11 May, 2019
Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

दीया मिर्जा को बनाया विशेष दूत

संंयुक्त राष्ट्र ने बॅालीवुड अभिनेत्री दीया मिर्जा को अपना विशेष दूत बनाया है। विश्व की 17 अन्य मशहूर हस्तियों को भी इस तरह के कार्य में लगाया गया है। जिन लोगों के चुना गया है उनमें चीन के बड़े उद्योगपति और अली बाबा कंपनी के प्रमुख जैक मा भी शामिल हैं। इसका उद्देश्य सतत विकास लक्ष्यों के लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति को मज़बूत बनाना है। सतत विकास लक्ष्य एडवोकेट उन लोकप्रिय लोगों को बनाया गया है, जो इन लक्ष्यों के बारे में जागरूकता फैलायेंगे और इन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रेरणादायक कार्य करेंगे। मिर्जा भारत के लिये संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम की सद्भावना दूत भी हैं। चीनी बहुराष्ट्रीय कंपनी अलीबाबा समूह के संस्थापक और कार्यकारी अध्यक्ष जैक मा 2016 से एसडीजी पैरोकार हैं।

All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

भारतीय फुटबॉल टीम के कोच पद के लिये रेस

क्रोएशिया की विश्व कप टीम के सदस्य और पूर्व मैनेजर इगोर स्टिमाक का भारतीय फुटबॉल टीम का मुख्य कोच बनना तय है क्योंकि एआईएफएफ की तकनीकी समिति ने गुरुवार को इस शीर्ष पद के लिए उनके नाम की सिफारिश की। ली मिंग सुंग और रोका के अलावा क्रोएशिया के पूर्व राष्ट्रीय कोच इगोर स्टिमाक और स्वीडन के पूर्व कोच हाकेन एरिक्सन भी दौड़ में शामिल हैं।
थापा ने कहा कि उम्मीद्वारों के साक्षात्कार के बाद तकनीकी समिति चयनित उम्मीद्वार का नाम एआईएफएफ कार्यकारी समिति के पास भेजेगी।
उन्होंने कहा, स्काइपी पर इंटरव्यू लिये जाएंगे और उसके पास सबसे उपयुक्त व्यक्ति का नाम महासंघ की कार्यकारी समिति के पास भेजा जाएगा जो इस पर अंतिम फैसला करेगी। स्टीफन कांन्सटेनटाइन के इस्तीफा देने के बाद से यह पद खाली पड़ा हुआ है। उन्होंने भारत के इस साल के शुरू में एशिया कप में लचर प्रदर्शन के बाद अपना पद छोड़ दिया था।

All Exam
The Hindu
1 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

दक्षिण चीन सागर में अमेरिका के साथ भारत, जापान और फिलीपींस ने किया सैन्य अभ्यास

हाल ही में भारत, अमेरिका, जापान और फिलीपींस के युद्धपोतों ने दक्षिण चीन सागर में छह दिवसीय नौसैनिक अभ्यास ‘ग्रुप सेल’ (Group Sail) में हिस्सा लिया। यह अभ्यास 3-9 मई के मध्य आयोजित किया गया था। इसमें भारत की तरफ से आईएनएस कोलकाता और आईएनएस शक्ति शमिल हुए। इसका उद्देश्य देशों के बीच साझेदारी बढ़ाने के साथ ही भाग लेने वाली नौसेनाओं के बीच आपसी समझ को बढ़ावा देना था।
इस सैन्य अभ्यास में अमेरिका का विध्वंसक पोत, भारत के दो युद्धपोत, जापान का एक विमानवाहक पोत और फिलीपींस का गश्ती पोत शामिल हुए। अमेरिकी नौसेना के कमांडर एंड्रयू जे क्लग ने कहा, 'यह प्रोफेशनल क्षेत्र में हमारे सहयोगियों, साझीदारों और मित्र देशों के साथ संबंधों को और गहरा करने का अवसर है।' बता दें कि एक हफ्ते तक चला यह अभ्यास बुधवार को खत्म हुआ।

All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

दिल्ली उच्च न्यायालय का ‘जीरो पेंडेंसी प्रोजेक्ट’

