10 Sep, 2019

8 सितंबर : अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस

8 सितंबर को 'अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस' मनाया जा रहा है। साल 1966 में यूनेस्को ने शिक्षा के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाने और दुनियाभर के लोगों का ध्‍यान इस तरफ आकर्षित करने के लिए हर साल 8 सितंबर को विश्व साक्षरता दिवस मनाने का निर्णय लिया था। इसका उद्देश्य व्यक्तिगत, सामुदायिक और सामाजिक रूप से साक्षरता के महत्व पर प्रकाश डालना है। इस तरह के दिवसों के माध्यम से पूरी दुनिया में साक्षरता बढ़ाने के लिए काम किया जाता है। लोगों को संदेश दिया जाता है। आज भी विश्व में हजारों की संख्या में लोग निरक्षर है। इस दिवस को मनाने का मुख्य लक्ष्य विश्व में सभी लोगो को शिक्षित करना है। साक्षरता दिवस का उद्देश्य बच्चे, वयस्क, महिलाओं और बूढ़ों को साक्षर बनाना है।  2011 की जनगणना  के अनुसार बिहार सबसे कम साक्षरता दर वाला राज्य है। वर्तमान में बिहार की शिक्षा दर 63.32 प्रतिशत है। इसमें पुरुषों की साक्षरता दर 73 और महिलाओं की 53 फीसदी है। सूबे में रोहतास जिले की साक्षरता दर सबसे बेहतर 73.37 प्रतिशत है, इसके बाद राजधानी पटना 70.68 फीसदी के साथ दूसरे और भोजपुर 70.47 के साथ तीसरे स्थान पर है। संयुक्त राष्ट्र के एक आंकड़े के मुताबिक, दुनियाभर में चार अरब लोग साक्षर हैं और आज भी 1 अरब लोग पढ़-लिख नहीं सकते ।
2018 में जारी एमएचआरडी की शैक्षिक सांख्यिकी रिपोर्ट के मुताबिक, भारत की साक्षरता दर 69.1% है। यह नंबर गांव और शहर दोनों को मिलाकर है। ग्रामीण भारत में साक्षरता दर 64.7 पर्सेंट है जिसमें महिलाओं का लिटरेसी रेट 56.8% तो पुरुषों का 72.3% है। बात करें शहरी भारत की तो इसमें साक्षरता दर 79.5 पर्सेंट है जिसमें 74.8% महिलाएं पढ़ी-लिखी हैं। वहीं, 83.7 पुरुष पढ़े-लिखे हैं।
अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस
17 नवम्बर 1965 को युनेस्को ने 8 सितम्बर को अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस (International Literacy Day) घोषित किया। इसको पहली बार 1966 में मनाया गया। इसका उद्देश्य व्यक्तिगत, सामुदायिक और सामाजिक रूप से साक्षरता के महत्व पर प्रकाश डालना है। यह उत्सव दुनियाभर में मनाया जाता है।

The Hindu

इंडिया रेड ने दलीप ट्रॉफी खिताब जीता

विदर्भ के ऑफ स्पिनर अक्षय वाखरे के 5 विकेट की मदद से इंडिया रेड ने इंडिया ग्रीन को पारी और 38 रन से शिकस्त देकर दलीप ट्रॉफी 2019 खिताब अपनी झोली में डाला। वाखरे ने इंडिया ग्रीन के बल्लेबाजों को अपनी स्पिन के जाल में उलझाया और टीम चौथे दिन दिन दूसरी पारी में 39.5 ओवर में 119 रन पर सिमट गयी. इंडिया रेड की खिताबी जीत सत्र के इस शुरूआती टूर्नामेंट में खेले गये चार मैचों में नतीजा दिलाने वाली रही. इंडिया रेड की ओर से अभिमन्यु ईश्वरन ने 153 रनों की बेहतरीन पारी खेली, उन्हें मैन ऑफ़ द मैच चुना गया।
दलीप ट्राफी
दलीप ट्राफी भारत में खेली जाने वाली प्रथम श्रेणी क्रिकेट प्रतियोगिता है, इसका नाम नवानगर के कुमार श्री दलीपसिंहजी पर रखा गया है। इस टूर्नामेंट की शुरुआत BCCI ने 1961-62 में की थी। आरम्भ में इसमें इंडिया रेड, इंडिया ब्लू और इंडिया ग्रीन तीन टीमें हिस्सा लेती थीं। 2016-17 के बाद इसमें BCCI के सेलेक्टर्स द्वारा चुनी गयी टीमें हिस्सा लेती हैं। इस प्रतियोगिता को गुलाबी गेंद से डे/नाईट फॉर्मेट में खेला जाता है।

