16 Apr, 2019

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मायावती के प्रचार करने पर रोक लगाई

आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में चुनाव आयोग ने सख्त कदम उठाया है। चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती के प्रचार करने पर रोक लगा दी है। चुनाव आयोग की ये रोक 16 अप्रैल से शुरू होगी। जो कि योगी आदित्यनाथ के लिए 72 घंटे और मायावती के लिए 48 घंटे तक लागू रहेगी।
इस दौरान योगी आदित्यनाथ और मायावती ना ही कोई रैली को संबोधित कर पाएंगे, ना ही सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर पाएंगे और ना ही किसी को इंटरव्यू दे पाएंगे। चुनाव आयोग का एक्शन 16 अप्रैल सुबह 6 बजे शुरू होगा।
चुनाव आयोग के फैसले से साफ है कि योगी आदित्यनाथ 16, 17 और 18 अप्रैल को कोई प्रचार नहीं कर पाएंगे। इसके अलावा मायावती 16 और 17 अप्रैल को कोई चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगी।

The Hindu

भारत ने मिसाइल 'निर्भय' का पहला स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित परीक्षण किया

भारत ने ओडिशा में एक परीक्षण रेंज से लंबी दूरी की सब-सोनिक क्रूज मिसाइल 'निर्भय' का पहला स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित परीक्षण किया गया है। यह ऑल वेदर मिसाइल, 1,000 किलोमीटर की मारक क्षमता के साथ है। इसे कई प्लेटफार्मों से लॉन्च किया जा सकता है और इसे पारंपरिक और परमाणु वारहेड ले जाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।
मिसाइल को बेंगलुरु स्थित एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एस्टेब्लिशमेंट (ADE) द्वारा विकसित किया गया है, जो रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) के तहत एक प्रयोगशाला है और इसे कई प्लेटफार्मों से लॉन्च किया जा सकता है।

The Hindu

प्रख्यात हिंदी कवि प्रदीप चौबे का निधन

प्रख्यात हिंदी कवि प्रदीप चौबे का पूर्णहृदरोध के कारण निधन हो गया है। चौबे (70 वर्षीय) प्रसिद्ध हास्य कवि, व्यंग्यकार और कवि शैल चतुर्वेदी के छोटे भाई थे। हास्य के अलावा, वह व्यवस्था पर व्यंग्य टिप्पणियों के लिए प्रसिद्ध थे।

The Hindu

डॉ. ए के सिंह को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड 2019 से सम्मानित किया

डीआरडीओ के निदेशक डॉ. ए के सिंह को चंडीगढ़ विश्वविद्यालय, मोहाली में चौथे एपीजे अब्दुल कलाम इनोवेशन कॉन्क्लेव के दौरान डीआरडीओ ने लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड 2019 से सम्मानित किया है।
उन्होंने विखंडन उत्पादित रेडियोन्यूक्लाइड्स और संक्रमण इमेजिंग के आंतरिक विनिगम में उल्लेखनीय योगदान दिया है. संक्रामक घाव का पता लगाने के लिए, उन्होंने एक "डायग्नोबैक्ट" किट की खोज की और फार्माकोसाइन्टीग्राफी भी पेश किया।
डॉ. जी. सतीश रेड्डी रक्षा अनुसंधान एवं विकास विभाग के सचिव और डीआरडीओ के अध्यक्ष हैं।
डीआरडीओ की स्थापना 1958 में हुई थी।
इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है।

The Hindu

एथलीट गेलेट बुर्का और अब्राह मिलाव ने पेरिस मैराथन का 43 वां संस्करण जीता

इथियोपिया के एथलीट गेलेट बुर्का (महिला दौड़) और अब्राह मिलाव (पुरुषों की दौड़) ने पेरिस मैराथन का 43 वां संस्करण जीत लिया है। उन्होंने फ्रांसीसी राजधानी में समापन रेखा में 60,000 प्रतिभागियों का रिकॉर्ड बनाया। मिलाव ने 2 घंटे:07 मिनट और 50 सेकंड के समय के साथ पुरुषों की दौड़ जीती। बुर्का ने 2 घंटे: 22 मिनट और 48 सेकंड के साथ महिलाओं की की दौड़ जीती।

The Hindu

7-13 अप्रैल 2019 तक विश्व एलर्जी सप्ताह आयोजित किया

विश्व एलर्जी संगठन ने विश्व एलर्जी सप्ताह 2019 को विश्व स्तर पर 7-13 अप्रैल 2019 तक आयोजित किया है। विश्व एलर्जी सप्ताह 2019 का विषय "The Global Problem of Food Allergy" है। प्रत्येक वर्ष, विश्व एलर्जी संगठन एक अलग विषय को संबोधित करता है जिसमें अधिक जागरूकता की आवश्यकता होती है।

