17 Jun, 2019

साहित्य अकादमी ने बाल साहित्य पुरस्कार 2019 की घोषणा की

साहित्य अकादमी ने बाल साहित्य पुरस्कार 2019 की घोषणा कर दी है. विजेताओं में बांग्ला की चर्चित लेखिका नबनीता देबसेन के साथ हिंदी के गोविंद शर्मा शामिल हैं.अकादमी के अध्यक्ष प्रो. चंद्रशेखर कम्बार की अध्यक्षता में अकादमी के कार्यकारी मंडल की अगरतला में हुई बैठक में यह फैसला किया गया. साहित्‍य अकादमी ने साहित्‍य अकादमी बाल साहित्‍य पुरस्‍कार 2019 के लिए 22 लेखकों तथा युवा पुरस्‍कार 2019 के लिए 23 लेखकों का चयन किया है. अगरतला में अकादमी के अध्‍यक्ष डॉ. चन्‍द्रशेखर काम्‍बर की अध्‍यक्षता में कार्यकारी बोर्ड की बैठक में पुरस्‍कार पाने वाले लोगों के चयन को स्‍वीकृति दी गई.
साहित्‍य अकादमी की शुरुआत भारत सरकार द्वारा 12 मार्च, 1954 को की गई थी। यह अकादमी एक स्वायत्तशासी संस्था के रूप में कार्य करती है। अकादमी प्रत्येक वर्ष अपने द्वारा मान्यता प्रदत्त 24 भाषाओं में साहित्यिक कृतियों के लिये पुरस्कार प्रदान करती है।
वर्तमान में कन्नड़ के मशहूर नाटककार, कवि, उपन्यासकार और ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित लेखक चंद्रशेखर कंबार साहित्य अकादमी के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं।
बाल साहित्य पुरस्कार 2019
यह पुरस्कार पिछले पांच वर्षों में प्रकाशित प्रथम पुस्तक के आधार पर प्रदान किये जाते हैं। बाल साहित्य पुरस्कार 2019 के 22 विजेताओं की सूची निम्नलिखित है :
बाल काव्य पुस्तकें (6) : विजय शर्मा (डोगरी), नाजी मुनौवर (कश्मीरी) तथा संजय चौबे (संस्कृत) इत्यादि।
कथा पुस्तक (5) – गोविन्द शर्मा (हिंदी), मोहम्मद खलील (उर्दू) तथा स्वमिम नसरीन (असमिया) इत्यादि।
पांच अन्य लेखकों को बाल साहित्य में योगदान के लिए सम्मानित किया जायेगा।
लोक कथा (1) – लक्ष्मीनाथ ब्रह्मा (बोडो भाषा)
उपन्यास (3) – चंद्रकांत करादाल्ली (कन्नड़), सलीम सरदार मुल्ला (मराठी) तथा पवन हरचंदपुरी (पंजाबी) ।
इतिहास पुस्तक (1) – देविका करियप्पा (अंग्रेजी)
नाटक (1) – आर.के. सनाहंबी चानू (मणिपुरी) ।
साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार 2019
इस पुरस्कार 35 वर्ष अथवा इससे कम आयु के लेखक को प्रदान किया जाता है, साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार 2019 के 23 विजेताओं की सूची निम्नलिखित है :
काव्य पुस्तकें (11) – अनुज लुगुन (हिंदी), सागर नज़ीर (कश्मीरी), अनुजा अकठूतु (मलयालम) इत्यादि।
लघु कथा (6) – तनुज सोलंकी (अंग्रेजी), अजय सोनी (गुजराती), कीर्ति परिहार (राजस्थानी) इत्यादि।
उपन्यास (5) – मौमिता (बंगाली) तथा सलमान अब्दुस समाद (उर्दू) इत्यादि।
साहित्यिक आलोचना (1) – बिमुग्ध उच्चारण (उड़िया)

