19 Jun, 2019

इसरो ने देश के स्कूली छात्रों के लिए पहली बार अपनी प्रयोगशालाएं खोली

भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) ने देश के स्कूली छात्रों के लिए पहली बार अपनी प्रयोगशालाएं खोल दी हैं, दो सप्ताह तक चलने वाले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में देश के कोने-कोने से छात्र हिस्सा ले रहे हैं। पहले बैच 108 में सभी राज्यों के छात्र शामिल हुए। केंद्र शासित प्रदेशों ने बेंगलुरु, श्रीहरिकोटा, तिरुवनंतपुरम में अपनी प्रयोगशालाओं में अपना प्रदर्शन पूरा किया। प्रशिक्षण मॉड्यूल अपने नए युवा वैज्ञानिकों के कार्यक्रम के हिस्से के रूप में तैयार हुआ। युवा विज्ञानिक कार्यक्रम, YUVIKA इसरो का YUVIKA भारत सरकार के विज़न V जय विज्ञान, जय अनूसंदन ’के आसपास तैयार किया गया है। यह पहल मुख्य रूप से अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष विज्ञान और अंतरिक्ष अनुप्रयोगों पर बुनियादी ज्ञान प्रदान करने के उद्देश्य से बच्चों को अंतरिक्ष गतिविधियों के उभरते क्षेत्रों में उनकी रुचि को बढ़ाने के लिए है।
युवा विज्ञानी कार्यक्रम (युविका)
युवा विज्ञानी कार्यक्रम के लिए इसरो देश भर से 100 छात्रों को चुनेगा और उन्हें सैटेलाइट निर्माण की व्यवहारिक प्रक्रिया के बारे में बताया जायेगा।
इस कार्यक्रम के लिए प्रति वर्ष प्रत्येक राज्य/केंद्र शासित प्रदेश से तीन छात्रों को चुना जायेगा, इसमें सीबीएसई, ICSE तथा राज्य पाठ्यक्रम पर आधारित छात्रों को शैक्षणिक प्रदर्शन तथा अन्य गतिविधियों के आधार पर छात्रों का चयन किया जायेगा।
युवा विज्ञानी कार्यक्रम में दो सप्ताह के आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। इसका आयोजन ग्रीष्मकालीन अवकाश के दौरान किया जायेगा। इसमें 8वीं पूरी कर चुके तथा 9वीं कक्षा में अध्ययन कर रहे छात्रों को चुना जायेगा।
इन चुने हुए छात्रों को इसरो के केन्द्रों में ले जाया जायेगा तथा उन्हें वरिष्ठ वैज्ञानिकों के साथ वार्तालाप का अवसर मिलेगा।
इस कार्यक्रम के लिए ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी। यात्रा तथा बोर्डिंग का सारा व्यय इसरो द्वारा उठाया जायेगा।

The Hindu

जोशन्ना चिनप्पा अंतिम आठ में पहुंची

भारत की महिला स्क्वॉश खिलाड़ी जोशना चिनप्पा ने 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के प्री-क्वार्टरफाइनल मुकाबले में शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया की तामिका सैक्सबी को हराकर टूर्नामेंट के अगले दौर प्रवेश किया जबकि दीपिका पल्लीकल को हार का सामना करना पड़ा। एकल वर्ग में 22 मिनट तक चले मुकबाले में जोशना चिनप्पा ने वर्ल्ड रैंकिंग में 57वें स्थान पर मौजूद सैक्सबी को 11-6, 11-8, 11-4 से शिकस्त दी। 32 साल की जोशना कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने के अलावा एशियन गेम्स में सिल्वर मेडल जीत चुकी हैं। इस जीत से जोशना ने भुवनेश्वरी कुमारी के 16 राष्ट्रीय खिताब जीतने के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। भुवनेश्वरी ने 1977 से 1992 के बीच 16 राष्ट्रीय चैंपियनशिप खिताब अपने नाम किए थे। पुरुष वर्ग के फाइनल में शीर्ष वरीय महेश मांगांवकर ने दूसरी वरीय अभिषेक प्रधान को 12-10, 11-7, 11-9 से मात दी।