The Hindu

थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में व्यापक क्षेत्रीय आर्थिक साझेदारी की 7वीं मंत्री स्तरीय बैठक शुरू हुई

थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में व्यापक क्षेत्रीय आर्थिक साझेदारी (RCEP) की 7वीं मंत्री स्तरीय बैठक का आयोजन किया जा रहा है, यह बैठक 8 से 10 सितम्बर, 2019 तक चलेगी। इस बैठक में 10 आसियान देश तथा 6 FTA (मुक्त व्यापार समझौता) पार्टनर्स हिस्सा ले रहे हैं। बैठक में दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संगठन (आसियान) के सदस्य देशों और आठ पूर्वी एशियाई देशों के वित्त मंत्रियों और द वरिष्ठ नेता शामिल होंगे। आरसीईपी समझौते पर 10 आसियान सदस्य देश (ब्रुनेई, कम्बोडिया, इंडोनिशया, लाओस, मलेशिया, म्यांमा,, फिलिपीन, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम) और आस्ट्रेलिया, चीन, भारत, जापान, कोरिया और न्यूजीलैंड के बीच बातचीत हो रही है। इस व्यापारिक समझौते के लिए वार्ता कंबोडिया में 2012 के आसियान शिखर सम्मेलन में शुरू हुई थी। इसमें वस्तुओं, सेवाओं, निवेश, आर्थिक व तकनीकी सहयोग, बौद्धिक संपदा अधिकार इत्यादि को शामिल किया जायेगा। RCEP के 16 सदस्य देशों की कुल जनसँख्या 3.4 अरब है, इसकी कुल जीडीपी (PPP) 49.5 ट्रिलियन डॉलर है, यह विश्व की कुल जीडीपी का 38% हिस्सा है। आसियान विश्व के सबसे तेज़ी से बढ़ते हुए बाजारों में से एक है, इन देशों में भारत के लिए व्यापार और निवेश के काफी अवसर उपलब्ध हैं। 2017-18 में आसियान भारत का दूसरा सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार था, इस दौरान भारत और आसियान के बीच 81.33 अरब डॉलर का व्यापार हुआ। यह भारत के वैश्विक व्यापार का 10.58% है। RCEP को ट्रांस-पैसिफिक पार्टनरशिप के विकल्प के रूप में भी देखा जा रहा है।
थाईलैंड की राजधानी : बैंकाक
मुद्रा : बाट