The Hindu

भारत की अक्षय पात्र को ग्लोबल चैंपियन अवार्ड

भारत में स्कूलों में बच्चों को मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने वाली अक्षय पात्र योजना को बीबीसी वर्ल्ड सर्विस ग्लोबल चैंपियनशिप अवार्ड मिला है। अक्षय पात्र फाउंडेशन की स्थापना मधु पंडित दास द्वारा वर्ष 2000 में की गयी थी। लगभग 20 वर्ष पहले यह संगठन 1500 बच्चों को प्रतिदिन मध्याह्न भोजन प्रदान करता था। यह भारत में दुनिया की सबसे बड़ी स्कूल भोजन परियोजना में से एक है। स हफ्ते ब्रिस्टल में आयोजित बीबीसी फूड एंड फार्मिंग अवॉर्ड समारोह में अक्षय पात्र को सम्मानित किया गया। यह अवॉर्ड दुनिया में उत्पादन, प्रसंस्करण, उपभोग के तौर-तरीके बदलने वाले व्यक्ति या परियोजना को दिया जाता है। जजों के एक अंतरराष्ट्रीय पैनल ने बेंगलुरु स्थित इस एनजीओ को बीबीसी वर्ल्ड सर्विस ग्लोबल चैंपियन अवॉर्ड के लिए चुना।
बीबीसी वर्ल्ड सर्विस ग्लोबल चैंपियन अवार्ड
इस वर्ष बीबीसी वर्ल्ड सर्विस ग्लोबल चैंपियन अवार्ड  का तीसरा संस्करण है। यह पुरस्कार उन लोगों अथवा प्रोजेक्ट को दिया जाता है जो भोजन उत्पादन, उपभोग तथा प्रसंस्करण के तरीके को परिवर्तित करके इसका उपयोग अच्छे उद्देश्य के लिए करते हैं। इस वर्ष इस पुरस्कार के लिए यूनाइटेड किंगडम की WRAP नामक संस्था तथा Food 4 Education संस्था को भी मनोनीत किया गया था। पिछले वर्ष यह पुरस्कार होज़े आंद्रेस को प्रदान किया गया था, उन्होंने पुएर्तो रिको में मारिया हरिकेन के दौरान 3.4 मिलियन लोगों को भोजन उपलब्ध करवाया था।

The Hindu

ऑस्ट्रेलिया और क़तर को कोपा अमेरिका 2020 के लिए आमंत्रित किया

दक्षिण अमेरिकी फुटबॉल महासंघ, कांमेबोल ने ऑस्ट्रेलिया और कतर को 2020 कोपा अमेरिका में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है। 2020 कोपा अमेरिका, कोलंबिया और अर्जेंटीना द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया जाएगा। कोपा अमेरिका फुटबॉल स्पर्धा का आयोजन दक्षिण अमेरिका की राष्ट्रीय फुटबॉल टीमों के बीच किया जाता है। ब्राज़ील में आयोजित किये जाने वाले कोपा 2019 में क़तर और जापान मेहमान टीमें हैं। क़तर AFC एशियन कप चैंपियन है और वह 2022 फीफा विश्व कप का आयोजन भी करेगा, यह क़तर का कोपा में डेब्यू होगा। ऑस्ट्रेलिया कोपा में तीसरा बार हिस्सा लेगा।
कोपा अमेरिका
यह एक अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिता है, इसमें दक्षिण अमेरिकी फुटबॉल महासंघ की राष्ट्रीय फुटबॉल टीमें हिस्सा लेती हैं। 1990 के बाद इस प्रतिस्पर्धा में एशियाई तथा उत्तर अमेरिकी टीमें भी हिस्सा लेती हैं। इसकी स्थापना 1916 में की गयी थी। इस प्रतियोगिता को उरुग्वे ने सर्वाधिक 15 बार जीता है।