The Hindu

17 जून : विश्व मरुस्थलीकरण व सूखा रोकथाम दिवस

प्रतिवर्ष 17 जून को विश्व मरुस्थलीकरण व सूखा रोकथाम दिवस मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य लोगों में मरुस्थलीकरण तथा सूखे के बारे में जागरूकता फैलाना है। वर्ष 2019 के लिए इस दिवस की थीम ‘लेट्स ग्रो द फ्यूचर टूगेदर’ है। इस बार इस दिवस के अवसर पर नई दिल्ली में आयोजित होने वाले समारोह में भारत ने सतत् विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने के प्रति प्रतिबद्धता जाहिर की। विश्व मरुस्थलीकरण तथा सूखा रोकथाम दिवस की घोषणा 30 जनवरी, 1995 को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा प्रस्ताव A/RES/49/115 के द्वारा की गयी थी।
भारत सरकार द्वारा मरुस्थलीकरण को रोकने के लिए कई योजनाये चलायी जा रही हैं – पर ड्रॉप मोर क्रॉप, साइल हेल्थ कार्ड स्कीम तथा किसानों के लिए नीम कोटित यूरिया, इससे कृषि योग्य भूमि में विस्तार होगा। पिछले पांच वर्षों में भारत के वन क्षेत्र में वृद्धि हुई है। भारत सरकार किसानों के कल्याण तथा पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध है।

The Hindu

भारत ने 28 अमेरिकी उत्पादों पर अधिक शुल्क लगाया, अमेरिकी सीनेटर ने की ट्रंप की आलोचना

भारत-अमेरिका के बीच गहराते व्‍यापार युद्ध के कारण कैलीफोर्निया के बादाम उत्‍पादकों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। अमेरिका के एक शीर्ष सीनेटर ने भारत के साथ व्यापारिक संबंधों को खराब करने के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर निशाना साधते हुए कहा कि ट्रंप के फैसलों से कैलिफोर्निया के बादाम उत्पादकों को नुकसान हो रहा है, क्योंकि ये हर साल भारत को 65 करोड़ डॉलर से ज्यादा का बादाम निर्यात करते हैं। अमेरिका से आने वाले बादाम, अखरोट समेत 28 उत्पादों पर सीमाशुल्क बढ़ाने की भारत की घोषणा के बाद कैलिफोर्निया की सीनेटर डियेन फीनस्टीन ने ट्रंप की आलोचना की है। भारत ने इस्पात और एल्युमिनियम पर अधिक आयात शुल्क लगाने के अमेरिकी कदम पर जवाबी कार्रवाई की है।
इससे पहले अमेरिका ने भारत पर अधिक शुल्क लगाए थे, अमेरिका ने 2018 में भारत के स्टील और एलुमिनियम पर अत्याधिक शुल्क लगाए थे। हाल ही में अमेरिका ने भारत को जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ़ प्रेफेरेंस को दिए जाने वाले लाभ समाप्त किये थे, इससे भारत के निर्यात को काफी फायदा मिलता था।
28-29 जून को जापान के ओसाका G-20 शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच मुलाकात होगी। इसके अतिरिक्त जून, 2019 तक अमेरिका के राज्य सचिव माइक पोमपेओ भारत की द्विपक्षीय यात्रा पर आयेंगे। इस मौके पर जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ़ प्रेफेरेंस पर चर्चा की जा सकती है।

The Hindu

‘ऑपरेशन सनराइज’ भारत-म्यांमार की सेना ने पूर्वोत्तर के उग्रवादियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की