The Hindu

मेदवेदेव को हराकर US ओपन चैंपियन बने राफेल नडाल

19 साल की बियांका ने बिग हिटिंग, बिग सर्विंग शैली का आक्रामक खेल दिखाते हुए सेरेना को सीधे सेटों में 6-3, 7-5 से हराकर ना सिर्फ अपना पहला ग्रैंड स्लैम जीता बल्कि सेरेना को उनका रेकॉर्ड 24वां ग्रैंड स्लैम जीतने से रोक दिया। बियांका यूएस ओपन जीतने वाली पहली कनाडाई खिलाड़ी हैं। एंड्रीस्कू ने शुरू से ही सेरेना पर दबाव बनाए रखा और अंत में खिताब अपने नाम करने में कामयाब रहीं। और स्पेनिश स्टार राफेल नडाल ने रूस के दानिल मेदवेदेव को कड़े फाइनल मुकाबले में हराकर यूएस ओपन का खिताब अपने नाम कर लिया। करीब 5 घंटे तक चले मुकाबले में नडाल ने मेदवेदेव को 7-5, 6-3, 5-7, 4-6, 6-4 से शिकस्त देकर अपने करियर का 19वां ग्रैंडस्लैम खिताब अपनी झोली में डाला। दुनिया के नंबर-2 खिलाड़ी नडाल को पांचवें वरीय दानिल मेदवेदेव के खिलाफ जीतने के लिए कड़ा संघर्ष करना पड़ा।
इसके विजेताओं की सूची निम्नलिखित है :
पुरुष एकल वर्ग : राफेल नडाल ने फाइनल में डेनियल मेदवेदेव को 7-5,6-3,5-7,4-6,6-4 से पराजित किया।
महिला एकल वर्ग : बियांका अन्द्रीस्कू ने सेरेना विलियम्स को 6-3, 7-5 से पराजित किया।
पुरुष युगल वर्ग : जुआन सेबेस्टियन केबल और रोबर्ट फराह की जोड़ी ने मार्सेल ग्रानोलर्स और होरासियो ज़ेबालोस को 6-4, 7-5 से हराया।
महिला युगल वर्ग : एलिस मर्तेंस और आर्यना सबलेंका की जोड़ी ने विक्टोरिया अजारेंका और एश्ली बार्टी  की जोड़ी को 7-5, 7-5 से पराजित किया।
मिश्रित युगल वर्ग : बेथानी माटेक सेंड्स और जेमी मर्रे की जोड़ी ने चांग हाओ चिंग और माइकल वीनस की जोड़ी को 6-2, 6-3 से हराया।
यू.एस. ओपन
यह यू.एस. ओपन का 139वां संस्करण है, इसका आयोजन न्यूयॉर्क के USTA बिल्ली जीन किंग नेशनल टेनिस सेंटर में किया गया। यह वर्ष का चौथा तथा अंतिम ग्रैंड स्लैम होता है। इसकी शुरुआत 1881 में हुई थी।

The Hindu

भारत और श्रीलंका के बीच SLINEX 2019 संयुक्त नौसैनिक अभ्यास का आयोजन किया गया

SLINEX (Sri Lanka India Naval Exercise) 2019 संयुक्त नौसैनिक युद्ध अभ्यास का आयोजन भारत और श्रीलंका के बीच 7 सितम्बर से 14 सितम्बर के बीच किया जा रहा है। यह SLINEX का सातवाँ संस्करण है। SLINEX के पहले संस्करण का आयोजन 2005 में किया गया था। SLINEX अभ्यास दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच आपसी ऑपरेशनल इंटरेक्शन का हिस्सा है। इससे दोनों देशों के बीच समुद्री क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा मिलेगा और परस्पर विश्वास में भी वृद्धि होगी। SLINEX 2017 का आयोजन विशाखापट्नम में सितम्बर, 2017 में किया गया था, इसमें श्रीलंकाई नौसेना के दो समुद्री जहाजों ने हिस्सा लिया था।
SLINEX 2019
इस अभ्यास में श्रीलंकाई नौसेना के 323 अधिकारी हिस्सा ले रहे हैं। इस अभ्यास के लिए श्रीलंकाई नौसेना दो ऑफशोर पट्रोल वेसल ‘SLNS सिन्दुराला’ तथा SLNS सुरानिमाला’ को भेजा है, यह दोनों वेसल विशाखापत्तनम में पहुँच गये हैं। इसका उद्देश्य दोनों देशों के बीच समुद्री सहयोग में वृद्धि करना है। इस अभ्यास में संयुक्त प्रशिक्षण, अनुभव का आदान प्रदान, समुद्री खोज व बचाव कार्य, खेल तथा सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा। इस अभ्यास में संयुक्त प्रशिक्षण, समुद्री क्षेत्र की गशत इत्यादि कई गतिविधियां शामिल हैं।

The Hindu

CROSPC ने ‘मिड मानसून-2019 लाइटनिंग’ नामक रिपोर्ट जारी की

Climate Resilient Observing Systems Promotion Council (CROSPC) ने ‘मिड मानसून-2019 लाइटनिंग’ नामक रिपोर्ट जारी की है। CROSPC भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की एक अनुसन्धान संस्था है। इस रिपोर्ट में आसमानी बिजली की घटनाओं को कवर किया गया है, यह भारत में इस प्रकार की पहली रिपोर्ट है। इस रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल से जुलाई के बीच देश में ओडिशा में सर्वाधिक आसमानी बिजली गिरने की घटनाएं सामने आई हैं। इस रिपोर्ट में महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर जबकि कर्नाटक तीसरे स्थान पर है। आसमानी बिजली गिरने के कारण देश में कुल 1,311 मौते हुई हैं, इसमें उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 224 मौतें हुई हैं।
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग
पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अंतर्गत भारत सरकार के मौसम विज्ञान प्रक्षेण, मौसम पूर्वानुमान और भूकम्प विज्ञान का कार्यभार सँभालने वाली भारतीय मौसम विज्ञान विभाग एक सरकारी एजेंसी है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। भारत से लेकर अंटार्कटिका भर में सैकड़ों प्रक्षेण स्टेशन भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के द्वारा वर्त्तमान में चलाये जाते हैं।