हाल ही में दिल्ली उच्च न्यायालय की प्रायोगिक परियोजना रिपोर्ट प्रस्तुत की गई जिसमें कहा गया कि न्यायालय में लंबित सभी मुकदमों को एक वर्ष में निपटाने हेतु वर्तमान न्यायाधीशों की संख्या में बढ़ोतरी करने की आवश्यकता है। लगातार देरी के कारण न्याय प्रणाली पर लोगों का विश्वास कम हो गया है, इससे लोगों को न्याय के लिए कई दशकों तक इंतज़ार करना पड़ रहा है। पिछले वर्षों में मामले दायर किये जाने में काफी वृद्धि हुई है, जिससे लंबित पड़े मामलों में वृद्धि होना स्वाभाविक है। इसके समाधान के लिए उचित कदम उठाने की आवश्यकता है।
वर्ष 2016 में यह अनुमान लगाया गया कि भारत में न्यायिक देरी और इससे संबंधित रख-रखाव में सकल घरेलू उत्पाद (Gross Domestic Product- GDP) का 1.5% खर्च होता है।
20 मार्च, 2019 तक 5.5 लाख आपराधिक मुकदमे और 1.8 लाख सिविल मुकदमे दिल्ली के अधीनस्थ न्यायालयों में लंबित हैं।

All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

आधुनिक भारतीय कानूनी शिक्षा के जनक प्रोफेसर एनआर माधव मेनन का निधन

पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय के विधि विभाग के छात्रों ने आधुनिक भारतीय कानूनी शिक्षा के जनक प्रोफेसर एनआर माधव मेनन को श्रद्धांजलि दी, जिनका मंगलवार रात निधन हो गया था। उस महान व्यक्तित्व को श्रद्धांजलि देने के लिए सीयूपी विधि विभाग के छात्रों और संकायों ने दो मिनट का मौन रखा। नीलकांत रामकृष्ण माधव मेनन का जन्म 1935 में हुआ था। केरल विश्वविद्यालय से उन्होंने बीएससी और बीएल की डिेग्री हासिल की। इससे बाद 1956 में 21 वर्ष की आयु में ही उन्होंने केरल उच्च न्यायालय में वकील के तौर खुद को पंजीकृत करा लिया था। पंजाब विश्वविद्यालय से एमए और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से एलएलएम और पीएचडी करने के बाद मेनन ने अध्यापन का कार्य शुरू किया और 1960 में एएमयू में फैकल्टी के तौर पर शामिल हुए।

All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

Samsung ने विश्व का सबसे अधिक रेजोल्यूशन वाला इमेज सेंसर लांच किया

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी ने गुरुवार को स्मार्टफोन के लिए 64 मेगापिक्सल के साथ दुनिया के हाईएस्ट-रेजोल्यूशन इमेज सेंसर का खुलासा किया है, जिससे मोबाइल डिवाइसों की आसान गुणवत्ता के साथ बढ़ती मांगों को पूरा किया जा सकेगा। सैमसंग ने दो नए 0.8-माइक्रोमीटर पिक्सेल इमेज सेंसर का अनावरण किया, 64-मेगापिक्सल आईएसओसीईएलएल ब्राइट जीडब्ल्यू1 और 48-मेगापिक्सल आईएसओसीईएलएल ब्राइट जीडब्ल्य2. इसी के साथ सैमसंग ने अपने 0.8-माइक्रोमीटर पिक्सेल इमेज सेंसर लाइनअप का विस्तार किया है, वर्तमान में यह बाजार में सबसे छोटा पिक्सेल साइज है।

All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

ऑस्ट्रेलियाई ने दुनिया की पहली शून्य-अपशिष्ट वाणिज्यिक उड़ान संचालित की

ऑस्ट्रेलियाई उड़ान वाहक, क़न्टास ने सिडनी से एडिलेड तक दुनिया की पहली शून्य-अपशिष्ट वाणिज्यिक उड़ान संचालित की है, यह मिश्र खाद, पुन: उपयोग या पुनर्चक्रण के माध्यम से सभी कचरे का निपटान करती है।
ऑस्ट्रेलियाई एयरलाइन क़न्टास ने 2020 के अंत तक 100 मिलियन एकल-उपयोग वाले प्लास्टिक को खत्म करने की और 2021 के अंत तक एयरलाइन के 75% कचरे को कम करने की भी योजना बनाई है। इ-कचरे के बढ़ते पहाड़ों से निपटने के लिए एक बेहतरीन प्रयास के तहत न्यू साउथ वेल्स विश्वविद्यालय (यूएनएसडब्ल्‍यू) में भारतीय मूल के एक आईआईटी प्रशिक्षित ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिक ने दुनिया की पहली माइक्रोफैक्‍ट्री लॉन्च किया है जो इलेक्ट्रॉनिक कचरे (ई-कचरा) को स्‍मार्टफोन, लैपटॉप जैसे उपयोगी व कीमती सामानों में बदल सकती है।

