसर उपचार प्रदान करेंगे.

•    प्रधानमंत्री ने होमी भाभा कैंसर अस्पताल लहरतारा का भी उद्घाटन किया. इन दोनों कैंसर अस्पतालों के उद्घाटन के जरिए वाराणसी कैंसर संबंधी बीमारियों के बेहतर उपचार के लिए महत्वपूर्ण केन्द्र बन जाएगा.

•    प्रधानमंत्री ने पहले नये भाभाट्रॉन प्रीसिजन टेक्नोलॉजी (मल्टी लीफ कॉलीमेटर) का लोकार्पण भी किया.

•    पीएम मोदी ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा और वाराणसी घाटों के भित्तिचित्रों का अनावरण किया. उन्होंने विश्वविद्यालय में पीएम-जेएवाई आयुष्मान भारत के लाभार्थियों से बातचीत भी की.

•    इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी स्थित औरे गांव में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया, जिनका उद्देश्य वाराणसी और आस-पास के क्षेत्रों में स्वास्थ्य तथा अन्य सुविधाओं को बढ़ावा देना है. 

•    उन्होंने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाणपत्र प्रदान किया. उन्होंने दिव्यांगजनों को सहयोगी उपकरण भी वितरित किये. 

डीज़ल से बिजली में परावर्तित इंजन
डीजल लोकोमोटिव वर्क्स ने दो डब्ल्यूडीजी-3ए डीजल इंजनों को 10 हजार अश्वशक्ति वाले दोहरे इलेक्ट्रिक डब्ल्यूएजीसी-3ए लोको में परिवर्तित किया है. यह ‘मेक इन इंडिया’ पहल के तहत भारतीय अनुसंधान एवं विकास नवाचार के जरिए किया गया है. परिवर्तित इंजनों से ग्रीन हाऊस गैस उत्सर्जन कम होगा और भारतीय रेल के लिए कारगर इंजन तैयार होंगे.

The Hindu

उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने 48,663 करोड़ रुपये का आर्थिक बजट प्रस्तुत किया

उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 48,663 करोड़ रुपये का आर्थिक बजट विधानसभा में प्रस्तुत किया. महिला उद्यमियों को विशेष प्रोत्साहन योजना के तहत चार करोड़ का प्रावधान किया गया है.

The Hindu

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने 'फ़तेह' नामक पहली ईरानी अर्ध-भारी पनडुब्बी का अनावरण किया

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ईरान के राज्य टीवी पर रिपोर्ट के अनुसार मिसाइलों से लैस होने में सक्षम 'फ़तेह' (फ़ारसी में 'विजेता') नामक  पहली ईरानी अर्ध-भारी पनडुब्बी का अनावरण किया.

इसके पास लगभग 2,000 किमी (1,250 मील) की सतह वाली उप-प्रक्षेपास्त्र मिसाइलें हैं और यह क्षेत्र में इजरायल और अमेरिकी सैन्य ठिकानों तक पहुंचने में सक्षम है.

ईरान राजधानी: तेहरान, मुद्रा: रियाल, राष्ट्रपति: हसन रूहानी

The Hindu

पर्यटन मंत्री के.जे. अलफोंस ने पथानाम्थिथा –गावी-वागामोन-थेक्कडी का उद्घाटन किया

केन्द्रीय पर्यटन मंत्री के.जे. अलफोंस ने केरल के वागामोन में ईको सर्किट : पथानाम्थिथा –गावी-वागामोन-थेक्कडी का उद्घाटन किया गया. यह सर्किट स्वदेश दर्शन योजना का हिस्सा है.

The Hindu

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान को 'निशान-ए-पाकिस्तान' से नवाज़ा

पाकिस्तान ने दो दिवसीय यात्रा पर आए सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'निशान-ए-पाकिस्तान' से नवाज़ा है. पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने उन्हें यह सम्मान दिया.

The Hindu

इंडियन ऑयल ने अमेरिकी तेल खरीदने के लिए ₹10,715 करोड़ का अनुबंध पर हस्ताक्षर किया

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) ने वित्त वर्ष 2019-20 में अमेरिका से रोज़ाना 60,000 बैरल कच्चा तेल खरीदने के लिए 10,715 करोड़ रुपये के वार्षिक अनुबंध पर हस्ताक्षर किया है. गौरतलब है कि अमेरिकी तेल खरीदने के लिए सरकारी क्षेत्र की तेल कंपनी द्वारा किया गया यह पहला वार्षिक अनुबंध है.