The Hindu

भारत में नई दिल्ली में 6वीं भारत-चीन सामरिक आर्थिक वार्ता का आयोजन किया

भारत में नई दिल्ली में 6वीं भारत-चीन सामरिक आर्थिक वार्ता का आयोजन किया जा रहा है। इस वार्षिक वार्ता में भारत की ओर से नीति आयोग तथा चीन की ओर से राष्ट्रीय विकास व सुधार आयोग (NDRC) हिस्सा लेता है। इस वार्षिक सम्मेलन के आयोजन बारी- बारी से नई दिल्ली तथा बीजिंग में किया जाता है। भारत-चीन सामरिक आर्थिक वार्ता की स्थापना वर्ष 2010 में की गयी थी, यह भारत और चीन के बीच द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ावा देने के लिए काफी उपयोगी है। 6वीं भारत-चीन सामरिक आर्थिक वार्ता की अध्यक्षता नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार द्वारा की जायेगी, इस वार्ता में चीन का प्रतिनिधित्व राष्ट्रीय विकास व सुधार आयोग (NDRC) के चेयरमैन द्वारा किया जायेगा। इस वार्ता में दोनों ओर से नीति निर्माण, शिक्षा तथा औद्योगिक क्षेत्र से सम्बंधित विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे। इस वार्ता में अधोसंरचना, उर्जा, संसाधन संरक्षण, अत्याधुनिक तकनीक, फार्मास्यूटिकल इत्यादि पर चर्चा की जायगी।

The Hindu

भारत की स्पिन चौकड़ी पर आधारित पुस्तक ‘फॉर्च्यून टर्नर: द चौकड़ी दैट स्पून इंडिया टू ग्लोरी’, लॉन्च की

भारत की स्पिन चौकड़ी पर आधारित पुस्तक ‘फॉर्च्यून टर्नर: द चौकड़ी दैट स्पून इंडिया टू ग्लोरी’, लॉन्च की गई है। भारत के 4 स्पिन किंवदंतियों: बिशन सिंह बेदी, ईरापल्ली प्रसन्ना, भागवत चंद्रशेखर और एस. वेंकटराघवन पर आधारित पुस्तक को आदित्य भूषण और सचिन बजाज द्वारा लिखा गया है।

The Hindu

केंद्र सरकार देश के 'जल जीवन मिशन' पर अगले पांच वर्षों में 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की है कि केंद्र सरकार देश के हर घर में पीने योग्य पानी पहुंचाने के लिए 'जल जीवन मिशन' पर अगले पांच वर्षों में 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी। जल जीवन मिशन में पानी की बचत और हर घर पर पानी पहुंचाना शामिल है। इस योजना के जरिए 2024 तक हर ग्रामीण घर में नल से पानी मुहैया कराए जाने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि इस पहल का उद्देश्य महान समाजवादी नेता रहे राममनोहर लोहिया के जल और शौचालय मुहैया कराने के सपने को पूरा करना है ताकि महिलाओं की समस्याएं कम हों। नरेन्द्र मोदी ने कहा, '1970 के दशक में राम मनोहर लोहिया ने कहा था कि महिलाओं को दो समस्याओं का सामना करना पड़ता है- शौचालय और जल. सरकारें आती हैं और जाती हैं। लेकिन हमने लोहिया के सपने को पूरा करने का निर्णय किया है। हमने महिलाओं के लिए शौचालय (Toilet) मुहैया कराने और जल आपूर्ति सुनिश्चित करने पर काम किया है।' उन्होंने सूखे से प्रभावित मराठवाड़ा क्षेत्र में महाराष्ट्र सरकार के जल ग्रिड की पहल की भी प्रशंसा की और दावा किया कि योजना के पूरा होते ही हर घर में पानी की उपलब्धता बढ़ जाएगी।

The Hindu