The Hindi

भारत में एफडीआई छह प्रतिशत बढ़कर 42 अरब डॉलर हुआ

वर्ष 2018 में भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) छह प्रतिशत बढ़कर 42 अरब डॉलर पर पहुंच गया। संयुक्तराष्ट्र की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी है। संयुक्तराष्ट्र की अंकटाड द्वारा बुधवार को जारी वैश्विक निवेश रिपोर्ट 2019 में कहा गया कि भारत 2017-18 के दौरान एफडीआई आकर्षित करने वाले शीर्ष 20 देशों में शामिल रहा। पोर्ट के अनुसार पूरे विश्व में एफडीआई 1.5 लाख करोड़ डॉलर के मुकाबले 13% घट कर 1.3 लाख करोड़ डॉलर रह गया। वर्ष 2018 में दक्षिण एशियाई क्षेत्र में आने वाले कुल प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का 77 प्रतिशत हिस्सा भारत को प्राप्त हुआ। रिपोर्ट में कहा गया है कि दक्षिण एशिया में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश की संभावनाएँ मुख्यतः भारत में होने वाले निवेश पर निर्भर करती हैं।

The Hindu

ब्लड डोनर डे : 14 जून

रक्तदान को बढ़ावा देने के लिए हर साल 14 जून को वर्ल्ड ब्लड डोनर डे मनाया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस दिन को रक्तदान दिवस के रूप में घोषित किया गया है। वर्ष 2004 में स्थापित इस कार्यक्रम का उद्देश्य सुरक्षित रक्त रक्त उत्पादों की आवश्यकता के बारे में जागरूकता बढ़ाना और रक्तदाताओं के सुरक्षित जीवन रक्षक रक्त के दान करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करते हुए आभार व्यक्त करना है। आधिकारिक रूप से विश्व स्वास्थ संगठन के 192 राज्य सदस्यों के द्वारा 2005 के मई महिने में 58 विश्व स्वास्थ सम्मेलन में इस आयोजन को करने की घोषणा की गई। साथ ही इस दिन साल 1868 में महान वैज्ञानिक कार्ल लैंडस्‍टीनर का जन्म हुआ था जिन्हें एबीओ  रक्त समूह की खोज के लिए नोबल पुरस्कार प्राप्त हुआ था। वर्तमान में रक्त की गुणवता और सुरक्षा सुनिश्चित करना भी एक अहम चुनौती है जो इस दिन के माध्यम से किया जाता है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानक के तहत भारत में सालाना एक करोड़ यूनिट रक्त की जरूरत है। लेकिन उपलब्ध 75 लाख यूनिट ही हो पाता है। अर्थात क़रीब 25 लाख यूनिट रक्त के अभाव में हर साल सैंकड़ों मरीज़ दम तोड़ देते हैं। रक्तदान करने से शरीर में कोई कमी नहीं आती और कोई भी स्वस्थ व्यक्ति हर तीसरे महीने रक्तदान कर सकता है।

The Hindu

केंद्र सरकार ने रक्षा अन्तरिक्ष अनुसन्धान एजेंसी की स्थापना करने का निर्णय किया

सुरक्षा पर कैबिनेट समिति ने एक नयी एजेंसी “रक्षा अन्तरिक्ष अनुसन्धान” एजेंसी की स्थापना का निर्णय लिया है। यह नयी एजेंसी अन्तरिक्ष युद्धक हथियार प्रणाली व तकनीक विकसित करने का कार्य करेगी। भारत ने अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में ऐतिहासिक कदम उठाते हुए अगले वर्ष छह माह के भीतर सौर मिशन तथा अगले दो-तीन वर्ष में शुक्र मिशन भेजने की घोषणा की है। रक्षा अन्तरिक्ष अनुसन्धान एजेंसी में वैज्ञानिक की एक टीम  होगी जो भारतीय थल सेना, नौसेना तथा वायुसेना के साथ मिलकर कार्य करेगी। यह भारत की अन्तरिक्ष सुरक्षा के लिए तकनीकें विकसित करने का कार्य करेगी। इसका मुख्य उद्देश्य भारतीय सेना को अन्तरिक्ष में युद्ध लड़ने के लिए तैयार करना है। रक्षा अन्तरिक्ष अनुसन्धान एजेंसी, अन्तरिक्ष रक्षा एजेंसी को अनुसन्धान व विकास सम्बन्धी सहायता प्रदान करेगी।
यह कार्य लांच के केवल तीन मिनट बाद ही पूरा कर लिया गया। यह भारत के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। इस मिशन का नेतृत्व रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन द्वारा किया गया। टारगेट सैटेलाइट 300 किलोमीटर की ऊंचाई पर परिक्रमा कर रहा था। यह बेहद जटिल मिशन था, गौरतलब है कि मिसाइल ने तीव्र गति तथा उत्तम सटीकता से अपने लक्ष्य को ध्वस्त किया। भारत अन्तरिक्ष में सैटलाइट को मार गिराने वाले विश्व का चौथा देश है, अब तक केवल अमेरिका, रूस और चीन ही यह कारनामा कर पाए हैं।