The Hindu

मोदी सरकार को 28000 करोड़ रुपये देगी RBI

रिजर्व बैंक ने घोषणा की है कि वह 31 दिसंबर 2018 को समाप्त होने वाले छमाही के लिए केंद्र सरकार को 28,000 करोड़ रुपये का अंतरिम अधिशेष हस्तांतरित करेगा. केंद्रीय बैंक जुलाई-जून वित्तीय वर्ष का पालन करता है और आमतौर पर वार्षिक खातों के लिए अगस्त में लाभांश वितरित करता है और अंतिम रूप देता है.

इस अंतरिम हस्तांतरण से सरकार को चालू वित्त वर्ष में केंद्रीय बैंक से कुल 68,000 करोड़ रुपये प्राप्त होंगे. आरबीआई ने अगस्त 2018 में सरकार को 40,000 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए हैं.

यह सरकार के लिए एक वित्तीय वर्ष में RBI से उच्चतम प्राप्ति होगी, यह वित्त वर्ष 16 में प्राप्त 65,896 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 18 में 40,659 करोड़ रुपये से अधिक होगी. भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर बिमल जालान की अध्यक्षता में एक समिति बनाई गई है जो आरबीआई के आर्थिक पूंजी ढांचे की समीक्षा करने के लिए है.

The Hindu

अर्जेंटीना अंतरराष्ट्रीय सौर संगठन में 72वें सदस्य के रूप में शामिल हुआ

अर्जेंटीना 18 फरवरी 2019 को भारत द्वारा आरंभ की गई पहल अंतरराष्ट्रीय सौर संगठन (आईएसए) में 72वें सदस्य के रूप में शामिल हुआ जिसने फ्रेमवर्क पर हस्ताक्षर किये हैं. अर्जेंटीना ने इस संगठन में शामिल होकर सौर उर्जा के अधिक से अधिक उपयोग करने को लेकर प्रतिबद्धता जताई.

अर्जेंटीना की ओर से अर्जेंटीना के विदेश मंत्री जोर्गे फौरी ने अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के महानिदेशक उपेन्द्र त्रिपाठी की उपस्थिति में फ्रेमवर्क पर हस्ताक्षर किये.

अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन के बारे में:-
•    भारत ने भविष्य की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन की पहल की थी.

•    इसकी शुरुआत संयुक्त रूप से पेरिस में 30 नवम्बर 2015 को संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन के दौरान कोप-21 से अलग भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति ने की थी.

•    फ्रांस, इस अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के सफल होने के लिए 2022 तक 5600 करोड़ रुपये का फंड देगा जिससे सदस्य देशों में अन्य सोलर प्रोजेक्ट शुरू किये जायेंगे.

•    अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन का लक्ष्य 2030 तक 1 ट्रिलियन वाट (1000 गीगावाट) सौर ऊर्जा उत्पादन का है, जिस पर अनुमानतः 1 ट्रिलियन डॉलर का खर्च आयेगा.

•    अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (ISA) पहला अंतरराष्ट्रीय संगठन है जिसका सचिवालय भारत में है.

•    अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन सौर ऊर्जा पर आधारित 121 देशों का एक सहयोग संगठन है.

अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन का प्रमुख उद्देश्य:

•    इस संगठन का मुख्य उद्देश्य सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के मार्ग में आने वाली बाधाओं को दूर करना है.

•    यह सौर ऊर्जा के विकास और उपयोग में तेज़ी लाने की एक नई शुरुआत है ताकि वर्तमान और भावी पीढ़ी को ऊर्जा सुरक्षा प्राप्त हो सके.

•    आईएसए का उद्देश्य सूर्य की बहुतायत ऊर्जा को एकत्रित करने के साथ देशों को एक साथ लाना है.

•    इस संगठन का उद्देश्य दुनिया भर को न केवल साफ ऊर्जा उपलब्ध कराना है बल्कि जलवायु परिवर्तन के खिलाफ एकजुट होकर पर्यावरण को बचाने के लिए प्रयास करना है.

The Hindu

भारत और मोरक्को ने आतंकवाद से लड़ने के लिए संयुक्त कार्य समूह के गठन पर सहमत

भारत और मोरक्को ने आतंकवाद से लड़ने के लिए संयुक्त कार्य समूह के गठन पर भी सहमत हुए जिसमें सीमा पार से आतंकवाद, आतंकी वित्त पोषण और आतंकवादियों की भर्ती से निपटना शामिल है.

The Hindu