All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

जर्मनी ने बनाया इलेक्ट्रिक हाईवे

इस समय विश्व के सभी देश वाहनों से निकलने वाले धूएं से पर्यावरण के प्रदूषित होने की समस्या से जुझ रहे है। इसके लिए ऑटोमोबाइल कंपनियां वाहनों के निर्माण के लिए तरह-तरह के टेक्नोलॉजी का भी इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं जर्मनी ने गाड़ियों से फैलने वाले प्रदूषण को कम करने का नया तरीका निकाला है। इस देश में पहली बार छह करोड़ डॉलर (544 करोड़ रुपए) की लागत से ई-हाईवे को तैयार किया जा रहा है। जर्मनी सरकार द्वारा हाल ही में फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट एवं उसके नजदीकी इंडस्ट्रीयल पार्क के बीच 10 किलोमीटर लंबे हाईवे की टेस्टिंग की थी जो सफल रही। इस ई-हाइवे पर खास तौर पर तैयार किए गए ईलेक्ट्रिक ट्रक्स को दौड़ाया गया, जो कि ट्रेन इंजनों की तरह सड़क के ऊपर लगी केबल से बिजली लेकर संचालित होते है। इस सिस्टम को जर्मनी की मशहूर कंपनी सीमेंस द्वारा विकसित किया गया है। हर साल कोई भी ट्रक 1 लाख किलोमीटर का सफर करने पर सामान्य ईंधन के मुकाबले 17 हजार पाउंड (16 लाख) तक की बचत कर सकता है। इस ई-हाईवे के उपर लगे इलेक्ट्रिक केबल से उर्जा प्राप्त कर ट्रक्स मैक्सिमम 90 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ सकते है।

All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

सिंगापुर सरकार ने फेक न्यूज से निपटने के लिए कानून पास किया

फेक न्यूज से निपटने के लिए सिंगापुर सरकार ने बुधवार को एक कानून पास किया। इसके अनुसार अब फेक कंटेंट या न्यूज को ब्लॉक करने या हटाने का आदेश सरकार दे सकती है। वर्कर्स पार्टी के नेता डानियल गोह ने फेसबुक पर बताया कि फेक न्यूज कानून बुधवार रात 72-9 वोट से पारित हुआ। साथ ही सरकार को यह अधिकार भी दिया गया है कि वह इस तरह की सामग्री पर रोक लगाने और हटाने का आदेश दे सकती है। इसका उल्लंघन करने वालों को दस साल तक की जेल की सजा और भारी जुर्माने का सामना करना पड़ सकता है।

All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments

Fliqi added a post in Current Affairs article 1 week ago.

वरिष्ठ फिल्म और टीवी कलाकार मृणाल मुखर्जी का निधन

वरिष्ठ फिल्म और टीवी कलाकार मृणाल मुखर्जी का शहर के एक अस्पताल में निधन हो गया। वह 74 वर्ष के थे। पारिवारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। मुखर्जी लीवर की समस्या के अलावा कैंसर से भी जूझ रहे थे। उन्हें सोमवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और मंगलवार को दोपहर में उनका निधन हो गया। उन्होंने “दुई बोन”, छुट्टी”, “श्रीराम पृथ्वीराज”, “ब्योमकेश” जैसी फिल्मों में कार्य किया। इसके अलावा उन्होंने कई बंगाली टीवी धारावाहिकों में भी कार्य किया। वे बंगाली थिएटर के जाने माने अभिनेता थे। मृणाल मुखर्जी ने कई हिंदी फिल्मों में भी कार्य किया, गुलज़ार की “मौसम” फिल्म में उनकी भूमिका बेहतरीन थी।

All Exam
The Hindu
0 Comments

Comments