The Hindu

वैश्विक शांति सूचकांक में भारत 141वें स्थान पर

वैश्विक शांति सूचकांक में भारत इस साल पांच स्थान फिसल कर 141वें स्थान पर आ गया। इस सूची के अनुसार आइसलैंड सबसे शांत देश बना हुआ है जबकि अफगानिस्तान को सबसे अशांत देश माना गया है। भारत पिछले वर्ष के मुकाबले 5 स्थान नीचे फिसला है।  दक्षिण एशिया में भारत को भूटान (15वाँ), श्रीलंका (72वाँ), नेपाल (76वाँ) और बंगलादेश (101वाँ) को भारत से ऊपर जगह दी मिली है। पाकिस्तान को 151वें और अफगानिस्तान को 163वें स्थान पर रखा गया है। भारत फिलीपींस, जापान, बांग्लादेश, म्यांमार, चीन, इंडोनेशिया, वियतनाम और पाकिस्तान समेत उन देशों की श्रेणी में शामिल हैं जहाँ पर विभिन्न जलवायु खतरे मौजूद हैं। भारत, अमेरिका, चीन, सऊदी अरब और रूस सबसे अधिक सैन्य व्यय वाले देश हैं। इस रिपोर्ट में विश्व की 99.7% जनसँख्या को कवर किया गया है, इस सूचकांक में 23 सूचकांकों के आधार पर देशों का मूल्यांकन किया गया गया।

The Hindu

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारास्वामी ने ऑनलाइन सेवाओं के लिए वेबसाइट लांच की

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारास्वामी ने हाल ही में भवन निर्माण योजना स्वीकृति, भूमि उपयोग परिवर्तन तथा अन्य ऑनलाइन सेवाओं के लिए वेबसाइट लांच की। इस प्रणाली को LBPAS (Online Land and Building Plan Approval System) नाम दिया गया है। इससे पारदर्शिता को बढ़ावा मिलेगा तथा भ्रष्टाचार में कमी आएगी। इस पहल से लोगों के समय की बचत भी होगी। इन वेबसाइटों के द्वारा 14 विभागों को एकीकृत किया गया है। आवेदन से सम्बंधित स्टेटस की जानकारी आवेदक को SMS के द्वारा दी जायेगी।  इस सिस्टम के द्वारा CAD ड्राइंग फाइल का सत्यापन कंप्यूटर द्वारा किया जायेगा। इसमें ऑनलाइन भुगतान की सुविधा उपलब्ध है।

The Hindu

भारतीय फुटबॉल टीम फीफा रैंकिंग में 101वें स्थान पर बरकरार

भारतीय फुटबॉल टीम शुक्रवार को जारी फीफा रैंकिंग में अपने 101वें स्थान पर बरकरार है। भारतीय टीम थाईलैंड में हुए किंग्स कप में तीसरे स्थान पर रही थी। कोच इगोर स्टिमच की टीम अपने से ऊंची रैंकिंग वाली कुराकाओ से 1-3 से हार गई थी जिसके बाद उसने मेजबान थाईलैंड को 1-0 से शिकस्त दी थी। लेकिन इस नतीजे से भारत की रैंकिंग पर कोई असर नहीं पड़ा। ईरान (विश्व रैकिंग में 21) एशियाई रैंकिंग में शीर्ष पर है। उसके बाद जापान (26), दक्षिण कोरिया (37), आस्ट्रेलिया (41) और कतर (55) का नंबर आता है। बेल्जियम विश्व रैंकिंग में 1737 अंक के साथ शीर्ष पर बना हुआ है। उसके बाद फ्रांस, ब्राजील, इंग्लैंड और क्रोएशिया का नंबर आता है।

The Hindu