The Hindu

फिनलैंड में वामपंथी सोशल डेमोक्रेट्स ने बेहद मामूली अंतर से जीत दर्ज की

फिनलैंड में वामपंथी सोशल डेमोक्रेट्स ने रविवार को हुए आम चुनाव में बेहद मामूली अंतर से जीत दर्ज की। मतगणना पूरी होने के बाद एन्टी रिने (56) के नेतृत्व वाली सोशल डेमोक्रेट्स ने संसद में 40 सीटों पर जीत दर्ज की। वहीं, कट्टरपंथी एमईपी जुस्सी हल्ला-अहो के नेतृत्व वाली घोर दक्षिणपंथी फिन्स पार्टी को 39 सीटें मिलीं। पीटीआई के मुताबिक उसे अपने प्रवासी रोधी अभियान के दौरान काफी समर्थन मिला था, लेकिन वह इसे जीत में तब्दील नहीं कर पाई।

फिनलैंड में हर चार सालों में आम चुनाव होते हैं। पिछली बार हुए चुनावों के बाद यहां की केंद्रीय पार्टी, फिन्स पार्टी और राष्ट्रीय गठबंधन पार्टी ने मिलकर सरकार बनाई थी। साल 2017 में इस गठबंधन में दरार तब आई जब फिन्स पार्टी ने हल्ला-अओ को अपना प्रमुख चुना जिसे प्रधानमंत्री जूहा सिपिला ने स्वीकार नहीं किया। हालांकि तब किसी तरह यह गठबंधन सरकार बच गई थी।लेकिन मार्च में सिपिला सरकार ने स्वास्थ्य और अन्य सुधारों के मुद्दे पर प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया जिसके बाद फिनलैंड में चुनाव होना निश्चित हो गया। समझा जाता है कि यह चुनावी रणनीति के तहत किया गया था।

The Hindu

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने आईसीसी विश्व कप 2019 के लिए 15 सदस्यीय टीम इंडिया का ऐलान किया

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने इंग्लैंड में अगले महीने होने वाले आईसीसी विश्व कप 2019 के लिए 15 सदस्यीय टीम इंडिया का ऐलान कर दिया है। एमएसके प्रसाद की अध्यक्ष्ता वाली बीसीसीआई की राष्ट्रीय चयन समिति ने विराट कोहली की अगुवाई में 15 सदस्यीय टीम इंडिया का ऐलान कर दिया जो आगामी विश्व कप में खिताब वापस भारत लाने के इरादे से मैदान पर उतरेगी। मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने जिस टीम का ऐलान किया है वो वाकई शानदार टीम है जिसमें बेहतरीन संतुलन देखने को मिला है। इस टीम के चयन में ज्यादातर फैसले सही हुए हैं..बस एक फैसला ऐसा है जिस पर सवाल उठना तय हैं। ये सवाल है एक खिलाड़ी से जुड़ा। 

हम यहां बात कर रहे हैं लोकेश राहुल के सेलेक्शन की। पिछले साल से अब तक लगातार ये सिलसिला जारी है। कभी उनको कप्तान विराट कोहली का भरोसा मिलता आया है तो कभी चयनकर्ताओं का लेकिन बार-बार ये खिलाड़ी फ्लॉप साबित हुआ है। तमाम दिग्गजों ने भी भविष्यवाणी की थी कि इस बार की विश्व कप टीम में केएल राहुल जरूर होंगे क्योंकि वो बहुत 'प्रतिभावान' खिलाड़ी हैं..लेकिन हमारा सवाल सीधा सा है, कि आखिर उन्हें किस वजह से विश्व कप टूर्नामेंट जैसी टीम में शामिल किया गया है।

The Hindu

गुरुग्राम में 'वोटर पार्क' का उद्घाटन किया

मतदाता जागरूकता बढ़ाने और लोगों को चुनावी प्रक्रिया के बारे में शिक्षित करने के उद्देश्य से, हरियाणा के गुरुग्राम में अपनी तरह के पहले 'वोटर पार्क' का उद्घाटन किया गया। हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने पार्क का उद्घाटन किया। मतदाता पार्क की स्थापना का उद्देश्य लोकसभा चुनाव में पात्र लोगों को मतदान के लिए प्रेरित करना था ताकि वे देश की प्रगति में योगदान दे सकें।

The Hindu

भारती एयरटेल और फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन ने 'माय सर्कल' नाम से सेफ्टी ऐप लॉन्च किया

भारती एयरटेल और फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन (FLO, शीर्ष व्यापार निकाय FICCI की महिला बिजनेस विंग) ने 'माय सर्कल' नाम से एक कैरियर एग्नोस्टिक सेफ्टी ऐप लॉन्च किया है, जिसे किसी भी संकट या घबराहट की स्थिति में महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।
माई सर्कल ऐप महिलाओं को अंग्रेजी, हिंदी, तमिल, तेलुगु, मलयालम, कन्नड़, मराठी, पंजाबी, बंगला, उर्दू, असमिया, उड़िया, और गुजराती सहित 13 भाषाओं में अपने परिवार या दोस्तों में से किसी पांच को SOS अलर्ट भेजने में सक्षम बनाता है।
फिक्की की स्थापना: 1927, 
मुख्यालय: नई दिल्ली, भारत

The Hindu