भारत और म्यांमार की सेनाओं ने 16 मई से तीन सप्ताह तक अपने सीमा क्षेत्रों में समन्वित तरीके से पूर्वोत्तर में सक्रिय उग्रवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई की। मणिपुर, नगालैंड और असम में सक्रिय विभिन्न उग्रवादी समूहों को दोनों देशों की सेना ने निशाना बनाया। इसमें दोनों ने अपने-अपने सीमावर्ती क्षेत्रों में 16 मई से तीन हफ्ते तक साझा अभियान चलाया, जिसे ‘ऑपरेशन सनराइज’ नाम दिया गया। अभियान के दौरान कम से कम छह दर्जन उग्रवादियों को दबोच लिया गया और उनके कई ठिकाने तबाह कर दिए गए। म्यांमार भारत के रणनीतिक पड़ोसी देशों में से एक है और उग्रवाद प्रभावित मणिपुर तथा नगालैंड सहित पूर्वोत्तर राज्यों से इसकी 1,640 किलोमीटर लंबी सीमा लगती है। भारत सीमा रक्षा के लिए दोनों देशों की सेनाओं के बीच गहरे समन्वय पर जोर देता रहा है।
इस ऑपरेशन में भारतीय सेना की ओर से असम राइफल्स ने हिस्सा लिया। इस ऑपरेशन के दौरान दोनों देशों की सेनाओं ने NSCN-K (नेशनल सोशलिस्ट कौंसिल ऑफ़ नागालैंड – खापलांग), कामतापुर लिबरेशन आर्गेनाईजेशन, यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ़ असम (उल्फा) तथा नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ़ बोरोलैंड) इत्यादि के विरुद्ध कार्यवाही की गयी। इस ऑपरेशन सनराइज 1 का आयोजन फरवरी 2019 में भारत-म्यांमार सीमा के साथ किया गया था। इस ऑपरेशन के दौरान भारतीय सेना ने अरकान आर्मी (म्यांमार का आतंकी समूह) के विरुद्ध कार्यवाही की थी। यह आतंकी समूह कलादान मल्टीमोडल ट्रांजिट ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्ट के खिलाफ था।

The Hindu

ग्रेटर नोएडा में इंडिया इंटरनेशनल मेगा ट्रेड फेयर शुरू

इंडिया इंटरनेशनल मेगा ट्रेड फेयर यहां इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट में शुरू हो गया, जो 27 अगस्त तक चलेगा. इस 11 दिवसीय मेले का आयोजन जीएस मार्केटिंग एसोसिएट्स, इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट, ग्रेटर नोएडा और बंगाल चैम्बर ऑफ कॉमर्स ने मिलकर किया है.  भारत सरकार के वाणिज्य मंत्रालय के अंतर्गत आईटीपीओ द्वारा प्रमाणित 11 दिवसीय इंडिया इंटरनेशनल मेगा ट्रेड फेयर पूर्वी भारत के उद्योगपतियों के लिए सबसे बड़ा मंच है जहां वो अपने कंपनियों के उत्पादों को प्रदर्शित करते हैं। आईआईएमटीएफ ट्रेड फेयर पूर्वी भारत की सबसे बड़ी प्रदर्शनी है, इस बार 10 देश, 15 भारतीय राज्य से करीब एक लाख से ज्यादा प्रोडक्ट्स प्रदर्शनी में शामिल किया गया है। पिछले कुछ सालों से इस आईआईएमटीएफ प्रदशनी भारत के ट्रेड फेयर केलिन्डर में अपना महत्वपूर्ण स्थान बनाया है।

The Hindu

इंगेर एंडरसन को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम का कार्यकारी निदेशक नियुक्त किया

डेनमार्क की इंगेर एंडरसन को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम का कार्यकारी निदेशक नियुक्त किया गया। उनका कार्यकाल चार वर्ष का होगा। इंगेर एंडरसन डेनमार्क की अर्थशास्त्री तथा पर्यावरणविद हैं। उनके पास अंतर्राष्ट्रीय विकास अर्थशास्त्र तथा नीति-निर्माण का 30 वर्ष से अधिक का अनुभव है। उन्हें संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम के कार्यकारी निदेशक के पद के लिए संयुक्त राष्ट्र के महासचिव अंतोनियो गुटेरेस द्वारा फरवरी, 2019 में मनोनीत किया गया था। उन्होंने तंज़ानिया के जॉयस एमसुया से कार्यभार संभाला। UNEP संयुक्त राष्ट्र का हिस्सा है, यह संगठन पर्यावरण संरक्षण सम्बन्धी कार्य करता है। जून, 1972 में मानवीय वातावरण पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के परिणामस्वरूप UNEP की स्थापना की गयी थी। इसका मुख्यालय केन्या के नैरोबी में स्थित है। इसके 6 अन्य क्षेत्रीय कार्यालय भी हैं। UNEP पर्यावरण शिक्षा, प्रचार तथा धारित विकास के लिए पर्यावरण के सदुपयोग पर बल इत्यादि कार्य करता है।

