17 Dec, 2018

सऊदी पत्रकार जमाल खाशोगी को ’टाइम पर्सन ऑफ द ईयर’ के लिए चुना

प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय पत्रिका टाइम मैगज़ीन ने सऊदी पत्रकार जमाल खाशोगी को मरणोपरांत सम्मान देने के लिए 2018 के ’टाइम पर्सन ऑफ द ईयर’ के लिए चुना है।

The Hindu

’कृषि कर्मण’ पुरस्कार के लिए झारखंड़ को चूना गया

केंद्रीय कृषि मंत्रालय से चावल श्रेणी में ’कृषि कर्मण’ पुरस्कार के लिए झारखंड़ का चयन किया गया है। फरवरी 2019 में दिए जाने वाले पुरस्कार में 2 करोड़ रुपये का नकद पुरस्कार और एक उद्धरण है।
झारखंड के मुख्यमंत्रीः रघुबर दास, राज्यपालः द्रौपदी मुर्मू

The Hindu

ईसीओ निवास संहिता 2018 लॉन्च किया

ऊर्जा मंत्रालय ने ईसीओ निवास संहिता 2018 लॉन्च किया है, आवासीय भवनों के लिए ऊर्जा संरक्षण भवन कोड (ईसीबीसी-आर)। संहिता राष्ट्रीय अतिथि संरक्षण दिवस 2018 (14 दिसंबर) के अवसर पर मुख्य अतिथि सूुमित्रा महाजन, सभापति, लोक सभा की उपस्थिति में शुरू की गई थी। 
इसका उद्देश्य घरों, अपार्टमेंट और टाउनशिप के डिजाइन और निर्माण में ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देकर निवासियों और पर्यावरण को लाभान्वित करना है।
राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस हर साल 14 दिसंबर को ऊर्जा दक्षता ब्यूरो के सहयोग से ऊर्जा दक्षता ब्यूरो के सहयोग से ऊर्जा मंत्रालय द्वारा मनाया जाता है।
आर.के. सिंह, ऊर्जा और नई नवीकरणीय ऊर्जा के लिए राज्य मंत्री (आईसी) है।

The Hindu

लेखक अमिताव घोष ज्ञानपीठ अवॉर्ड से सम्मानित

उल्लेखनीय अंग्रेजी लेखक अमिताव घोष को 2018 के लिए ज्ञानपीठ अवॉर्ड से सम्मानित उपन्यासकार, विद्वान और ज्ञानपीठ विजेता प्रतिभा रे की अध्यक्षता में ज्ञानपीठ चयन बोर्ड की एक बैठक में लिया गया था।
घोष, सबसे प्रमुख समकालीन भारतीय लेखकों में से एक , उपन्यासों की एक श्रृंखना जैसे "Shadow Lines," The Glass palace"," The Hungry Tide", और Ibis Trilogy-"Ses of Poppies", और "River of Smoke" के लिए जाने जाते है। वह पुरस्कार के साथ सम्मानित होने वाले पहले अंग्रेज लेखक बन गए है।
भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद चयन बोर्ड के पहले अध्यक्ष थे।
कृष्णा सोबती को हिंदी भाषा में 53वां ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

The Hindu

इजराइल एफडटीएफ का पूर्ण सदस्य बना

इज़राइल फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) का एक पूर्ण सदस्य बन गया है, जो मनी लॉडरिंग, आतंकवादी वित्तपोषण और अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय प्रणली के अन्य खतरों से निपटने के लिए स्थापित एक अंतरराष्ट्रीय निकाय बन गया है।
यहूदी राज्य ने 37 अन्य सदस्यों के साथ अपनी जगह ले ली है, संगठन द्वारा ब्लैकलिस्ट होने के 16 साल बाद दुनिया की 20 अग्रणी औद्योगिक और उभरती अर्थव्यवस्थाओं में से अधिकांश जी 20 सदस्य शामिल है।
एफएटीएफ 1989 में स्थापित एक अंतर सरकारी निकाय है जो लॉडरिंग, आतंकवादी वित्तपोषण और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय प्रणाली की अखंडता के लिए अन्य संबंधित खतरों से लड़ने के लिए स्थापित किया गया है।
इज़राइल कैपिटलः जेरूसलम,
मुद्राः इज़राइल नई शेकेल।

The Hindu

पहला अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन मोहाली में आयोजित किया