The Hindu

नमस्ते थाईलैंड फिल्म फेस्टिवल का समापन नई दिल्ली में हुआ

भारत-थाईलैंड राजनयिक संबंधों के 72 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में रॉयल थाई एम्बेसी की से आयोजन रॉयल थाई एम्बेसी द्वारा 15 मार्च से 17 मार्च 2019 के बीच सेलेक्ट सिटीवॉक, नई दिल्ली में किया गया था। तमाम सांस्कृतिक कार्यक्रमोँ की पेशकश के साथ यहाँ लोगोँ को भारत में थाईलैंड के राजदूत माननीय श्री चुतिनतोरन गोंगसाकडी ने 15 मार्च को किया। नमस्ते थाईलैंड फिल्म फेस्टिवल एक वार्षिक उत्सव है, इसका उद्देश्य थाईलैंड की सांस्कृतिक विविधता तथा विशिष्टता को रेखांकित करना है। इसके द्वारा भारत और थाईलैंड के बीच की दूरी को पाटने का प्रयास किया जाता है। इस उत्सव में थाईलैंड की उन 6 फिल्मों को प्रदर्शित किया गया, जिनके द्वारा थाईलैंड की संस्कृति तथा परंपरा की झलक दिखती है। इस उत्सव में “फ्रेंड जोन”, “2215, होमस्टे”, “द प्रॉमिस”, “द लीजेंड ऑफ़ मुय थाई : 9 सत्रा” तथा “सडनली ट्वेंटी” इत्यादि फिल्मों को प्रदर्शित किया गया।

The Hindu

कबीर जयंती : 17 जून

कबीर जयंती को पूरे भारत में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। मान्यता है कि कबीर दास जी का जन्म संवत्‌ 1455 की ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा को हुआ था। ऐसे में संत कबीर जयंती ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को मनाई जाती है, जो कि इस साल 17 जून, सोमवार को मनाई गई। संत कबीर 15वीं सदी के भारतीय रहस्यवादी कवि और संत थे। वह निर्गुण विचारधारा को मानते थे. इसका मतलब है कि वो ईश्वर के निराकार स्वरुप की पूजा करते थे। वो हिंदू और इस्लाम दोनों के आलोचक थे। उन्होंने यज्ञोपवीत और ख़तना को बेमतलब क़रार दिया। कबीर के शिष्यों ने उनकी विचारधारा पर एक पंथ की शुरुआत की, जिसे कबीर पंथ कहा जाता है। कबीरदास ने स्वयं ग्रन्थ नहीं लिखे। वो केवल मुंह से बोलते थे। मगहर में अब कबीर की समाधि भी है और उनकी मजार भी। कबीरदास जी को हिन्दू और मुस्लिम दोनों ही संप्रदायों में बराबर का सम्मान प्राप्त था। दोनों संप्रदाय के लोग उनके अनुयायी थे।

The Hindu

तिहाड़ जेल में महिला कैदियों के लिए सेमी ओपन जेल खोली जाएगी

तिहाड़ जेल में पुरुष कैदियों के बाद अब यहां बंद महिला कैदियों के लिए भी सेमी ओपन जेल खोली जाएगी। दावा किया गया है कि महिला कैदियों के लिए यह देश की पहली सेमी ओपन जेल होगी, जो तिहाड़ जेल परिसर में खोली जाएगी। तिहाड़ जेल में सजा काट रहीं महिला कैदी अब जेल परिसर में ही खुले आकाश के तले रोज कहीं भी जा सकेंगी। रोजमर्रा के कार्यों को पूरा करने के बाद वह जेल के अंदर ही दैनिक कार्य कर शाम को अपने लिए नियत स्थान पर लौट सकेंगी। तिहाड़ जेल सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यह सेमी ओपन जेल यहां रेजिडेंशल कॉम्प्लेक्स में खोली जाएगी। इसके लिए इस रेजिडेंशल कॉम्प्लेक्स में तमिलनाडु स्पेशल पुलिस (टीएसपी) को दी गई बैरक खाली कराने के लिए बोला गया है, ताकि उस बैरक को महिला कैदियों के लिए सेमी ओपन जेल का रूप दिया जा सके। जिन कैदियों ने अपनी दो तिहाई सजा पूरी कर ली हो और इस दौरान जिनके व्यवहार में सुधार आया है, उनको इस जेल में रखने का प्रावधान किया गया है। कुछ संगीन अपराध को छोड़कर अन्य धाराओं के तहत जेल में बंद महिलाओं के लिए यहां प्रावधान होगा। सभी मानकों को पूरा करने वाली 11 महिला कैदियों को फिलहाल शिफ्ट किया जाएगा।

The Hindu