सतत जल प्रबंधन’ पर पहला अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन पंजाब के मोहाली में इंडियन स्कूल ऑफ  बिजनेस (ISB)  में आयोजित किया गया। सम्मेलन का आयोजन भाखड़ा ब्यास प्रबधन बोर्ड (BBMB) ने केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय, नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्रालय की राष्ट्रीय जलविद्युत परियोजना के तहत किया है।
अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का विषय ’सतत जल प्रबंधन’ है। सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देववरात ने भाग लिया, वह इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे और यू. पी. सिंह, जल संसाधन के सचिव, सम्मान के अतिथि थे।

The Hindu

भारत में आयु के उदयमों के लिए छूट प्रदान की

बड़े पैमाने पर भारत में स्टार्ट-अप की सूची को किकस्टार्ट करने के लिए एक प्रमुख कदम के रूप में, पूंजी बाजार नियामक सेबी ने नए आयु के उद्यमों के लिए बहुत सी छूट प्रदान की हैं। प्रस्तावित परिवर्तनो में इंस्टीट्यूशनल ट्रेडिंग प्लेटफार्म (ITP) का नाम बदलना शामिल है, यह नियामक इनोवेटर्स ग्रोथ प्लेटफार्म (IGP) जैसी लिस्टिंग के लिए बनाया था।
परिवर्तनों में योग्य संस्थागत निवेशकों की पूर्व-जारी पूंजी की कम से कम 50% की आसश्यकता को दूर करना शामिल है।
SEBI-Securities and Exchange Board of India  
SEBI अध्यक्ष-अजय त्यागी, मुख्यालय- मुंबई।

The Hindu

ऑक्सीटॉसिन के उत्पादन पर प्रतिबंध

ऑक्सीटॉसिन के उत्पादन पर प्रतिबंध लगाने का सरकार का फैसला मनमाना और अनुचित है। दुग्ध उत्पादन बढ़ाने के लिये डेयरी क्षेत्र में इस दवा के दुरुपयोग को रोकने के लिये निजी कंपनियों को इस दवा को बनाने या आपूर्ति करने से रोकने वाले केंद्र सरकार के फैसले के पीछे कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। ऑक्सीटॉसिन एक हार्मोन है जो मस्तिष्क में अवस्थित पिट्यूटरी ग्रंथि से स्रावित होता है।
मनुष्य के व्यावहार पर पडने वाले प्रभाव के कारण ऑक्सीटॉसिन को लव हार्मोन (Love Harmone ) के नाम से भी जाता जाता है।
प्रभाव- इसके उपयोग से पशुओं में प्राकृतिक क्षमता कम होती है। तथा दूध की गुणवता में भी कम आती है। इससे सब्जियों का आकार रातों-रात बढ़ाया जाता है जो कि मानव स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक हैं।

The Hindu

बंगाल की खाड़ी में ’फेठई’ चक्रवात

बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पश्चिम में चक्रवात तूफान ’फेठई’ पिछले 6 घंटे के दौरान 16 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-उत्तर -पश्चिम की ओर बढ़ गया है और 16 दिसम्बर, 2018 को भारतीय समय के अनुसार सुबह 8.30 बजे 11.8 डिग्री उत्तर अक्षांश और 84 डिग्री पूर्व देशांतर, ट्रिंकोमाली (श्रीलंका) से लगभग 460 किलोमीटर उत्तर-पूर्व, चेन्नई (तमिलनाडु) से 430 किलोमीटर पूर्व-दक्षिणपूर्व, मछलीपट्टनम (आंध्र प्रदेश) से 560 किलोमीटर दक्षिण -दक्षिणपूर्व में केन्द्रित हो गया। इसके अगले 24 घंटों के दौरान बेहद तेज होकर उग्र चक्रवाती तूफान में परिवर्तित होने की संभावना है।

The Hindu

श्री नितिन गडकरी ने भारत जल प्रभाव शिखर सम्मेलन 2018 का उद्घाटन किया

केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्री श्री नितिन गडकरी ने भारत जल प्रभाव शिखर सम्मेलन 2018 का उद्घाटन किया है, जिसे नई दिल्ली में स्वच्छ गंगा के राष्ट्रीय मिशन (NMCG) और गंगा नदी बेसिन प्रबंधन और अध्ययन केंद्र (cGanga) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया जा रहा है।
भारत जल प्रभाव शिखर सम्मेलन एक वार्षिक कार्यक्रम है। जिसमें हितधारक देश सबसे बड़ी जल संबंधी समस्याओं के लिए मॉडल समाधानों पर चर्चा, बहस और विकास के लिए मिलकर मिलते हैं। इस वर्ष चर्चाएं गंगा नदी बेसिन के कायाकल्प पर होगी। अभी अक ध्यान 5 राज्योें, उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल, दिल्ली और बिहार पर केन्द्रित है।